June 29, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

‘ऑपरेशन बालाकोट’ में अगर भारतीय वायुसेना के पास होता राफेल, पढ़ें इस खतरनाक विमान की 10 खासियतें

पाकिस्तान से संचालित हो रहे आतंकी शिविरों पर ‘ऑपरेशन बालाकोट’ के तहत कार्रवाई और बाद की घटनाओं के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि देश राफेल की कमी महसूस कर रहा है और अगर भारत के पास ये लड़ाकू विमान होते तो कुछ और ही बात होती. उन्होंने एक मीडिया हाउस के कार्यक्रम में कहा ‘राफेल पर स्वार्थनीति और अब राजनीति के कारण देश का बहुत नुकसान हुआ. राफेल की कमी आज देश ने महसूस की है. आज हिंदुस्तान एक स्वर में कह रहा है कि अगर हमारे पास राफेल होता, तो क्या होता?’ मोदी ने कहा कि वह विपक्षियों को बताना चाहते हैं कि वे उनकी आलोचना करने और उनकी गलतियां निकालने के लिए स्वतंत्र हैं पर उन्हें देश के सुरक्षा हितों को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिये. गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल सौदे को लेकर मोदी पर हमला बोलते रहे हैं. उनका आरोप है कि इस सौदे में भ्रष्टाचार और अपनी पसंद का ही ध्यान रखा गया. सरकार इन आरोपों से इनकार करती रही है. हालांकि प्रधानमंत्री के बयान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से भी एक ट्वीट कर पलटवार किया गया है. उन्होंने कहा, ‘प्रिय प्रधानमंत्री, क्या आपको कोई शर्म नहीं है? अपने 30 हजार करोड़ रुपये चोरी करके अनिल अंबानी को दिये. राफेल विमानों के आने में देरी के लिए सिर्फ आप जिम्मेदार हैं.’

 

राफेल को लेकर बयानबाजी और घोटाले के आरोपों के बीच सवाल यह भी उठता है कि सही में अगर यह फाइटर प्लेन होता तो नतीजा कुछ और होता. आखिर इस विमान में ऐसी क्या खास बात है जो पाकिस्तान के पास मौजूद एफ-16 जैसे विमानों से ज्यादा खतरनाक है.

राफेल विमान की खासियत

यह दो इंजन वाला लड़ाकू विमान है, जो भारतीय वायुसेना की पहली पसंद है. हर तरह के मिशन में भेजा जा सकता.
अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगा राफेल, प्लेन के साथ मेटेअर मिसाइल भी है
150 किमी की बियोंड विज़ुअल रेंज मिसाइल, हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल
स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किमी, हथियारों के स्टोरेज के लिए 6 महीने की गारंटी
अधिकतम स्पीड 2,130 किमी/घंटा और 3700 किमी. तक मारक क्षमता
1 मिनट में 60,000 फ़ुट की ऊंचाई और 4.5 जेनरेशन के ट्विन इंजन से लैस
24,500 किलो उठाकर ले जाने में सक्षम और 60 घंटे अतिरिक्त उड़ान की गारंटी
75% विमान हमेशा ऑपरेशन के लिए तैयार हैं, परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है
अफगानिस्तान और लीबिया में अपनी ताकत का प्रदर्शन कर चुका है
भारतीय वायुसेना के हिसाब से फेरबदल किए गए हैं.

इस विमान की जो सबसे बड़ी खासियत है वह यह है कि ‘150 किमी की बियॉंड विज़ुअल रेंज मिसाइल दागने की क्षमता. यानी इस विमान से 150 किलोमीटर दूर से निशाना साधा जा सकता है. मतलब अगर बालकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर निशाना साधना है तो शायद पाकिस्तान की सीमा में घुसने की जरूरत नहीं पड़ती.

 

ये भी पढ़ें 👇

अकेला राफेल ही दो एफ़-16 पर पड़ेगा भारी, जाने इस लड़ाकू विमान की खासियत

अमेठी में बनेगी दुनिया की सबसे खतरनाक असॉल्ट AK-203 राइफल, जानिए- खासियत

एनालिसिस/ पाक ने विमानों को भारतीय सीमा में भेजकर साबित किया- वह आतंकियों को बचाना चाहता है

भारत के खिलाफ F-16 का इस्तेमाल कर फंसा पाकिस्तान, अमेरिका ने लिया ये बड़ा एक्शन

‘उड़ान’ योजना ने बदल दी देश की तस्वीर, घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी

 

1 thought on “‘ऑपरेशन बालाकोट’ में अगर भारतीय वायुसेना के पास होता राफेल, पढ़ें इस खतरनाक विमान की 10 खासियतें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.