May 20, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

अचानक आग लग जाए तो क्या करें, किन नंबरों पर करें कॉल? मोबाइल में नेटवर्क न हो तो कैसे मिलेगी मदद… पूरी जानकारी यहां

आपातकालीन नंबर के जरिए आप ऑन द स्पॉट पा फायर ब्रिगेड, मेडिकल और पुलिस की सहायता सकते है. आप जिस राज्य में हैं वहां की भाषा में बात कर सकते हैं या फिर आप हिंदी या अंग्रेजी में मदद मांग सकते हैं.

न्यूज डेस्क 7 अप्रैल |Fire Brigade Emergency Number: आए दिन किसी के मकान-दुकान, दफ्तर या अन्य जगहों पर आग लगने की खबरें आती रहती हैं. कभी किसी गांव में फूस के मकानों में तो कभी बड़े शहरों में मकानों-प्रतिष्ठानों में अगलगी की घटनाएं (Fire Incident) होती रहती हैं. ऐसे में समय पर फायर ब्रिगेड यानी अग्निशमन विभाग (Fire Brigade) की गाड़ी पहुंच जाए तो जान-माल के नुकसान से काफी हद तक बचा जा सकता है. दमकल विभाग की गाड़ी जितनी जल्दी पहुंचेगी, नुकसान उतना ही कम होगा.

 

कई बार हमारे आसपास भी अगलगी की घटनाएं होती हैं. ऐसे में कैसे फायर ब्रिगेड की मदद ली जाए, किस नंबर पर कॉल किया जाए… इन सब बातों की जानकारी होनी जरूरी हो. जानकारी होने पर आप अपने पड़ोसी और जानकारों की भी मदद कर सकते हैं. ये तो आप जानते ही हैं कि पुलिस की मदद के लिए एक इमरजेंसी नंबर होता है- 100. इस नंबर पर डायल करने के बाद आपको पुलिस की मदद मिल जाती है. इसी तरह फायर बिग्रेड के लिए भी एक नंबर होता है- 101. अगलगी की घटना होने पर 101 नंबर पर कॉल करने से फायर ब्रिगेड की टीम पहुंच जाती है.

इमरजेंसी नंबर 112 पर मिलेगी तुरंत मदद

सरकारी वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, देशभर में आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने ‘एक देश एक आपातकालीन नंबर’ (One nation One Emergency Number) 112 लॉन्च किया है. आप देश के किसी भी हिस्से में रहते हों, इस नंबर पर डायल करने से आपातकालीन स्थिति में पुलिस, फायर ब्रिगेड या मेडिकल… आपको हर तरीके की मदद मिलेगी. यह सेवा 24×7 यानी सातों दिन, चौबीसों घंटे काम करेगी. आपातकालीन नंबर 112 के जरिए आप ऑन द स्पॉट पा फायर ब्रिगेड, मेडिकल और पुलिस की सहायता सकते है. आप जिस राज्य में हैं वहां की भाषा में बात कर सकते हैं या फिर आप हिंदी या अंग्रेजी में मदद मांग सकते हैं.

यहां जानिए इमरजेंसी सेवा से जुड़े कुछ जरूरी सवालों के जवाब

क्या है 112 नंबर?

112 एक यूनिवर्सल आपातकालीन नंबर है, जो इमरजेंसी के समय देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लोग कॉल कर सकते हैं और मदद मांग सकते हैं. एक कॉल पर फायर ब्रिगेड, मेडिकल टीम या पुलिस से तत्काल सहायता प्राप्त की जा सकती है. आप अपने मोबाइल नंबर या फिक्स्ड लैंडलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं. इस यूनिवर्सल इमरजेंसी नंबर पर मुफ्त कॉल किया जा सकता है.

100 और 101 नंबर के बावजूद 112 की जरूरत क्यों?

