June 24, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

देश सेवा का जज्बा,20 घर के गांव में 26 जवान

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के बहादुरपुर विकास क्षेत्र का सुकरौली गांव राष्ट्र सेवा की एक नई कहानी गढ़ रहा है। गांव से सेना और सीमा का रिश्ता मजबूत हो चला है। जवानी की दहलीज पर कदम रखते ही यहां के युवा वर्दी पहन ले रहे है। देश सेवा और नौकरी दोनों साथ-साथ हो रही है। 20 घरों के छोटे से गांव में 26 जवान है। इनमें से 22 सेना में,अन्य पुलिस विभाग में हैं। गांव के युवा अगल-बगल के गांवों के लिए प्रेरणा बन गए हैं। जिनके नक्शे कदम पर युवाओं की लंबी फेहरिस्त दौड़ और नियमित रियाज मार रही हैं।

वर्ष 2002 से पहले यह गांव भी अन्य गांवों जैसा ही था। आय का साधन सिर्फ खेती थी। गांव के लालजी यादव वर्ष 2000 में सेना में भर्ती हो गए। ट्रेनिग से लौटने के बाद लालजी यहां के युवकों के लिए प्रेरक बने। जब भी लालजी छुट्टी पर आते तो गांव के युवकों को सेना में भर्ती होने के गुर सिखाते। 2002 में उनके छोटे भाई प्रेमजी व शिवाजी आर्मी में भर्ती हुए। इसके बाद एक-एक कर यहां के 19 और युवक सेना में भर्ती हो गए। इससे प्रेरित होकर नायक लालजी की दो बहनें और अन्य दो युवक यूपी पुलिस में भर्ती हो गए।

——–

यह रहे गांव के सैनिक

लालजी यादव,प्रेमजी,शिवाजी,राजकुमार,विपिन,विजय,चंद्र प्रकाश,प्रेम प्रकाश,अशोक,मुखिराम यादव,सीतेंद्र ,विक्रम,विजय ,विकास ,अखिलेश,मिथिलेश,शीतला व वासुदेव।

इनकी भी चल रही तैयारी

सेना में भर्ती होने की तैयारी में गांव के सत्य प्रकाश, रवि, दिनेश यादव, शिव प्रकाश प्रतिदिन अलसुबह पांच किमी तक दौड़ लगाते हैं।

बचपन से ही सैनिक बनने का शौक था । देशभक्ति की फिल्में भी खूब देखा करता था । स्वयं सेना में भर्ती होने के बाद छोटे भाईयों व गांव के अन्य युवकों को भर्ती के लिए प्रशिक्षित और प्रेरित किया। मुझे खुशी है पूरे गांव के युवा मेरे बताए रास्ते पर चल रहे हैं।

नायक,लालजी यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.