September 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

एयरफोर्स के लड़ाकू विमान उड़ाएगी चाय वाले की बेटी आंचल गंगवार; वायुसेना में बनी महिला फाइटर पायलट

नई दिल्ली: कहते हैं इस दुनियां में कुछ भी नामुमकिन नहीं हैं। यदि आप एक बार मन में ठान लो कि आपको जीवन में कोई विशेष चीज हर हाल में हासिल करना हैं तो इसके बाद आपके रास्ते अपने आप ही बनने लगते हैं। दुनियां में दो तरह के लोग होते हैं। पहले वो जो अपने सपनो के रास्ते में मुसीबतें आने पर हार मान पीछे हट जाते हैं और दुसरे वे जो हर मुसीबत का डट कर सामना करते हैं, उसका हल खोजते हैं और अपनी लगातार कोशिशों के बाद सफलता का स्वाद चखते हैं।

 

नीमच सिटी रोड पर चाय बेचने वाले सुरेश गंगवाल ने सोचा भी नहीं था कि उनकी बेटी आसमान छूएंगी। घर की माली हालत भी ऐसी नहीं कि इतना ऊंचा सपना देख सके लेकिन यह सपना देखा उसकी लाड़ली बेटी आंचल ने। संघर्षों से लड़कर और मुसीबतों से जूझकर आंचल गंगवाल ने पांच लाख विद्यार्थियों के बीच एयरफोर्स कामन एडमिशन टेस्ट की परीक्षा पास की और नीमच ही नहीं बल्कि पूरे मप्र की एक मात्र ऐसी बेटी बनी है जो फाइटर पायलट बनने जा रही है। उसकी इस सफलता में पिता सुरेश गंगवाल और मां बबीता गंगवाल का उम्रभर संघर्ष शामिल है, जिन्होंने तमाम परेशानियां झेली लेकिन बेटी को आसमान पर पहुंचा दिया। अब अांचल लड़ाकू विमान उड़ाएंगी और भारत माता की रक्षा के लिए आसमान में तैनातरहेगी।

आंचल गंगवाल की मेहनत,लगन, जोश और जज्बे को सलाम ..।
– नीमच की मेट्रो स्कूल से स्कूलिंग

– गर्ल्स कॉलेज से बीएचएसी

– प्रथम प्रयास मे एमपी पुलिस में सब इंस्पेक्टर

– फिर मंदसौर में लेबर इंस्पेक्टर

– और अब एयर फोर्स में फाइटर पायलट

 

images(22)

 

आज हम आपको ऐसी ही एक लड़की से मिलाने जा रहे हैं जिसने लाइफ में अपनी परिस्थितियों को कभी भी अपने सपनो के आड़े नहीं आने दिया। फिर नतीजा ऐसा निकला कि हर कोई बस देखता ही रह गया। इनसे मिलिए। ये हैं मध्य प्रदेश के नीमच जिले की रहने वाली 24 वर्षीय आँचल गंगवाल। आँचल का हाल ही में इंडियन एयरफोर्स में बतौर पायलट के पद पर सिलेक्शन हुआ हैं। लेकिन आँचल के लिए ये मुकाम हासिल करना इतना आसन नहीं था। वजह थी उनके घर की कमजोर आर्थिक स्थिति। दरअसल आँचल के पिता सुरेश गंगवाल मध्य प्रदेश के नीमच जिले में चाय की एक दूकान चलाते हैं। ऐसे में उनकी कमाई इतनी नहीं हैं कि वे अपने तीनो बच्चों को सुख सुविधाओं के साथ अच्छे लेवल की एजुकेशन दे सके। हालाँकि सुरेश ने पहले से ही ये सोच रखा था कि वो अपनी आर्थिक स्थिति को अपने तीनो बच्चों की पढ़ाई के आड़े नहीं आने देंगे। इसके लिए उन्होंने बच्चों की शिक्षा के लिए लोन लिया और उन्हें अपने सपनो को पूरा करने में मदद की।

vlcsnap-2007-02-27-20h47m30s248

 

इधर सुरेश की बेटी आँचल ने भी अपने पिता की इस मेहनत को व्यर्थ नहीं जाने दिया और सफलता का ऐसा मुकाम हासिल किया कि आज उसके पिता का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। आँचल बताती हैं कि उसके लिए एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट पास करना कोई आसन काम नहीं था। पिछले कुछ सालों में आँचल ने बोर्ड द्वारा आयोजित पांच इंटरव्यू में भाग लिया था लेकिन उन्हें नाकामी हासिल हुई थी। लेकिन आँचल ने हर नहीं मानी और छठी बार में उन्हें सफलता हाथ लगी।

images(23)

 

बताते चले कि एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में करीब 6 लाख लोगो ने हिस्सा लिया था। इसमें से देशभर में सिर्फ 22 अभियार्थियों का सिलेक्शन हुआ हैं। आँचल गंगवाल उन्ही में से एक हैं। आँचल मध्य प्रदेश की अकेली ऐसी अभ्यार्थी हैं जिसका सिलेक्शन वायु सेना में हुआ हैं।

IMG_20190905_225731_398

 

 

आँचल बताती हैं कि उसे वायु सेना में भर्ती होने की प्रेरणा साल 2013 में आई उत्तराखंड आपदा में काम कर रहे भारतीय वायु सेना के बचाव के काम से मिली। इस घटना के बाद आँचल इतनी ज्यादा प्रभावित हुई कि उन्होंने वायु सेना में जाने का मन बना लिया। उस दौरान आँचल 12वीं में पढ़ती थी। उधर बेटी की कामयाबी के बाद पिता सुरेश गंगवाल बेहद खुश हैं। वे कहते हैं कि मेरी बेटी की वजह से मेरी नामदेव चाय की दूकान का नाम और भी बढ़ गया हैं। लोग जब भी यहाँ आकर मुझे बधाई देते हैं तो मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो जाता हैं। आँचल ने ये साबित कर दिया कि बेटियां भी बाप का नाम रोशन कर सकती हैं।

IMG_20190906_094743

ये भी पढ़ें ⬇️

जज बनी ऑटो चलाने वाले की बेटी..गर्व से चौड़ा हो गया पिता का सीना

घूस देकर भी जिस विभाग में नौकरी नहीं मिली, आज उसी विभाग के हैं मंत्री…

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले के रहने वाले अरविंद कुमार वर्मा बने बक्सर के जिलाधिकारी

बड़े साहब के हस्ताक्षर के लिए भटकते पिता को देख बेटी ने खाई थी कसम, बनी IAS

महामना रामस्वरूप वर्मा के मानवता वादी विचार से IAS बनें- दिव्यांशु पटेल

1 thought on “एयरफोर्स के लड़ाकू विमान उड़ाएगी चाय वाले की बेटी आंचल गंगवार; वायुसेना में बनी महिला फाइटर पायलट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.