October 3, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

दरोगा-सिपाही की गुंडई, मासूम बच्चे केे सामने युवक को सड़क पर लिटाकर लात-घूसों से निर्दयता पूर्वक पीटा; देखें वीडियो

सिद्धार्थनगर: जिले के सकारपार चौकी प्रभारी व हेडकांस्टेबल ने वर्दी के रौब में सरेआम गुंडागर्दी दिखाई। बाइक का कागज न दिखा पाने पर एक युवक को उसके मासूम भतीजे के सामने ही सड़क पर गिराकर लात-घूंसे ही नहीं बरसाए, दरोगा उसके ऊपर चढ़कर बैठ भी गए। मामला मंगलवार का है, वीडियो वायरल हुआ तो गुरुवार को एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने चौकी प्रभारी व हेडकांस्टेबल को निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है। 

 

मंगलवार अपराह्न खेसरहा थाना क्षेत्र के कुड़जा गांव निवासी युवक रिंकू पांडेय पुत्र योगेंद्र पांडेय सकारपार अपने आठ वर्षीय भतीजे को बाइक से बिठाकर दवा कराने आया था।लौटते समय उसकी बाइक रोक कर सकारपार चौकी प्रभारी वीरेंद्र मिश्र व हेड कांस्टेबल महेंद्र प्रसाद ने कागज मांगा तो उसने कहा कि वह पास के गांव में रहता है, लाकर दिखा देगा।

 

इतना सुनते ही चौकी प्रभारी व हेडकांस्टेबल ने आपा खो दिया और रिंकू को सड़क पर पटक-पटक कर मारने लगे। बुरी तरह लात-घूंसे ही नहीं बरसाए, दरोगा उसके ऊपर चढ़कर बैठ भी गए। जब पुलिस वाले कानून को तार-तार कर रहे थे, उस समय युवक का मासूम भतीजा भी डरा-सहमा वहीं खड़ा था। सरेराह कानून के रखवाले उसकी बेरहमी से पिटाई कर रहे थे, लेकिन आसपास लगे मजमे में से कोई प्रतिरोध या बीच-बचाव की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था।

 

इसबीच किसी ने रिंकू की पिटाई का वीडियो बना लिया और उसे वायरल कर दिया। इसके बाद पुलिस महकमा हरकत में आ गया। बुधवार को जांच करने सीओ बांसी मौके पर पहुंचे तो लोगों ने चौकी प्रभारी व हेड कांस्टेबल की गुंडागर्दी बयां की। मामला एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह तक पहुंचा तो उन्होंने गुरुवार को सकारपार चौकी प्रभारी वीरेंद्र मिश्र व हेड कांस्टेबल महेंद्र प्रसाद को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया।

देखें वीडियो 👇

 

जांच में मामला सही पाए जाने पर सकारपार चौकी प्रभारी वीरेंद्र मिश्र व हेड कांस्टेबल महेंद्र प्रसाद को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए लाइन हाजिर कर दिया गया है। किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.