February 26, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती:जयन्ती पर याद किये गये समाज सुधारक संत गाडगे स्वच्छता अभियान के सबसे बड़े नायक हैं संत गाडगे; अंकुर वर्मा

जयन्ती पर याद किये गये समाज सुधारक संत गाडगे
स्वच्छता अभियान के सबसे बड़े नायक हैं संत गाडगे; अंकुर वर्मा

बस्ती । समाज सुधारक महान संत गाडगे को उनके 145 वें जयन्ती अवसर पर मंगलवार को समारोहपूर्वक याद किया गया। रजक सुधार समिति के महामंत्री राजू कन्नौजिया के नेतृत्व में अनेक समाजसेवियों ने कटरा पानी टंकी के निकट स्थित संत गाडगे की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं केक काटकर उनके योगदान पर प्रकाश डाला।
कांग्रेस अध्यक्ष अंकुर वर्मा ने संत गाडगे को नमन् करते हुये कहा कि उन्होने अनेक धर्मशालाएं, गौशालाएं, विद्यालय, चिकित्सालय तथा छात्रावासों का निर्माण कराया। यह सब उन्होंने भीख मांग-मांगकर बनावाया किंतु अपने सारे जीवन में इस महापुरुष ने अपने लिए एक कुटिया तक नहीं बनवाई। उन्होंने धर्मशालाओं के बरामदे या आसपास के किसी वृक्ष के नीचे ही अपनी सारी जिंदगी बिता दी।

वे स्वच्छता अभियान के सबसे बड़े नायक हैं। कांग्रेस के प्रदेश सचिव देवेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि संत गाडगे बाबा के जीवन का एकमात्र ध्येय था- लोक सेवा। दीन-दुखियों तथा उपेक्षितों की सेवा को ही वे ईश्वर भक्ति मानते थे। धार्मिक आडंबरों का उन्होंने प्रखर विरोध किया। उनका विश्वास था कि ईश्वर न तो तीर्थस्थानों में है और न मंदिरों में व न मूर्तियों में। दरिद्र नारायण के रूप में ईश्वर मानव समाज में विद्यमान है।

कार्यक्रम को रजक सुधार समिति के अध्यक्ष डा. राकेश कन्नौजिया, रावेन्द्र वरिष्ठ, अनिल कुमार कन्नौजिया, दुर्गेश कुमार कन्नौजिया, राकेश कुमार कन्नौजिया, मुकेश कुमार कन्नौजिया, सुनील कुमार कन्नौजिया, सचिन शुक्ल आदि ने सम्बोधित किया। कहा कि संत गाडगे नशाखोरी, छुआछूत जैसी सामाजिक बुराइयों तथा मजदूरों व किसानों के शोषण के भी वे प्रबल विरोधी थे। संत गाडगे द्वारा स्थापित ‘गाडगे महाराज मिशन’ आज भी समाज सेवा में रत है।

इस अवसर पर विश्वनाथ चौधरी, पवन वर्मा, गुड्डू कन्नौजिया, मंगल कन्नौजिया, सुरेन्द्र कन्नौजिया, जय कन्नौजिया, संजय कन्नौजिया, सुरेन्द्र कन्नौजिया, अशोक कुमार कन्नौजिया, सोनू कन्नौजिया, कृष्णा कन्नौजिया, नीलेश कन्नौजिया, नवनीत कन्नौजिया, विक्रम कन्नौजिया, राजेन्द्र प्रसाद कन्नौजिया, श्याम कन्नौजिया, अनिल कुमार कन्नौजिया के साथ ही बड़ी संख्या में रजक समाज के लोग शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.