June 26, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

देवरिया: फर्जी प्रमाणपत्र पर नौकरी कर रहे चार शिक्षक बर्खास्त

फर्जी प्रमाण पत्र पर नौकरी कर रहे चार शिक्षकों को शुक्रवार को बीएसए ने बर्खास्त कर दिया। इनमें से एक शिक्षिका को सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में पुनर्मूल्यांकन के बाद अनुत्तीर्ण होने पर सेवा से हटा दिया गया। वहीं एक शिक्षक दूसरे के नाम पर नौकरी करता पाया गया। दो शिक्षक एसटीएफ की सूचना के आधार पर हुई जांच में फर्जी पाए गए।

एसटीएफ की कार्रवाई का असर अब जिले में नजर आने लगा है। एसटीएफ की जांच में फर्जी पाए गए दो शिक्षक बर्खास्त किए गए हैं। इनमें से एक शिक्षक मुकेश कुमार यादव पूर्व माध्यमिक विद्यालय भिंगारी बाजार में बतौर सहायक अध्यापक तैनात था। यह कृष्ण कालोनी देवरिया का निवासी है। वहीं दूसरा शिक्षक सहायक अध्यापक गुलाबचंद रुद्रपुर विकास क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय जगतमाझा में तैनात था। यह लार के बरडीहा गांव का निवासी है। दोनो शिक्षकों को बीएसए ने दो अगस्त को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर अपने प्रमाण पत्रों की मूल प्रति के साथ बीएसए कार्यालय में उपस्थित होने को कहा गया था। इस पर दोनों शिक्षक उपस्थित नहीं हुए। 16 अगस्त को भेजी गई दूसरी नोटिस का जवाब भी दोनो शिक्षकों ने नहीं दिया। इस पर अखबारों में 17 सितंबर को सार्वजनिक सूचना प्रकाशित कराकर पुन: 23 सितंबर तक स्पष्टीकरण देने को कहा गया। इसका भी दोनो शिक्षकों ने जवाब नहीं दिया। इस पर बीएसए ने दोनो शिक्षकों मुकेश कुमार यादव और गुलाब चंद को बर्खास्त कर दिया।

 
इंटर कॉलेज के शिक्षक के प्रमाणपत्र पर हासिल कर ली नौकरी:-

बर्खास्त किया गया तीसरा बैतालपुर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय खपड़हवा में प्रधानाध्यापक के तौर पर तैनात राजेश कुमार पैन के चलते पकड़ में आया। महाराजगंज के गणेश शंकर विद्यार्थी इंटर कालेज में प्रवक्ता पद पर कार्यरत राजेश कुमार पुत्र इंदर को आयकर रिटर्न भरते समय पता चला कि कोई दूसरा व्यक्ति भी पैन का दुरुपयोग कर रहा है। जांच पड़ताल के बाद प्रवक्ता राजेश कुमार ने 21 अगस्त 2019 को बेसिक कार्यालय के वित्त एवं लेखाधिकारी जगदीश प्रसाद श्रीवास्तव से लिखित शिकायत किया। इसकी सूचना लेखाधिकारी ने बीएसए को दिया। इसके बाद प्राथमिक विद्यालय खपड़हवा में तैनात राजेश कुमार के बरसीपार पोस्ट चकरवा बहोरदास के पते पर नोटिस भेजा। यह पता फर्जी निकला। इसके बाद अखबारों में सूचना प्रकाशित कर राजेश कुमार से पक्ष रखने को कहा गया। इसके बावजूद जवाब नहीं मिलने पर शिक्षक को बर्खास्त कर दिया गया।

 

 

फेल होने के बावजूद नौकरी कर रही शिक्षिका भी बर्खास्त:-

 

परिषदीय विद्यालयों की सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में सफल घोषित हुई मऊ जनपद के इंदारा गांव निवासी संगीता यादव को जिले के प्राथमिक विद्यालय पिपरा मिश्र, क्षेत्र भागलपुर में तैनाती मिली थी। इस बीच हुए भर्ती परीक्षा के पुनर्मूल्यांकन में संगीता यादव अनुत्तीर्ण हो गईं। इसके बाद शिक्षिका को सेवा से हटा दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.