February 27, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

अमेरिका में 46वें राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडेन ने ली शपथ, बोले- यह लोकतंत्र की जीत है

वाशिंग्टन |जो बाइडन ने बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली। देश के मुख्य न्यायाधीश जॉन राब‌र्ट्स ने बाइडन को शपथ दिलाई। 78 वर्षीय बाइडन ने सौ वर्ष पुरानी बाइबल पर हाथ रखकर शपथ ली। बाइडन अमेरिका के सबसे अधिक उम्र के राष्ट्रपति बनने वाले पहले व्यक्ति हैं। शपथ ग्रहण के बाद बाइडन ने अमेरिकी आवाम को संबोधित किया। उन्‍होंने अपने संबोधन में अमेरिकी लोगों से एकजुट होने की अपील करते हुए अमेरिका को और ताकतवर बनाने की प्रतिबद्धता दोहराई। जानें बाइडन ने अपने संबोधन में क्‍या कहा….

राष्ट्रपति के साथ ही देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस ने भी बुधवार को अपने पद की शपथ ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को बधाई और शुभकामनाएं दी।

शपथ ग्रहण के बाद जो बाइडेन ने कहा, “आज, हम एक उम्मीदवार की नहीं बल्कि लोकतंत्र की जीत का जश्न मना रहे हैं। लोगों और उनकी इच्छाओं को सुना गया है। हमने फिर से सीखा है कि लोकतंत्र अनमोल है, इस समय लोकतंत्र नाजुक है, मेरे मित्र लोकतंत्र प्रबल है।

उन्होंने कहा, “मैं उन ताकतों को जानता हूं जो हमें बांट रहे हैं। वे गहरे और और वास्तविक हैं। लेकिन मैं यह भी जानता हूं कि वे नए नहीं हैं। हमारा इतिहास अमेरिकी आदर्श के बीच एक निरंतर संघर्ष का रहा है। नस्लवाद, राष्ट्रवाद, भय, प्रदर्शन ने हमें अलग करने की कोशिश की है।”

अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश को सुरक्षित रखने और समृद्ध बनाने के अभियान में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के सफल रहने की कामना की और उन्हें शुभकामनाएं दीं। ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी लोगों को अपने साझा मूल्यों के प्रति एकजुट होना चाहिए और पक्षपातपूर्ण नफरत की भावना से ऊपर उठना चाहिए।

हर अमेरिकी की रक्षा करूंगा 

बाइडन ने शपथ लेने के बाद अपने संबोधन में कहा कि यह किसी उम्मीदवार की जीत का जश्न नहीं, लोकतंत्र की जीत का जश्न है। हम मिलकर अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूत बनाएंगे। हम अमेरिका की एकता के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पहले से ज्‍यादा मजबूत होगा। मैं लोकतंत्र और हर अमेरिकी की रक्षा करने का वादा करता हूं।

 

श्वेतों को श्रेष्ठ मानने की मानसिकता को हराएंगे 

बाइडन ने कहा कि आज का दिन अमेरिका का है। यह लोकतंत्र का दिन है। यह इतिहास और आशा का दिन है। आज हम एक उम्मीदवार की जीत का नहीं वरन एक उद्देश्य की… लोकतंत्र के उद्देश्य की जीत का जश्‍न मना रहे हैं। जनता की इच्छाओं को सुना और समझा गया है। हम श्वेतों को श्रेष्ठ मानने की मानसिकता और घरेलू आतंकवाद को हराएंगे। मैं चाहता हूं कि प्रत्येक अमेरिकी हमारी इस लड़ाई में शामिल हो।

बाइडन बोले- यह लोकतंत्र की जीत 

शपथ ग्रहण के बाद बाइडन ने कहा कि यह जश्‍न का समय है। यह अमेरिका का दिन है। यह लोकतंत्र की जीत है। आज नया इतिहास बन रहा है। बाइडन ने कहा कि हमने जिंदगी में ढेर सारी चुनौतियां देखी हैं। अमेरिका और उसकी सेना हर चुनौतियों से मुकाबला करने के लिए तैयार है। मैं पूरे अमेरिका का राष्‍ट्रपति हूं और सबकी तरक्‍की खुशहाली और सबकी रक्षा के लिए हूं।

 

सच्चाई की रक्षा करें 

अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने के बाद जो बाइडन ने अपने पहले संबोधन में कहा कि लोकतंत्र कायम रहा। उन्होंने अमेरिकियों का आह्वान किया कि वे सच्चाई की रक्षा करें और झूठ को पराजित करें। बाइडन ने अमेरिका के वैश्विक गठबंधनों को ठीक करने का संकल्प भी लिया। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अपने संदेश में बाइडन ने कहा कि पिछले चार वर्षों में तहस-नहस कर दिए गए गठबंधनों का वह पुननिर्माण करेंगे।

वैश्विक गठबंधनों को ठीक करने का संकल्प 

बाइडन ने कहा, ‘हम दुनिया में अमेरिका को फिर से अच्छाई की अग्रणी ताकत बना सकते हैं। हम अपने गठबंधनों को ठीक करेंगे और दुनिया से एक बार फिर बात करेंगे, कल की चुनौतियों के लिए नहीं बल्कि आज और आने वाले कल की चुनौतियों के लिए। हम अपने आदर्शो की ताकत से नेतृत्व करेंगे।’

एकजुट होने की अपील की 

पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रंप द्वारा तीन नवंबर, 2020 को हुए चुनावों में उनकी जीत को नकारने का जिक्र करते हुए बाइडन ने कहा, ‘यह अमेरिका का दिन है.. लोकतंत्र कायम रहा है।’ कोरोना वायरस से लड़ाई और नस्ली अन्याय से निपटने की चुनौतियों का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ने कहा, ‘एकजुटता के साथ हम महान काम कर सकते हैं। एकजुटता ही आगे बढ़ने का रास्ता है।’

मैं सभी का राष्‍ट्रपति 

बाइडन ने कहा कि वह सभी अमेरिकियों के राष्ट्रपति हैं जिन्होंने उन्हें वोट दिया है और उनके भी जिन्होंने उन्हें वोट नहीं दिया है। करीब 21 मिनट के भाषण में बाइडन ने चुनौतियों का सामना करने और लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए अमेरिकियों की सराहना की। दो हफ्ते पहले लोकतंत्र से छेड़छाड़ के प्रयास का भी उन्होंने उल्लेख किया। राष्ट्रपति ने उन लोगों की आलोचना की जिन्होंने गुस्से और विभाजन की भावना को भड़काया और राजनीति ताकत और फायदे के लिए झूठ का सहारा लिया।

पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाइडन के अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर लेने पर उन्‍हें बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में पदभार ग्रहण करने पर जो बेडेन को मेरी हार्दिक बधाई। मैं भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए बाइडन के साथ काम करने को उत्‍‍‍‍‍सुक हूं।

 

ट्रंप ने छोड़ा व्हाइट हाउस

डोनाल्ड ट्रंप ने ठीक शपथ ग्रहण से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर आखिरी बार व्हाइट हाउस छोड़ दिया। 74 वर्षीय ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ज्वॉइंट बेस एंड्रयूज जाने के लिए व्हाइट हाउस के लॉन से मरीन वन हेलीकॉप्टर पर सवार हुए। विदाई समारोह के दौरान उपराष्ट्रपति पेंस मौजूद नहीं रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.