October 27, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

कमजोर नहीं, हर क्षेत्र में नेतृत्व व समाज का मार्गदर्शन कर सकती है मातृ शक्ति; सीएम योगी

गोरखपुर |CM Yogi Adityanath in Navmi Pujan: यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने वैश्विक महामारी के बाद पहली बार आयोजित हुए कन्‍या पूजन में नौ कन्‍याओं के पांव पखारे. उनका तिलक कर उन्‍हें लाल चुनरी ओढ़ाई और 111 कन्‍याओं और 111 बटुकों को भोज भी कराया. कन्‍या पूजन को योगी आदित्‍यनाथ ने गोरक्षपीठाधीश्‍वर की भूमिका का निर्वहन किया. पूरे नौ दिन के व्रत और पूजा-पाठ के साथ उन्‍होंने नवमी के दिन कन्‍याओं का पूजन किया और उनके पांव धोकर माला और चुनरी पहनाई. इसके साथ ही उन्‍होंने कन्‍याओं को उपहार भी दिए. कन्‍या पूजन को उन्‍होंने नारी सशक्तिकरण से जोड़ते हुए कहा कि ये आयोजन हमें नारी सशक्तिकरण की ओर बढ़ने की प्रेरणा देता है. उन्‍होंने कन्‍याओं के लिए सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं की ओर भी ध्‍यान आ‍कर्षित किया. इस दौरान वहां बच्‍चों और उनके माता-पिता ने भी मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ खूब सेल्‍फी ली.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नवरात्रि के पावन अवसर पर मातृ शक्ति के प्रति श्रद्धा और सम्मान के भाव को व्यावहारिक जीवन में उतारने की आवश्यकता है। हम सभी बहन, बेटियों के प्रति पवित्रता और देवी स्वरूपा का यह भाव रखें तो समाज में उनके खिलाफ यदा-कदा होने वाली घटनाओं पर भी नियंत्रण पाया जा सकता है। मातृ शक्ति हरेक क्षेत्र में नेतृत्व दे सकती है, समाज का मार्गदर्शन कर सकती है।

शारदीय नवरात्रि की नवमी तिथि पर गोरखनाथ मंदिर में कन्या पूजन के बाद मुख्यमंत्री योगी मीडियाकर्मियों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि चराचर जगत की हर शक्ति का आधार आदि शक्ति या मातृ शक्ति है। इसी भावना के साथ नवरात्रि के नौ दिन के अनुष्ठान के पूर्ण होने पर आज कन्या पूजन का कार्यक्रम संपन्न हुआ है। नवरात्रि की सनातन परंपरा में हर भारतीय मातृ शक्ति के प्रति अपने भाव को प्रदर्शित करता है। मातृ शक्ति सबला है।

सीएम ने कहा कि महिलाओं, बहन, बेटियों की शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वावलंबन के अभियान को हमें मिलकर आगे बढ़ाना होगा। केंद्र व राज्य सरकार इस दिशा में चैतन्य है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का जो अभियान प्रारंभ किया है, उससे बेटियों का बचाव भी होगा और उनकी शिक्षा का मार्ग भी प्रशस्त होगा। एक बेटी जब बचेगी, एक बेटी जब पढ़ेगी तो वह समाज में सम्मान और स्वावलंबन के मार्ग का अनुसरण स्वयं कर लेगी। मातृ वंदना और महिला सुरक्षा के कार्यक्रम भी इसी अभियान को नई दिशा दे रहे हैं।

10 लाख से अधिक बालिकाओं को कन्या सुमंगला योजना का मिला लाभ

मुख्यमंत्री ने कहा कि बालिकाओं की शिक्षा, सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए प्रदेश सरकार ने भी कई कार्यक्रम चलाए हैं। इन्हीं में से एक कन्या सुमंगला योजना से प्रदेश में 10 लाख से अधिक बालिकाएं आच्छादित हो चुकी हैं। इस योजना में बालिका के जन्म से लेकर उसकी स्नातक तक की पढ़ाई के लिए 15 हजार रुपये का पैकेज चरणवार दिया जाता है।
इसी प्रकार मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत करीब पौने दो लाख उन कन्याओं का विवाह संपन्न कराया गया है, जिनके अभिभावकों की स्थिति विवाह का खर्च उठाने की नहीं है। मिशन शक्ति का भाव भी बहन, बेटियों की शिक्षा, सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन का है। यह मिशन समाज के हर व्यक्ति को इस अभियान से जोड़ने और उन्हें प्रेरित करने का है।

जहां सत्य, न्याय व धर्म वहां विजय सुनिश्चित
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी प्रदेशवासियों को नवरात्रि और विजयादशमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि विजयादशमी सत्य, न्याय व धर्म पथ से विजय का प्रतीक है। यह पर्व भगवान राम की रावण पर विजय की विजय की याद दिलाकर हमें धर्म और सत्य के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि जब हम सत्य, न्याय व धर्म के रास्ते का अनुसरण करते हैं तो बड़ी से बड़ी ताकतें भी परास्त हो जाती हैं। जहां भी धर्म के साथ सत्य व न्याय होगा, वहां विजय सुनिश्चित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.