किसी इमरजेंसी की स्थिति में पुलिस की मदद के लिए 100 नंबर पहले से मौजूद है. वहीं आग लगने की स्थिति में 101 नंबर पर और एंबुलेंस के लिए 102 कॉल किया जा सकता है. 100 और 101 नंबर होने के बावजूद सरकार ने 112 नंबर पूरे देश में आपातकालीन नंबर शुरू किया है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ये है कि पूरी दुनिया स्पेशली USA, कनाडा और यूरोप के देशों में आपातकालीन सेवा के लिए 112 नंबर यूज में आता है, जिसके चलते ज्यादातर मोबाइल हैंड सेट में 112 नंबर इमरजेंसी कॉल के लिए फीड होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए ट्राई ने 2015 में 112 नंबर को इमरजेंसी कॉल के लिए अधिकृत किया था.

क्या आपके मोबाइल में फीड है यह नंबर?

112 एक विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त एकल आपातकालीन नंबर है. अधिकांश फोन हैंडसेट प्री-प्रोग्राम्ड 112 के साथ निर्मित होते हैं, जिन्हें आपातकालीन नंबर के रूप में सिंगल की प्रेस (Single Key Press) से डायल किया जाता है. ट्राई ने मई 2015 में भारत में सिंगल इमरजेंसी नंबर के उद्देश्य से यह नंबर आवंटित किया था.

क्या है इमरजेंसी बटन और यह 112 से कैसे जुड़ा है?

भारत सरकार द्वारा प्रकाशित राजपत्र के अनुसार, 1 जनवरी 2017 (1 अप्रैल 2017 से प्रभावी) के बाद बेचे गए सभी स्मार्ट फोन में पैनिक बटन की कार्यक्षमता रहती है. इसे स्मार्टफोन में लगातार 3 बार पावर बटन दबाकर सक्रिय किया जा सकेगा. वहीं किसी फीचर फोन में लगातार 5 या 9 अंक पर प्रेस के साथ सक्रिय हो जाएगी. यह पैनिक बटन आपातकालीन नंबर 112 से सीधे तौर पर जुड़ा है.

क्या 112 टोल फ्री नंबर है?

हां, बिलकुल. आप किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेशों से अपने मोबाइल फोन से आपातकालीन नंबर 112 पर कॉल कर सकते हैं. यहां तक कि मोबाइल ऑपरेटर नेटवर्क उपलब्ध न होने पर भी आप अपने मोबाइल फोन से आपातकालीन नंबर 112 पर कॉल कर सकते हैं.

क्या 112 की जगह 101 पर भी कॉल कर सकते हैं?

आप देश में कहीं भी हों, 112 डायल कर सकते हैं. इस पर डायल करने से भी कॉल वहीं पहुंचता है, जहां 101 डायल करने पर पहुंचेगा. जब आपको फायर ब्रिगेड या एम्बुलेंस की जरूरत होती है, तो आप 112 (या 101) पर कॉल करते हैं. जब आप भारत में पुलिस के लिए आपातकालीन नंबर 112 पर कॉल करते हैं, तो आपको आपातकालीन नंबर 100 या 101 पर भेज दिया जाता है.

 

More Read: हर रोज खेतों में लग रही आग, यह सावधानियां रखकर बचा सकते हैं फसल

बेटी को आपत्तिजनक हालत में देख आग बबूला हुआ पिता, बेटे के साथ मिलकर उतार दिया मौत के घाट

बस्ती: फैक्ट्री वर्कर की आग मे झुलस कर मौत

Basti News: बभनान बाजार में दबंगई- पहले युवक को पीटा फिर बाईक में लगाई आग

Basti News: प्लॉस्टिक कॉम्पलेक्स में फैक्ट्री में लगी भीषण आग; करोड़ो का नुकसान

1 thought on “अचानक आग लग जाए तो क्या करें, किन नंबरों पर करें कॉल? मोबाइल में नेटवर्क न हो तो कैसे मिलेगी मदद… पूरी जानकारी यहां

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.