October 3, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

चौधरी की चौधराहट:

बस पी रहे है और जी रहें है!
😄 एक समय की बात है, एक गाँव में
दो दोस्त ( चौधरी एंव ब्राह्मण ) रहा करते
थे !
चौधरी एक नंबर का ( बेवड़ा ) पियक्कड़ और
ब्राह्मण भला इंसान !
ब्राह्मण हमेशा चौधरी को समझाता रहता कि, दारु मत
पीया करो !
ब्राह्मण कुछ दिनों बाद कामकाज के
सिलसिले में गाँव
से शहर जा पहुँचा !
कुछ समय कमाई-धमाई की, फिर वापस गाँव लौटा !
अपनी नई साइकिल के पैडल मारते हुए
सीधे अपने दोस्त चौधरी के घर पहुँचा !
चौधरी  हमेशा की तरह नशे में धुत्त
मिला !
ब्राह्मण ने पूछा :– और क्या चल रहा है ? 
चौधरी बोला :– कुछ नहीं यार ! बस
पी रहे हैं और जी रहे
हैं, तुम सुनाओ !
ब्राह्मण बोला :– बस, बढ़िया है ! शहर
गया था कामकाज चल निकला है !
साइकिल खरीद ली है, परन्तु तुम नहीं सुधरे हो !
यह कहकर ब्राह्मण पैडल मारते हुए वापस
शहर की तरफ निकल लिया !
कुछ दिनों बाद ब्राह्मण फिर शहर से गाँव
में
पहुँचा ! इस बार स्कूटर पर था !
सीधे दोस्त चौधरी के घर का रास्ता लिया !
वहाँ फिर से वही चल रहा था ! चौधरी 
बैठा पी रहा था !
ब्राह्मण ने चौधरी  को फिर समझाया, सुधर
जाओ ! समझाकर ब्राह्मण दूसरे दिन शहर
को लौट गया !
कुछ महीनों बाद ब्राह्मण फिर से गाँव
में पहुँचा ! इस बार वो कार में था, सीधे
दोस्त चौधरी  के घर का रास्ता लिया !
पूछने पर पता चला कि, चौधरी  घर पर नहीं हैं, खेत गया हुआ हैं !
तो ब्राह्मण ने कार सीधे खेत
की दिशा मे दौड़ा दी !
वहाँ पहुँचा तो देखता हैं कि, चौधरी  खेत के
बीचों-बीच खाट पर
बैठा पी रहा हैं ! पास में ही एक हेलिकॉप्टर खड़ा है !
ब्राह्मण :– और क्या चल रहा है ?
चौधरी बोला :– कुछ नहीं यार ! बस
पी रहे हैं और जी रहे
हैं !
पीते-पीते बोतलें ज्यादा इकट्ठी हो गईं थी,
तो बेचकर हेलिकॉप्टर खरीद लिया
और पार्किंग के लिए खेत
भी खरीद लिया है, तुम
सुनाओ ?
ब्राह्मण वहीं बेहोश हो गया !।।।
चौधरी के ठाठ।।।
चौधरी की चौधराहट
धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.