June 25, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

पढाई का महत्व;

पढाई का आज के जीवन में बहुत महत्व है, इसके सिर्फ फायदे ही फायदे है. पढाई से ज्ञान मिलता है, जो इन्सान को अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाता है. शिक्षा का महत्व युगों युगों से चला आ रहा है. पहले लोग किसी महान महापुरुष के पास जाकर शिक्षा लिया करते थे, उनके आश्रम में रहकर हर प्रकार की शिक्षा लेते थे. फिर गुरुकुल भी बने, जहाँ वेद पूरण का ज्ञान दिया जाने लगा. अंग्रेजों के आने के पहले ऐसे ही शिक्षा दी जाती थी, उनके आने के बाद शिक्षा का रूप बदल गया. शिक्षा के लिए स्कूल बनाए गए, जहाँ सिर्फ पढाई पर ध्यान दिया जाता था, दूसरी बातों का ज्ञान यहाँ नहीं मिलता था. शिक्षा के क्षेत्र में और तरक्की हुई, और सरकारी स्कूल के अलावा प्राइवेट स्कूल भी बनने लगे. बड़े बड़े कॉलेज का निर्माण हो गया, अलग अलग क्षेत्र की शिक्षा के लिए अलग अलग कॉलेज बन गए.

अगर आपसे पुछा जाये आपसे A B C आता है, तो आप कहेंगे हां, इसका क्या मतलब है आप शिक्षित है या साक्षर? शिक्षित होना और साक्षर होना दोनों में अंतर होता है. साक्षरता का मतलब होता है कि आप पढ़ लिख सकते है. शिक्षा का मतलब है कि आप पढ़ लिख सकते हैं और इस शिक्षा का उपयोग आप अपने फायदे के लिए भी कर सकते है. अगर आप पढ़ना लिखना जानते है, लेकिन ये न समझे कि कैसे उपयोग करे, कैसे इसका उपयोग कर जीवन में आगे बढ़ें तो आपके साक्षर होने का क्या फायदा. साक्षर होना बस काफी नहीं है, आपको शिक्षित होना चाहिए. आजकल हर देश में वहां के नागरिक को साक्षर बनाने की बात पर जोर दिया जा रहा है, लेकिन देश को आगे बढ़ाने के लिए नागरिक को साक्षर होने साथ शिक्षित भी होना चाहिए. देश को ऐसे समूह की जरूरत नहीं है, जो सिर्फ पढ़ा लिखा हो, जबकि देश को ऐसे लोग चाहिए जो शिक्षा के बल पर जीवन में आगे बढे. आजकल पढ़ा लिखा तो रोबोट भी होता है, तो इसका क्या मतलब वो शिक्षित है? रोबोट अपनी पढाई का उपयोग खुद नहीं कर सकता, जितना उससे बोला जायेगा वो उतना ही करेगा. हमें रोबोट नहीं बनना है

शिक्षा आज के समय में सबका मौलिक अधिकार बन गया है. लड़का हो या लड़की, या किसी भी जाति, धर्म, क्षेत्र का इन्सान शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार रखता है. स्वामी विवेकानंद ने हमेशा शिक्षा पर जोर दिया, साथ ही उन्होंने लड़का लड़की को समान शिक्षा देने की बात भी कही. शिक्षा व शिक्षा का स्वरुप आज पूरी तरह से बदल गया है, खुले आसमान के नीचे लगने वाली क्लास की जगह आज स्मार्ट क्लास ने ली है. छोटे छोटे एक भवन के स्कूल की जगह इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल ने ले ली है.

ये कुछ बातें है, जिससे शिक्षा के महत्व को हम जान सकते है (Importance of education in life)

