January 16, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती:विकास कार्यों की समीक्षा बैठक संपन्न

 बस्ती| जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन गुरुवार को विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में सख्त नजर आए। कहा कि 27 हजार मनरेगा श्रमिक हैं जिनको 80 से 90 दिन का कार्य पूरा दिया गया है। अभियान चलाकर सभी को सौ दिन का रोजगार दिया जाए। इस मामले में विक्रमजोत, रामनगर, साऊंघाट तथा रुधौली क्षेत्र पंचायतें मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराने में सबसे पीछे हैं। निर्देश दिया इसके लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में कार्य शुरू कराए जाएं।

वह गुरुवार को विकास भवन सभागार में विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। कहा मनरेगा के कार्यों के सत्यापन के लिए टीम बनाई जाय। लंबे समय तक कार्य का सत्यापन न होने के कारण इसकी दूसरी किश्त जारी नही हो पा रही है। मनरेगा कन्वर्जेंस के तहत जो कार्य स्वीकृत हुए थे, यदि वे पूरे नहीं हो सकते तो उनको निरस्त करने की कार्रवाई की जाए। मनरेगा के तहत व्यक्तिगत लाभार्थियों के लिए काउ शेड, कैटल शेड, पोल्ट्री फार्म, खेत तालाब, गोट शेल्टर,वर्मी कंपोस्ट पिट, सोकपिट बनाने के लिए अनुमति प्रदान की गई है। जिलाधिकारी ने लघु सिचाई, सरयू नहर खंड, पीडब्लूडी, भूमि संरक्षण, उद्यान, रेशम, कृषि आदि विभागों के कार्यों की समीक्षा की। पाया कि पीडब्लूडी द्वारा कराये जा रहे कार्यों की प्रगति धीमी है।

डीएम ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लक्ष्य को तेजी से पूरा करने को कहा। चेताया इस कार्य में किसी स्तर पर लापरवाही पर कार्रवाई होगी। कहा लाभार्थियों का चयन कर खंड विकास अधिकारी फंड ट्रांसफर आर्डर (एफटीओ) जनरेट कर डोंगल लगाना सुनिश्चित करें। चयनित लाभार्थियों के सत्यापन का कार्य सेक्टर प्रभारी बनाए गए सहायक विकास अधिकारी (एडीओ) से कराने के निर्देश दिए हैं। समीक्षा में बताया गया नगर पालिका परिषद बस्ती की सीमा विस्तार के साथ ही चार नई नगर पंचायतें गठित की गयी हैं। इसमें अधूरे कायरें को पूरा करने का दायित्व संबंधित नगर निकाय का होगा।

उन्होंने कृषि विभाग को निर्देश दिया है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में मिस मैच लगभग 39 हजार डाटा सही कराने के लिए गांवों में दो दिवसीय कैंप आयोजित करें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि कोईलपुर स्थित बृहद गोआश्रय स्थल का निर्माण एक माह में पूरा कराएं। इसमें 200 गोवंशीय पशुओं को संरक्षित करने की क्षमता होगी। है।

डीपीआरओ विनय कुमार सिंह ने बताया कि नई व्यवस्था के अनुसार निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन को पूरा कराने के लिए धनराशि नगर निकाय को देनी होगी बैठक में नहरों में टेल तक पानी, सरकारी विभागों के विद्युत बकाया का भुगतान, सड़कों का निर्माण एवं चौड़ीकरण, सोलर सिचाई पंप, शादी अनुदान योजना, आपरेशन कायाकल्प आदि की समीक्षा की गई। संचालन जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी टीपी गुप्ता ने किया। इस मौके पर सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका, सीएमओ डा. एके गुप्ता, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, पीडी आरपी सिह, उप निदेशक कृषि डा. संजय त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.