January 18, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

देवरिया: 7 डिग्री तक पहुंचा तापमान, अलाव बना सहारा

देवरिया| जिले में ठंड का प्रकोप जारी है। लोग ठंड के चलते ठिठुरने को मजबूर हैं। एक सप्ताह के भीतर तापमान पांच डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है। कोहरा व गलन के कारण शाम होते सड़कों पर सन्नाटा देखा जा रहा है।

सोमवार को जिले का अधिकतम तापमान 21 व न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था। सुबह कोहरा के कारण सड़कों पर वाहनों की रफ्तार थम सी गई थी। वाहन रेंगते नजर आए। जैसे जैसे दिन चढ़ा, कोहरा छंट गया। दोपहर में सूर्य ने दर्शन दिए। लोगों को धूप में खड़ा होना अच्छा लग रहा था। वहीं ठंड से बचाव के लिए लोग सुबह व शाम अलाव का सहारा ले रहे हैं।

 जिले में खुले 26 रैन बसेरा

देवरिया समेत सभी नगरीय निकायों में 26 रैन बसेरा खोले गए हैं। जहां रात में लोग आश्रय ले रहे हैं। इसके लोकेशन को जियो टैग किया गया है। इन पर अफसर नजर बनाए हुए हैं। डीएम के निर्देश पर इसकी देखरेख के लिए प्रभारी नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं। दुकानों पर गरम कपड़ों की बिक्री बढ़ी

ठंड के कारण दुकानों पर गरम कपड़ों की बिक्री बढ़ गई है। लोग मफलर, टोली, स्वेटर, जाकेट आदि की खरीदारी कर रहे हैं। दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ देखी जा रही है।

तहसीदार ने रैन बसेरा का किया निरीक्षण

देवरिया |बरहज में बने रैन बसेरा का तहसीलदार वंशराज राम, नायब तहसीलदार जितेंद्र कुमार सिंह ने निरीक्षण किया। रैन बसेरा में आने वाले लोगों को सुविधाएं मुहैया कराने का निर्देश दिया। नगरपालिका स्थित रैन बसेरा में कोई नहीं मिला। संत रविदास मंदिर के पास बने रैन बसेरा में दो लोग मिले। जिनसे सुविधाओं के बारे में जानकारी। ठंड से बचाव के लिए नगर में जल रहे अलाव का भी निरीक्षण किया।

रैन बसेरा में पाकेटमारों का आतंक

देवरिया| शहर में ठंड के दिनों में फंसे हुए लोगों व मजदूरों को ठहरने के लिए रैन बसेरा की व्यवस्था तो की गई है। लेकिन रैन बसेरों में पाकेटमारों का भी बसेरा हो गया है। इसलिए आसमान तले सोकर मजदूर रात काट रहे हैं। उधर कोतवाली पुलिस जांच कर चोरों की गिरफ्तारी करने की बात कह रही है।

शहर के रामेश्वर लाल तिराहा के पास भी रैन बसेरा बनाया गया है। जहां दस दिन पूर्व तक मजदूर तबका के दर्जनों लोग सोते थे, लेकिन अब यह रैन बसेरा में सोने से कतराने लगे हैं और अपने कंबल में रैन बसेरा से हट कर आसमान तले या फिर दुकानों के टीनशेड के नीचे सो रहे हैं। मजदूर मोहन प्रसाद, रामनगीना रविवार की रात दुकान के टीनशेड में बाहर सोए मिले, उनका कहना था कि वह भी रैन बसेरा में ही सोते थे। लेकिन तीन दिनों तक लगातार उनकी जेबें कट गई। कोतवाल राजू सिंह ने कहा कि इसकी हमें जानकारी नहीं है। जांच कर चोरों को गिरफ्तार किया जाएगा।

रैन बसेरा में सैनिटाइजर व साबुन का इंतजाम नहीं

देवरिया |सलेमपुर नगर पंचायत में ठंड से बचाव के लिए रैन बसेरा बनाए गए हैं। कई जगहों पर सैनिटाइजर व साबुन की व्यवस्था नहीं है। एसडीएम ओमप्रकाश ने रविवार की रात निरीक्षण के दौरान कमियां मिलने पर नाराजगी जताई और दूर करने का निर्देश दिया।

रैन बसेरा में इस बार कोरोना संक्रमण को देखते हुए सैनिटाइजर व साबुन के साथ मास्क की अनिवार्यता की गई है। ताकि रेलवे व बस स्टेशनों पर गैर प्रांतों से आने वाले यात्री व राहगीर ठहरें तो अन्य राहगीरों को दिक्कत न हो। उप जिलाधिकारी ओम प्रकाश ने रैन बसेरा में साफ-सफाई के साथ अलाव जलाने, साबुन सैनिटाइजर रखने का निर्देश दिया है।

चौराहों पर अलाव की व्यवस्था नहीं

देवरिया |बंगरा बाजार क्षेत्र में ठंड से जन जीवन अस्त -व्यस्त हो गया है। तापमान गिरने से सभी बेहाल हैं। अभी तक क्षेत्र के बंगरा, बखरी, पड़री, हाता, हरेराम चौराहा, परसिया, सिकटिया आदि चौराहों पर अलाव की व्यवस्था नहीं की गईं है। लोगों ने अलाव का इंतजाम करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.