एक खुशहाल जीवन के लिए – अगर आप एक खुशहाल, सुखी जीवन चाहते है, तो आपको शिक्षित होने की बहुत आवश्कता है. शिक्षा के बिना आप जीवन में सफल नहीं हो सकते है, शिक्षा से आपका भविष्य सुंदर व सुरक्षित होता है. शिक्षा अगर आपके पास है तो आप जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते है, आपको किसी के सामने हाथ फ़ैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.
पैसा कमाने के लिए – खुशहाल जीवन के लिए आज के समय में धन सबसे मुख्य है. धन से सब कुछ नहीं लिया जा सकता है, लेकिन बहुत कुछ लिया जा सकता है. शिक्षित व्यक्ति मेहनत करके अच्छा पैसा कम सकता है, उसे अच्छी जॉब मिल सकती है. आज के समय में जितने ज्यादा आप शिक्षित होंगें, उतना अच्छा आपका करियर बनेगा.
समानता – अगर आप चाहते है कि आपके साथ कोई भेदभाव न हो तो आपको शिक्षित होना बहुत जरुरी है. कोई इन्सान किसी भी धर्म, जाति, लिंग का हो अगर वो शिक्षित हो तो उसे एक समान दर्जा मिलता है.
आत्म निर्भर बनते है – अगर आप आत्म निर्भर, स्वावलंबी बनना चाहते है तो शिक्षा बहुत जरुरी है. इससे आप अपने व अपने परिवार को संभाल सकते है, आपके अंदर बड़े से बड़े निर्णय लेने का आत्मविश्वास आता है.
आप अपने सपने को साकार कर सकते है – आपके जीवन में आपका सपना है एक सफल इन्सान बनने का, बड़ा अमीर बनने का, फेमस बनने का, तो सपने साकार करने का एक ही मूलमंत्र है शिक्षा. हां खिलाड़ी इसमें एक अपवाद है, जो कम पढ़े लिखे होते है, लेकिन फिर भी सफल होते है. इन सब के बावजूद ज्यादातर केस में सफलता के लिए आपको डिग्री की जरूरत पड़ती है.
अच्छा नागरिक बनाता है – आप अगर शिक्षित है, तो देश के प्रति आप अपनी ज़िम्मेदारी समझेंगें और एक अच्छा नागरिक बनते है. शिक्षित व्यक्ति ही देश को आगे बढाता है, वो सही व गलत में फर्क समझता है. एक शिक्षित व्यक्ति अपने मौलिक, नैतिक व क़ानूनी अधिकार को समझता है. वह कानून के विरुध्य कार्य नहीं करेगा. अशिक्षित लोग ही आगे बढ़ने के लिए, पैसा कमाने के लिए चोरी, डाका डालना, लूट करता है. अशिक्षित व्यक्ति महिलाओं की, दूसरों की इज्ज़त नहीं करता, ये ही लोग आतंकवाद को बढ़ावा देते है. देश व समाज में शांति के लिए शिक्षा बहुत जरुरी है.
शिक्षित व्यक्ति को सम्मान मिलता है – अगर आप शिक्षित है, तो आपको हर जगह सम्मान मिलेगा. आपकी बात का मान होगा और आपसे सलाह भी ली जाएगी. घर परिवार के अलावा आपको समाज व कार्यस्थल में भी सम्मान दिया जायेगा. अशिक्षित व्यक्ति की बात को कोई भी गहराई से नहीं लेता है.
समाज – हम सब एक समाज में रहते है, हमारा समाज हमसे उम्मीद करता है कि हम पढ़े लिखें और अच्छी नौकरी पाकर सफल बने. और सफल व्यक्ति समाज के स्तंभ होते है, जिनके कन्धों पर समाज खड़ा रहता है. शिक्षा समाज के लिए आपको उपयोगी बनाता है.
आपको कोई बेवकूफ नहीं बना सकता – शिक्षित व्यक्ति का कोई शोषण नहीं कर सकता है, न कोई उसे बेवकूफ बना सकता है. हम एक ऐसे देश में रहते हैं जहां हमें बहुत से अधिकार और स्वतंत्रता दी गई है. अशिक्षित व्यक्ति का कोई भी फायदा उठा सकता है, पढना लिखना न आने की वजह से, उससे कोई भी किसी भी पेपर में साइन करा सकता है.

साक्षरता को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा ये कदम उठाये जा रहे है (List of Steps taken by Government of India to improve Literacy Rate in India:) –

छोटे शहर व गाँव में रहने वालों के लिए सरकार द्वारा मुफ्त शिक्षा योजना कार्यक्रम शुरू किये जा रहे है.
जिला व प्रदेश लेवल पर नए स्कूल व कॉलेज का निर्माण हो रहा है.
सामाजिक कार्यकर्ता एक साथ होकर साक्षरता को बढ़ाने के लिए धन इक्कठा कर रहे है, और सरकार की मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे है.
“बेटी बचाओ बेटी पढाओ” भारतीय सरकार द्वारा चलाई जा रही एक नयी मुहीम है, जिसमें लड़कियों की शिक्षा पर जोर दिया जा रहा है.

2 thoughts on “पढाई का महत्व;

  1. I am also commenting to let you know of the great encounter my friend’s daughter found reading through your web page. She figured out numerous issues, not to mention what it’s like to have an amazing giving mood to have men and women really easily have an understanding of selected hard to do subject areas. You really exceeded our own expectations. Many thanks for imparting the interesting, safe, explanatory and even easy thoughts on the topic to Janet.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.