January 18, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

देवरिया:खाकी पर लगा दाग, पुलिस कर्मी गो-तस्करी में गिरफ्तार

देवरिया|पुलिस की खाकी वर्दी एक बार फिर दागदार हुई। कुछ माह पूर्व फरियाद लेकर थाने पहुंची महिलाओं के सामने अश्लील हरकत करने के आरोप में यहां के एक इंस्पेक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल के सलाखों में डाल दिया था। अभी यह मामला शांत नहीं हुआ था कि सलेमपुर कोतवाली के एक दीवान को एसटीएफ गोरखपुर यूनिट व चौरीचौरा पुलिस ने तरकुलहा से नौ गो तस्करों के साथ गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ गोरखपुर यूनिट व चौरीचौरा पुलिस ने तरकुलहा से नौ गो तस्करों के साथ कोतवाली में तैनात दीवान रामानंद यादव को गिरफ्तार किया है। दीवान रामानंद यादव गाजीपुर जिला के करमदीनपुर थाना क्षेत्र के एक गांव का बताया जा रहा है। वह करीब एक साल से कोतवाली में दीवान पद पर तैनात था। 19 दिसंबर से उसको एक माह के लिए पुलिस लाइन में सीआर ड्यूटी के लिए भेजा गया था।

सूत्रों के अनुसार वर्दी की आड़ में दीवान काफी दिनों से गो तस्करी का काम करवाता था। यह दीवान कोतवाली के अलावा मईल, खुखुंदू समेत जनपद के कई थानों में रह चुका है। बृहस्पतिवार को संयुक्त टीम ने पांच ट्रकों से गोवंश को छपिया से बिहार के छपरा ले जाया जा रहा था। जिसमें मौजूद 150 गोवंश को मुक्त कराकर कान्हा उपवन भेज दिया है। पुलिस ने पांचों ट्रक को कब्जे में लिया है।

एसटीएफ इंस्पेक्टर सत्यप्रकाश की तहरीर पर चौरीचौरा पुलिस ने नौ गो तस्करों के साथ कोतवाली में तैनात दीवान रामानंद यादव पर हत्या का प्रयास, साजिश, गोवध निवारण अधिनियम, पशु क्रूरता अधिनियम, ट्रांसपोर्ट ऑफ एनिमल रूल्स के तहत केस दर्ज कर जेल भेजा दिया है।कई दिनों से सूचनाएं मिल रही थीं कि प्रदेश के विभिन्न जनपदों से गोरखपुर व कुशीनगर के रास्ते बिहार के लिए गोवंश की तस्करी हो रही है। जांच में पता चला कि बलिया के परमानंदापुर प्रेमचक उर्फ उमरगंज निवासी मोहम्मद खालिद उर्फ रिंकू ज्यादा रेट पर किराए पर ट्रक लेकर गो तस्करी कराता है। उसके साथ देवरिया में सिपाही के पद पर तैनात रामानंद अपना ट्रक लगाकर तस्करी कराता है। खालिद व रामानंद गोवंश को देवरिया के कंचनपुर निवासी अनवर की मदद से बिहार में भेज देते हैं।
– सत्यप्रकाश सिंह, एसटीएफ गोरखपुर इकाई


जिले में ऐसे दागदार हुई है वर्दी
– 21 जून को सलेमपुर कोतवाली के एक इंस्पेक्टर को महिलाओं के सामने अश्लील हरकत करने के आरोप में भटनी थाने में केस दर्ज किया गया था। आरोप था कि अपने ऑफिस में फरियाद सुनने के दौरान इंस्पेक्टर ने महिलाओं के सामने निजी अंग का प्रदर्शन करते हुए अभद्रता की।
– सलेमपुर में ही तैनात एक इंस्पेक्टर व एक सिपाही को रिश्वत लेकर आरोपितों को छोड़ने के चलते सस्पेंड किया गया।
– लार के थानेदार वर्दीधारी अपने ही हमराही पर थप्पड़ जड़ने के आरोप में लाइन हाजिर किए गए थे।
– मेहरौनाघाट पुलिस चौकी पर रिश्वत लेने के आरोप में तत्कालीन सीओ वरूण मिश्र की जांच में पुलिसकर्मी लिप्त पाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.