September 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

बस्ती:मूर्तिकार विजयपाल के फरारी के बाद; पांडाल का ताला खुला, आयोजकों को अर्धनिर्मित मूर्तियां मिली

बस्ती:शहर के मालवीय रोड पर बादशाह टाकीज के सामने परिसर में पांडाल लगाकर कोलकाता का मूर्तिकार विजय पाल चार दर्जन से अधिक लोगों से एडवांस लेकर प्रतिमाओं का निर्माण कर रहा था। वह अपनी पूरी टीम के साथ शनिवार को फरार हो गया था। दिन में इसकी भनक लगते ही दुर्गा पूजा कमेटियों से जुड़े लोगों की भीड़ एकत्र जुटने लगी थी। कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और गेट पर ताला लगाकर आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। एहतियातन मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया था।
कोतवाल एमपी चतुर्वेदी ने प्रकरण की रिपोर्ट एसडीएम सदर शिव प्रताप शुक्ला को सौंप दी थी। उनके स्तर से राजस्व कर्मियों व पुलिस की एक संयुक्त टीम गठित कर दी गई है। इस टीम ने रौता चौराहा चौकी पर दुर्गा पूजा समितियों से रविवार की पूर्वाह्न 11 बजे तक प्रार्थना पत्र लिया। प्रार्थना पत्र के साथ ही बुकिंग की रसीद और धनराशि भी नोट की गई।

 

रविवार दोपहर करीब एक बजे पांडाल के गेट पर लगा ताला खोला गया। मूर्तिकार ने बुकिंग के हिसाब से ही मूर्तियों पर टैंगिंग कर रखी है और इसे रसीद पर भी दर्ज किया था। रसीद के साथ मूर्ति लेने वाले का आधार कार्ड लेने के बाद टीम ने मूर्ति आयोजन समितियों को सौंपी।

 

IMG-20190924-WA0003

 

संयुक्त टीम को मिले 40 प्रार्थना पत्र

एडवांस देने वाले आयोजन समिति से जुड़े 40 लोगों ने राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम को प्रार्थना पत्र अभी तक सौंपे हैं। इनमें किसी ने 11 सौ से लेकर तीन हजार तक एडवांस दिया गया था। वहीं कंपनी बाग पर स्थापित होने वाली मां दुर्गा की विशाल प्रतिमा के लिए मूर्तिकार ने इस बार तीन लाख रुपए एडवांस ले लिया था। मूर्ति लेने पहुंचे साजन श्रीवास्तव, बाबूलाल, आशीष गुप्ता, राजीव गुप्ता, मोहनलाल, रामविलास, अरविंद कुमार, दुर्गेश, राजेश व अन्य ने बताया कि अर्धनिर्मित मूर्ति मिली है। इसे पूरा कराने के लिए दूसरे मूर्तिकार का सहारा लेने पड़ेगा।

अभी भी जिन लोगों को जानकारी मिल रही है वो शिकायत दर्ज कराने आ रहें हैं।

करूआ बाबा से आए मनीष गुप्ता ने बताया कि 42 हजार की मूर्ति बुक थी। 25 सौ एडवांस दिया था। मूर्तिकार के फरार होने के बाद सुल्तानपुर से 65 हजार रुपए की मूर्ति बुक कर दी। आयोजकों को मूर्ति सौंपने की प्रक्रिया में नायाब तहसीलदार सुशील कुमार, कोतवाल एमपी चतुर्वेदी, कानूनगो रामकुमार वर्मा, मनोज उपाध्याय, लेखपाल संजय श्रीवास्तव, विजय तिवारी, सुरेश पटवा, दयानंद, मुकेश, रामपुजारी, चौकी प्रभारी रौता कन्हैया पांडेय, एसआई अवधेश यादव समेत पुलिस बल तैनात रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.