June 29, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

गरीब नेताओं का देश है हमारा ?

गरीब नेताओं का देश भारत😂

भारत दावा कर रहा है कि वह आर्थिक #महाशक्ति है, लेकिन लगता तो यह है कि वह गरीबी का महाद्वीप है। भारत एक गरीब देश है यह आजकल नेता अपनी संपत्ति की जो घोषणाएं कर रहे हैं, वे इसका सबसे अच्छा और पुख्ता प्रमाण हैं। हमें शर्म से गड़ जाना चाहिए कि हमार देश के नेता इतने गरीब हैं, हमार देश के सांसद विधायक गरीब हैं, मंत्री गरीब हैं और जो गरीब हैं वे तो गरीब हैं ही। पहले हमार देश का उद्योग व्यापार जगत अमीर होता था, सुना है मंदी के बाद वह भी गरीब हो गया है। दुनिया में वैसे भी इस वक्त गरीबी का बोलबाला है, लेकिन फिर भी यह सोचने का विषय है कि अगर हमार नेता गरीबी में रह रहे हैं तो दूसरों को गरीबी से कैसे उबारंगे? यह ठीक है कि हमार देश की परंपरा गरीबी के महिमा मंडन की है लेकिन इतनी गरीबी तो उस युग में भी नहीं रही, जब गरीबी की महिमा का गायन किया जाता था। जो लोकसभा चुनाव में खड़े हो रहे हैं, उनमें से किसी नेता की संपत्ति की घोषणा पढ़ी जाए तो कुछ ऐसे होती है। कुल संपत्ति 21,16,758-50, शब्दों में इक्कीस लाख सोलह हाार सात सौ अट्ठावन रु. पचास पैसे सिर्फ। संपत्ति का ब्योरा दिल्ली, मुंबई, बंगलूर और कोलकाता में बंगले (साझा संपत्ति)- कुल कीमत तीन लाख सतरह हाार पांच सौ बारह केवल। देश के बारह शहरों में 17 मॉल्स और 14 सिनेमाघरों में भागीदारी- कुल कीमत चार लाख सैंतीस हाार सात सौ ग्यारह केवल। तीन राज्यों में 150 एकड़ जमीन कुल कीमत सात लाख 75 हजार रु. केवल। करीब तीन किलो गहने (नकली धातु के) एक हाार छह सौ पंद्रह रु. केवल। एक साइकिल आठ सौ रुपए केवल।

दो स्विस बैंकों में खाते कुल रकम आठ हाार छह सौ पंद्रह रुपये केवल। बारह भारतीय बैंकों में खाते कुल रकम पंद्रह हाार तीन सौ पंद्रह रुपए केवल। नकदी- सात सौ अठहत्तर रुपए पचास पैसे केवल। बीस जोड़ी कपड़े- मांगे हुए।ड्ढr बारह जोड़ी जूते- चुराए हुए। अब आप ही बताइए कितने गरीब हैं हमार नेता जी।

2 thoughts on “गरीब नेताओं का देश है हमारा ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.