December 3, 2020

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती: अनियंत्रित कार अमहट पुल से नदी में गिरी, कार चालक सहित 3 की मौत

बस्ती |अमहट पुल पर अनियंत्रित कार गिरी नदी में।रेलिंग तोड़ते हुए खाई में गिरी कारमौके पर पहुंचे टीएसआई कामेश्वर सिंह ने नदी में कूदकर कार सवारों को निकाला बाहर ।

कार चालक सहित 3 की मौत । चार अन्य की हालत गंभीर, जिला अस्पताल रेफर। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को पहुंचाया जिला अस्पताल।

मौके पर सीओ सिटी पुलिस अधीक्षक सहित अन्य आला अधिकारी मौजूद।

उत्‍तराखंड से बिहार जा रहे एक परिवार पर रफ्तार का कहर बरपा है। लखनऊ-गोरखपुर हाइवे पर करीब 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से जा रही उनकी कार अचानक से बेकाबू होकर पुल की रेलिंग तोड़ते हुए 50 फीट नीचे कुआनो नदी में जा गिरी। इस हादसे में कार में सवार पति-पत्‍नी और बेटे की दर्दनाक मौत हो गई। कार से निकाले गए दो अन्‍य लड़के गंभीर रूप से घायल हैं। उन्‍हें बस्‍ती जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है।

उत्‍तराखंड के रुद्रपुर जिले से यह परिवार एमबीबीएस में बेटे के एडमिशन के लिए बिहार के मोतिहारी जा रहा था। बस्‍ती में लखनऊ-गोरखपुर फोरलेन पर बुधवार को दिन में करीब दो बजे यह हादसा हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही बस्‍ती के एसपी और अन्‍य वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। 

मिली जानकारी के अनुसार मूलत: बिहार के मोति‍हारी जिले के थाना उदयझा के मोहम्मदपुर गांव के रहने वाले इम्तियाज (उम्र 52 वर्ष) उत्तराखण्ड के रुद्रपुर जिले में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते थे। उनके बेटे फैज मोहम्मद (उम्र 20 वर्ष) का एडमिशन एमबीबीएस में कराना था। इसके लिए परिवार बुधवार को कार से बिहार जा रहा था। कार में फैज और इम्तियाज के अलावा उनकी पत्नी मेराज खातून (उम्र 43वर्ष) और दोनों साले इकबाल और आमिर इकबाल भी थे। इकबाल और आमिर बिहार के सीतामढ़ी जिले के बैरगहनिरया थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। उनके मुताबिक गाड़ी फैज चला रहा था। 

घटना स्थल का वीडियो ..

वे  बस्ती में हाइवे पर अमहट पुल के पास पहुंचे थे कि अचानक कार बेकाबू हो गई। 100 से 120 की स्‍पीड में कार रेलिंग तोड़ते हुए नीचे नदी में जा गिरी। हादसा देख राहगीर दौड़ पड़े। चूंकि घटनास्थल बस्ती शहर से सटे था लिहाजा कुछ ही देर में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। टीएसआई समेत अन्य लोगों ने नदी में उतरकर कार का शीशा तोड़ा और अंदर फंसे लोगों को बाहर निकाला। 

इम्तियाज, मेराज खातून और उनके बेटे फैज अहमद की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। गंभीर रूप से घायल इकबाल और आमिर को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। दोनों की हालत नाजुक बनी हुई है। उधर, क्रेन से गाड़ी को बाहर निकालकर करीब डेढ़ घंटे बाद तीन बजे यातायात बहाल कराया जा सका। 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Powered By : Webinfomax IT Solutions .
EXCLUSIVE