January 23, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती:युवती की हत्या कर लाश छिपाने वाले पर हुई NSA की कार्रवाई,जानिए क्या है NSA Act

बस्ती| कलवारी थाना क्षेत्र के एक गांव में डेढ़ माह पूर्व युवती की हत्या कर शव को पुआल में छिपाने वाले आरोपी पर पुलिस ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की है। प्रभारी निरीक्षक सौदागर राय ने बताया कि 15 नवंबर की सुबह एक युवती का शव उसके घर से कुछ ही दूरी पर पुआल से मिला था।

युवती 10 नवंबर से गायब थी। लाश मिलने के बाद क्षेत्र के लोग दहशत में थे। पुलिस ने आरोपी भालचन्द्र यादव निवासी तिघरा थाना लालगंज को थाना क्षेत्र के गायघाट सिकंदरपुर मार्ग से मुठभेड़ के बाद 16 नवम्बर को गिरफ्तार कर लिया था। लोक व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिलाधिकारी से आरोपी पर एनएसए की कार्रवाई की अनुमति मांगी गई थी। अनुमति मिलने के बाद आरोपी भालचन्द्र के विरुद्ध मंगलवार को कार्रवाई की गई।

सीओ कलवारी अनिल कुमार सिंह के कुशल पर्यवेक्षण मे प्रभारी निरीक्षक कलवारी सौदागर राय द्वारा धारा 302,201 भादवि0 व 3(2) 5 एससी/ एसटी एक्ट के तहत हुई कार्यवाही।अभियुक्त भालचन्द्र यादव के खिलाफ हुई NSA की कार्यवाही।

क्या है राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA)

राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम-1980, देश की सुरक्षा के लिए सरकार को अधिक शक्ति देने से संबंधित एक कानून है. यह कानून केंद्र और राज्य सरकार को किसी भी संदिग्ध नागरिक को हिरासत में लेने की शक्ति देता है.

जानिए कब बना था ये कानून

देश में कई प्रकार के कानून बनाए गए हैं. ये कानून अलग-अलग स्थिति में लागू किए जाते हैं. इन्हीं मे से एक है रासुका यानी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून. 23 सितंबर, 1980 को इंदिरा गांधी की सरकार के दौरान इसे बनाया गया था. ये कानून देश की सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार को अधिक शक्ति देने से संबंधित है. यह कानून केंद्र और राज्य सरकार को संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लेने की शक्ति देता है.

किन नागरिकों को पकड़ा जा सकता है

– अगर सरकार को लगता है कि कोई व्यक्ति उन्हें देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने वाले कार्यों को करने से रोक रहा है तो उसे हिरासत में लिया जा सकता है.

–  यदि सरकार को लगता है कि कोई व्यक्ति कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने में उसके सामने बाधा खड़ी कर रहा है को वह उसे हिरासत में लेने का आदेश दे सकती है. इस कानून का इस्तेमाल जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्त, राज्य सरकार अपने सीमित दायरे में भी कर सकती है.

कितने महीने जेल में 

– राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम-1980 (NSA) के तहत किसी भी संदिग्ध व्यक्ति को बिना किसी आरोप के 12 महीने तक जेल में रखा जा सकता है. राज्य सरकार को यह सूचित करने की आवश्यकता है कि NSA के तहत एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है.

– राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत हिरासत में लिए गए व्यक्ति को उनके खिलाफ आरोप तय किए बिना 10 दिनों के लिए रखा जा सकता है. हिरासत में लिया गया व्यक्ति उच्च न्यायालय के सलाहकार बोर्ड के समक्ष अपील कर सकता है लेकिन उसे मुकदमे के दौरान वकील की अनुमति नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.