June 25, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

चालान कटने का टूटा सारा रिकॉर्ड, ओडिशा में ट्रक मालिक को लगा साढ़े 6 लाख का जुर्माना

देश में 1 सितंबर 2019 से नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू किया गया है. इस एक्ट के तहत देश में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर भारी भरकम (Penalty) चालान काटे जा रहे हैं. इस कड़ी में ओडिशा (Odisha) में अब तक का सबसे बड़ा चालान कटा है. संबलपुर में ट्रैफिक नियम तोड़ने पर एक ट्रक के मालिक को 6,53,100 रुपये का जुर्माना लगाया गया है. ओडिशा परिवहन विभाग (Odisha Transport Department) ने 7 ट्रैफिक नियमों को तोड़ने के तहत ट्रक मालिक को चालान की रसीद सौंपी है.

Mv-Act-truck-highest-fine-i
रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रक मालिक शैलेश शंकर लाल गुप्ता पिछले 5 साल से टैक्स (Tax) नहीं भर रहे थे. साथ ही लगातार ट्रैफिक के कई निमयों का उल्लघंन भी किए जा रहे थे. परिवहन विभाग (Odisha Transport Department) ने जनरल ऑफेंस, हवा और ध्वनि प्रदूषण के मानकों का उल्लंघन, इंश्योरेंस समेत कई ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के तहत कुल मिलाकर 6 लाख 53 हजार 100 रुपये का जुर्माना लगाया है.

 
दिल्ली में कटा था 2 लाख का चालान:-

इससे पहले दिल्ली में यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माना लगाया था. यहां एक ट्रक का 2 लाख रुपये का चालान काटा गया था. राम किशन नाम के ट्रक ड्राइवर को जुर्माने के तौर पर दो लाख पांच सौ रुपये का जुर्माना देना पड़ा. HR 69C7473 हरियाणा नंबर के ट्रक 43 टन रेत भरा हुआ था, जब कि लोडिंग सिर्फ 25 टन ही परमिटेड हैं. इसलिए 18 टन ज्यादा बताकर चालान किया गया. वहीं ट्रक मालिक का कहना है कि उन्हें इसके बारे में कुछ पता नहीं था ये उनके साथ अन्याय हैं.

 
वायरल हो रही है चालान की कॉपी

ओडिशा में 10 सितंबर को भी एक ट्रक ड्राइवर पर 86,500 रुपये का जुर्माना लगाया गया था. ट्रक का रजिस्ट्रेशन नंबर NL01 G1470 है, जो नगालैंड का है. जुर्माने की रकम पहले 86,500 रुपये थी, लेकिन ट्रक ड्राइवर के कुछ दस्तावेज पेश करने के बाद इसे 70 हजार रुपये पर तय कर दिया गया. बताया जा रहा है कि चालान 3 सितंबर 2019 को काटा गया था. 6 सितंबर को जुर्माने की रकम चुकाने के बाद ड्राइवर को ट्रक ले जाने दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.