January 25, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

अयोध्याःइस सप्ताह सामने आएगा मस्जिद का खाका, गणतंत्र दिवस के दिन रखी जाएगी नींव

अयोध्या|राममंदिर निर्माण (Ram Mandir Nirman) के साथ मस्जिद निर्माण (Masjid Nirman) के भी कार्य में तेजी आती दिख रही है। मस्जिद निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट (Trust) इसकी रूपरेखा तैयार करने में जुटा है। इस सप्ताह मस्जिद का खाका सामने आ जाएगा, तो वहीं गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन इसकी आधारशीला रखी जाएगी। इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (आईआईसीएफ) के सचिव अतहर हुसैन ने इसकी जानकारी दी व कहा कि गणतंत्र दिवस का विशेष महत्व है। 7 दशक पहले 26 जनवरी को ही हमारा संविधान अस्तित्व में आया था। इसलिए 26 जनवरी, 2021 को ही इसकी आधारशीला रखी जाएगी। हमारा संविधान बहुलवाद पर आधारित है जो कि हमारी मस्जिद परियोजना का मूलमंत्र है। अयोध्या की चौहद्दी में बसे गांव धन्नीपुर में मस्जिद निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकार ने यहां पांच एकड़ जमीन मुहैया कराई थी, जिसपर निर्माण शुरू करने की सारी तैयारियां अंतिम चरण में हैं।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या के धन्नीपुर गांव में 5 एकड़ जमीन पर बनने वाली मस्जिद की डिजाइन धरती की तरह गोलाकार होगी। मस्जिद में एक समय में 2 हजार लोग नमाज अदा कर सकेंगे। पूरी मस्जिद को सोलर लाइट से ही पावर सप्लाई मिलेगी। विश्व में सबसे अलग मॉडर्न डिजाइन की इस मस्जिद का डिजाइन जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के आर्किटेक्ट प्रफेसर एसएम अख्तर ने तैयार किया है, जिसे वह शनिवार को रिलीज करेंगे।

यह जानकारी मस्जिद की ट्रस्ट इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के सचिव अतहर हुसैन ने दी है। उन्होंने बताया कि मस्जिद का नाम धन्नीपुर मस्जिद रखा गया है। इसमें सुपर स्पेशिऐलिटी हॉस्पिटल कल्चरल रिसर्च सेंटर लाइब्रेरी और किचन भी बनेगा। मस्जिद परिसर की डिजाइन आर्किटेक्ट रिलीज होने के बाद इसका नक्शा पास करवाने की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। कोशिश की जा रही है कि 26 जनवरी या 15 अगस्त के दिन इसकी नींव रखी जाए।

होगा मल्टी स्पेशिलिटि अस्पताल-
अखतर ने बताया कि परिसर के अंदर मल्टीस्पेशिलिटि अस्पताल बनेगा। यह महज कंक्रीट का ढांचा नहीं होगा बल्कि मस्जिद की वास्तुकला के अनुसार इसे तैयार किया जाएगा। इसमें 300 बेड की स्पेशलिटी इकाई होगी और डॉक्टर मरीजों का निःशुल्क इलाज करेंगे। उन्होंने कहा कि मस्जिद का निर्माण इस तरह से होगा कि इसमें सौर ऊर्जा के निर्माण की भी व्यवस्था की जा सकेगी। साथ ही सामुदायिक रसोई में आसपास के गरीबों के लिए दिन में दो बार भोजन भी परोसा जाएगा।

हुसैन ने कहा कि मॉडर्न डिजाइन की इस मस्जिद में बाबरी ढांचे की कोई झलक तक नहीं दिखाई देगी। धन्नीपुर गांव के ग्राम प्रधान राकेश कुमार यादव ने बताया कि यह इलाका बड़ा धार्मिक पर्यटन केंद्र बनने जा रहा है। इससे क्षेत्र का विकास होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.