January 22, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती:शिक्षक हितों,पुरानी पेंशन बहाली के लिये जारी रहेगा संघर्ष

बस्ती। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने शनिवार को शिक्षक भवन पर पत्रकारों से वार्ता करते हुये कहा कि देश, प्रदेश का शिक्षक इतिहास के कठिन दौर से गुजर रहा है। उस पर जिम्मेदारियां पहले से अधिक बढी है किन्तु अधिकार लगातार छीने जा रहे हैं। यहां तक कि बुढापे की लाठी पेंशन का लाभ हासिल करने के लिये अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा देश व्यापी आन्दोलन चलाया जा रहा है किन्तु केन्द्र और राज्य सरकारें पुरानी पेंशन नीति बहाली को तैयार नहीं हो रही है।

कहा कि कोरोना संकट काल में शिक्षकों की जिम्मेदारियां और अधिक बढ गई हैं। यह अच्छी बात है कि शिक्षक इन चुनौतियों का डटकर सामना कर रहे हैं। कोराना काल में अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुये प्राण गवाने वाले शिक्षकों, कर्मचारियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये कहा कि हम संकल्पबद्ध हैं कि शिक्षक अपने कर्तव्योें के प्रति दृढ है किन्तु उसके अधिकार छीने नहीं जाने चाहिये। कहा कि संगठन का पहला लक्ष्य है कि जनपद में नव नियुक्त लगभग 1300 अध्यापकोें का निःशुल्क सर्विस बुक बनवाकर आन लाइन के आधार पर वेतन भुगतान सुनिश्चित कराया जाय। सभी अध्यापकों की वरिष्ठता सूची जारी कराकर पदोन्नति की कार्यवाही कराया जायेगा। किसी भी स्तर पर अध्यापकों का शोषण नहीं होने पायेगा।

पत्रकारोें के प्रश्नोें का उत्तर देते हुये संघ अध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि जनपद के 62 विद्यालयों में छात्रों के शुद्ध पेयजल की व्यवस्था नहीं है, लगभग एक हजार परिषदीय विद्यालयों में बाउन्ड्रीवाल नहीं है, कायाकल्प प्रक्रिया से 750 विद्यालय अपूर्ण हैं। परिषदीय विद्यालयों को सुविधाओें से सम्पन्न किया जाय जिससे वे निजी विद्यालयों से बेहतर परिणाम दे सकें। सभी विद्यालयों में डेस्क, बेंच, बालक, बालिका एवं दिव्यांग शौचालय, कक्षा कक्ष के टाईलीकरण, विद्युत संयोजन की व्यवस्था हो। इस सम्बन्ध में संघ की ओर से शीघ्र ही शासन को ज्ञापन भेजा जायेगा।

बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत 2021 से परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत अनुदेशक और शिक्षा मित्रों को बाहर कर देने का षड़यंत्र रचा जा रहा है। अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ शिक्षा मित्र और अनुदेशकों को नियमित करने की मांग को लेकर संघर्ष कर रहा है। कहा कि 2021 शिक्षकों के लिये निर्णायक साबित होगा। सांगठनिक ढांचे को मजबूत बनाने के लिये अभियान तेज किया जायेगा। 8 जनवरी को सभी विकास क्षेत्रों पर क्षेत्रीय संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक कर सदस्यता अभियान की रणनीति बनायेंगे। प्रेस वार्ता के बाद शिक्षक भवन पर संघ पदाधिकारियों, शिक्षकांे की बैठक हुई जिसमें शिक्षक समस्याओं पर चर्च के साथ ही महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये।

बैठक में कार्यवाहक जिला मंत्री विजय प्रकाश चौधरी, कार्यवाहक जिलाध्यक्ष अखिलेश मिश्र, शैल शुक्ल, अभय सिंह यादव, चन्द्रभान चौरसिया, सन्तोष कुमार शुक्ल, महेश कुमार, रीता शुक्ला, सरिता पाण्डेय,बब्बन पाण्डेय, राधेश्याम मिश्र, शशिकान्त धर दूबे, रक्षाराम वर्मा, राम प्रकाश शुक्ल, देवेन्द्र वर्मा, दिवाकर सिंह, कन्हैया लाल भारती, रामभरत वर्मा, जगदम्बा प्रसाद पाण्डेय, विजय प्रताप वर्मा, राजेश कुमार, शोभाराम वर्मा, राजनारायण त्रिपाठी, मनीष श्रीवास्तव, मारूफ खान, काशीराम वर्मा, योगेश्वर शुक्ल, के साथ ही अनेक पदाधिकारी, शिक्षक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.