October 27, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

फेसबुक-वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम डाउन होने से मार्क जुकरबर्ग ने एक दिन में गंवाए 45,555 करोड़ रुपये

फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप की सेवाएं बाधित होने से सोमवार को दुनियाभर में हाहाकार मच गया। इससे फेसबुक के शेयरों में भारी गिरावट आई और कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग की नेटवर्थ कुछ ही घंटों में 6.11 अरब डॉलर गिर गई। वह दुनिया के अमीरों की लिस्ट में एक स्थान फिसलकर पांचवें नंबर पर आ गए हैं। हालांकि,  जुकरबर्ग ने सेवाएं बाधित होने से करोड़ों यूजर्स को हुई परेशानी के लिए माफी मांगी।

इन दिक्कतों की वजह से फेसबुक के शेयरों में 4.9 फीसद की गिरावट आई। इस तरह कंपनी का शेयर सितंबर मध्य के बाद से करीब 15 फीसदी गिर चुका है। Bloomberg Billionaires Index के मुताबिक फेसबुक के शेयरों में गिरावट से  जुकरबर्ग की नेटवर्थ 6.11 अरब डॉलर गिरकर 122 अरब डॉलर रह गई है। कुछ दिन पहले वह 140 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ अमीरों की लिस्ट में चौथे नंबर पर थे, लेकिन अब वह फिर से बिल गेट्स से पिछड़ गए हैं। गेट्स 124 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ इस सूची में चौथे नंबर पर हैं।

सर्विस बहाल होने के बाद फेसबुक ने ट्विटर पर कहा, ‘दुनियाभर के लोग और बिजनस जो हम पर निर्भर हैं, उनके लिए हमें दुख है। हम अपने ऐप्स और सेवाओं को पूरी तरह से बहाल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। यह बताते हुए हमें खुशी हो रही है कि वे दोबारा ऑनलाइन वापस आ रहे हैं। हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद।’

इस बीच  जुकरबर्ग ने फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप की सेवाएं बाधित होने से यूजर्स को हुई परेशानी के लिए माफी मांगी है। उन्होंने एक पोस्ट में कहा, ‘फेसबुक, इंस्टाग्राम, वॉट्सऐप और मैसेंजर की सेवाएं बहाल हो गई हैं। आज इनकी सेवाओं में जो बाधा आई, उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। मैं जानता हूं कि आप अपने लोगों से जुड़े रहने के लिए हमारी सर्विसेज पर कितना निर्भर हैं।’

 

23 की उम्र में ही अरबपति

फेसबुक की बदौलत जुकरबर्ग महज 23 साल की उम्र में ही अरबपति बन गए थे. आज फेसबुक वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम को भी अपना हिस्सा बना चुकी है.

 

मार्क जुकरबर्ग का जीवन

मार्क जुकरबर्ग का जन्म 14 मई, 1984 को न्यूयार्क में हुआ था. इनके पिता एडवर्ड एक डेंटिस्ट और मां मनोचिकित्सक हैं. मार्क बचपन से ही पढ़ने लिखने में तेज-तर्रार थे. बचपन से ही उनकी रुचि कंप्यूटर और उससे जुड़े चीजों में थी. शुरू में उनके पिता ही उन्हें कंप्यूटर के बेसिक प्रोग्राम के बारे में पढ़ाते थे. वैसे तो मार्क जुकरबर्ग ने न्यूयॉर्क में मिडिल स्कूल में पढ़ाई के दौरान ही प्रोग्रामिंग शुरू कर दी थी. लेकिन बाद में मार्क की कंप्यूटर के प्रति जिज्ञासा देखकर उनके पिता ने उनके लिए एक कंप्यूटर जानकार डेविड न्यूमैन को उन्हें पढ़ाने के लिए रखा.

मार्क जब स्कूल में थे तब उन्होंने क्लासिकल स्टडीज और साइंस (मैथ्स, एस्ट्रानामी और फिजिक्स) में कई इनाम जीते. उनकी जानकारी इतनी गहरी है कि वह अंग्रेजी के अलावा फ्रेंच, हिब्रू, लैटिन और एनशिएंट ग्रीक में पढ़ और लिख सकते हैं. जिस वक्त वह हाईस्कूल में थे, उन्होंने सायनेप्स मीडिया प्लेयर नाम से म्यूजिक प्लेयर बनाया जो यूजर की पसंद के गानों को स्टोर कर लेता था.

कैसे आया फेसबुक

यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान ही मार्क ने एक वेबसाइट शुरू की जिसका नाम “फेसमैश” था. इस साइट ने कॉलेज में तो कोई खास कमाल नहीं दिखाया लेकिन जब मार्क ने इसी साइट को फेसबुक डॉट कॉम के नाम से लांच किया तो इसने काफी धमाल मचाया. मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक की स्थापना 4 फरवरी, 2004 को किया. इसके निर्माण में उनके मित्रों ने काफी मदद की. फेसबुक इतनी तेज़ी से लोकप्रिय हुआ कि कई सॉफ्टवेयर कंपनियों ने इसे खरीदना चाहा, मगर मार्क ने इसे नहीं बेचा.

कम उम्र का अरबपति

आज सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग दुनिया के सबसे कम उम्र में बनने वाले अरबपतियों में से एक हैं. उन्हें टाइम पत्रिका ने वर्ष 2010 का पर्सन ऑफ द ईयर चुना. वह  विश्व के दूसरे सबसे कम उम्र के पर्सन ऑफ द इयर बन गए. जुकरबर्ग को यह सम्मान दुनिया के सबसे कम उम्र के अरबपतियों में एक होने के साथ-साथ सबसे कम उम्र के दानी होने के कारण दिया गया. शिक्षा में सुधार के लिए उन्होंने वर्ष 2010 में 10 करोड़ डॉलर की राशि दान में दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.