January 16, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

इस शहर में 2 माह तक रहेगा अंधेरा, अब 2021 में दिखेगा सूरज;जानिए ..

पृथ्वी की संरचना बाकी ग्रहों से अलग है, इसीलिए पृथ्वी पर जीवन है. लेकिन ये जीवन हर जगह एक जैसा नहीं. कहीं लंबी रातें, तो कहीं लंबे दिन. कहीं बारिश ही बारिश, तो कहीं सूखा ही सूखा. लेकिन अमेरिका के एक हिस्से में सर्दियों की रातें इतनी लंबी होती हैं कि वहां दिन और रात का कुछ पता ही नहीं चलता.

अलास्का: पृथ्वी की संरचना बाकी ग्रहों से अलग है, इसीलिए पृथ्वी पर जीवन है. लेकिन ये जीवन हर जगह एक जैसा नहीं. कहीं लंबी रातें, तो कहीं लंबे दिन. कहीं बारिश ही बारिश, तो कहीं सूखा ही सूखा. लेकिन अमेरिका के एक हिस्से में सर्दियों की रातें इतनी लंबी होती हैं कि वहां दिन और रात का कुछ पता ही नहीं चलता. ऐसा  पृथ्वी के ध्रुवीय इलाकों में होता है, संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) का अलास्का क्षेत्र भी ऐसा ही लंबी रातों के लिए मशहूर है. वहां अब साल 2020 में सूरज नहीं दिखेगा. अब सूरज के दर्शन वहां पर करीब दो महीने बाद ही होंगे.

पोलर नाइट्स की लंबी रात
अलास्का (Alaska) में 18 नवंबर के बाद से ही रात है. यहां के उतकियागविक शहर (Utqiagvik City) में अब 23 जनवरी को स्थानीय समयानुसार दोपहर एक बजे सूर्योदय होगा. सरकार ने आधिकारिक रूप से 65 दिन तक अंधेरा रहने की घोषणा कर दी है. दरअसल, अलास्का ध्रुवीय इलाके में आता है, इसके उतकियागविक शहर (में अब 23 जनवरी को सूर्य नजर आएगा. उत्तरी ध्रुव की तरफ आगे बढ़ते हुए सर्दियों में कुछ जगहों पर दिन इतने छोटे होते हैं कि वहां रोशनी नहीं होती. यहां सर्दियों में दिन में भी अंधेरा रहता है.

महज 4 हजार की आबादी वाला शहर
उतकियागविक शहर की आबादी महज 4 हजार की है. यहां सूरज और रोशनी के बिना मौसम काफी ठंडा रहता है. कई बार यहां तापमान माइनस 10 से 20 डिग्री तक पहुंच जाता है. पोलर नाइट्स की स्थिति अमेरिका में अलास्का के अलावा रूस, स्वीडन, फिनलैंड, ग्रीस और कनाडा के कुछ शहरों में भी होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.