November 29, 2020

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बेरोजगारी

बुरे दौर में प्रतियोगी परीक्षाएं, लापरवाह आयोग, सोती सरकारें और बर्बाद होते लाखों अरमान प्रतिवर्ष घटती 'वेकैंसी' और बढ़ती बेरोज़गारी...

बेरोज़गारी लगातार बढ़ रही है, लेकिन इस पर कोई चर्चा नहीं हो रही कि आख़िर नौकरियां कैसे पैदा होंगी।  ...

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Powered By : Webinfomax IT Solutions .
EXCLUSIVE