January 19, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती:जालसाजों ने 24 लोगों को जारी कर दिया फर्जी नियुक्ति पत्र

बस्ती|प्रधानाचार्य प्रो. नवनीत कुमार ने कहा कि उनके फर्जी हस्ताक्षर से यह फर्जी लेटर जारी किया गया है। इस मेडिकल कॉलेज से कोई लेना-देना नहीं है। इस संबंध में कोई विज्ञापन मेडिकल कॉलेज ने नहीं प्रकाशित कराया है। बेरोजगार किसी के बहकावे में न आवें और वह जालसाजों की सूचना जिला प्रशासन व मेडिकल कॉलेज प्रशासन को दें। प्रधानाचार्य ने डीएम को पत्र लिखकर स्थिति से अवगत कराते हुए कहा कि किसी जालसाज ने मेरे फर्जी हस्ताक्षर से फर्जी नियुक्ति पत्र जारी किया है। इसकी नियमानुसार जांच कर विधिक कार्रवाई करना आवश्यक है। अत: फर्जी नियुक्ति पत्र की जांच कराते हुए आवश्यक कार्रवाई करें।

जालसाजों ने महर्षि वशिष्ठ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय बस्ती में चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के नाम पर 24 लोगों की नियुक्ति कर दी। यह नियुक्ति संविदा की बताते हुए हाईकोर्ट में दायर याचिका के अधीन करना बताया। फर्जी होने का खुलासा उस समय हुआ, जब गुरुवार को नियुक्त आदेश लेकर एक अभ्यर्थी ज्वाइन करने के लिए मेडिकल कॉलेज पहुंच गया। प्रधानाचार्य ने नियुक्त आदेश पर अपने हस्ताक्षर को फर्जी बताते हुए कहा कि मामले की रिपोर्ट शासन को भेजी जा रही है।

कार्यालय निर्देशक (निदेशक) प्रशासन चिकित्सा एवं स्वासथ्य सेवाएं महर्षि वशिष्ठ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय बस्ती, उत्तर प्रदेश लखनऊ के लेटर हेड पर नियुक्त आदेश पत्र जारी किया गया है। पत्रांक संख्या व विज्ञापन संख्या दिखाते हुए यह नियुक्त आदेश 3 नवंबर 2011 को जारी किया गया, जिसमें तीन बिन्दुओं में नियुक्ति संबंधी विवरण दिया गया है। पहले दो बिन्दु पर कहा गया है कि यह नियुक्ति संविदा के आधार पर हाईकोर्ट में विचाराधीन याचिका 1119-20 रामनगीना मौर्या बनाम अन्य तथा 50066 अनिल मिश्रा बनाम अन्य एवं उत्तर प्रदेश सरकार में पारित अंतिम आदेश के अधीन होगी। दूसरे बिन्दु पर भी यही बात लिखी गई है। तीसरे बिन्दु में कहा गया है कि चयनित अभ्यर्थी का शैक्षिक अंकपत्र, प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र व अन्य प्रमाण पत्र सत्यापन के बाद फर्जी पाया जाता है तो बिना किसी सूचना के उनकी नियुक्त रद्द कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.