June 25, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

दिल का दौरा पड़ने पर इस चीज को मुंह में डाल कर बचाएं रोगी की जान, वैज्ञानिकों ने खुद की पुष्टि

आज के दौर में बदलते लाइफस्टाइल और केमिकल युक्त भोजन के चलते हर आयु वर्ग का व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से ग्रस्त है।

पहले डायबिटीज, स्पॉन्डिलाइटिस, दिल की बीमारियों से ज्यादातर प्रौढ़ व वृद्ध ही ग्रस्त होते थे, लेकिन आज के समय में कम उम्र के लोग भी इन बीमारियों के चपेट में आने से खुद को बचाने में असफल रहे हैं।

डायबिटीज या मधुमेह से तो खानपान में नियन्त्रण कर बचा जा सकता। नियमित एक्सरसाइज से स्पॉन्डिलाइटिस को भी काफी हद तक कम किया जा सकता है।

दिल की बीमारी पर भी हम अपनी दिनचर्या या डायट में बदलाव कर एक हद तक काबू पा सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद हार्ट अटैक आने का खतरा कहीं न कहीं बना ही रहता है।
डायबिटीज के मरीजों में तो हार्ट अटैक के लक्षण दिखाई भी नहीं देते, उन्हें बिना दर्द के ही साइलेंट हार्ट अटैक आ जाता है। ऐसे में करें तो क्या करें? आज हम आपको एक ऐसे अनोखे उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके लिए बेहद फायदेमंद है। इससे हार्ट अटैक पड़ने पर रोगी की जान बचाई जा सकती है।

images(310)

 
रोगी के हार्ट अटैक के वक्त अस्पताल ले जाने से पहले इस उपाय को अपानाकर रोगी को बचाया जा सकता है। इसके लिए cayenne pepper की आवश्यकता होगी यानी कि लाल मिर्च पाउडर। लाल मिर्च हर घर में रसोई में पाया जाता है। इस लाल मिर्च से आप रोगी की जान एक मिनट में बचा सकते हैं। इस पर कई शोध भी किए जा चुके हैं।
शोध में आए निष्कर्ष ने डॉक्टर्स को हिलाकर रख दिया है। एक डॉक्टर ने तो यह भी कह डाला कि उनके 35 साल के लंबे करियर में उन्होंने सभी हार्ट अटैक मरीजों की जान बचाई है और ऐसा करने में लाल मिर्च का एक घोल सबसे ज्यादा कारगर सिद्ध हुआ। लाल मिर्च में स्कोवाइल (Scoville)के मौजूद होने के कारण ऐसा होता है।

 

images(309)

सबसे पहले अगर आप किसी हार्ट अटैक के मरीज को देखते हैं तो एक चम्मच लाल मिर्च एक ग्लास पानी में घोलकर मरीज को तुरंत दे दें। इससे एक मिनट के अंदर ही मरीज की हालत में सुधार आ जाएगा।
अगर मरीज होश में हैं तो यह उपाय कारगर है, लेकिन यदि रोगी बेहोशी की हालत में है तो ऐसे में लाल मिर्च का जूस बनाकर इसकी कुछ बूंदें मरीज की जीभ के नीचे डाल दें इससे भी हालत में सकारात्मक बदलाव होते हैं। लाल मिर्च में एक शक्तिशाली उत्तेजक की मौजूदगी के चलते ह्रदय गति तुरंत बढ़ जाती है और रक्त का प्रवाह शरीर के हर हिस्से में होने लगता है।

2 thoughts on “दिल का दौरा पड़ने पर इस चीज को मुंह में डाल कर बचाएं रोगी की जान, वैज्ञानिकों ने खुद की पुष्टि

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.