October 2, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

बस्ती: आई डिस्कवर प्रोग्राम के तहत औद्योगिक इकाइयों का भ्रमण कर बापू बाल गुरुकुल के बच्चों नें जाना औद्योगिक प्रणाली

 रिपोर्ट: गरुण ध्वज पाण्डेय 

बस्ती 23 अगस्त । छात्रों को नवीनतम प्रौद्योगिकी से परिचित कराने उनमें ज्ञान विज्ञान के प्रति रुचि पैदा करने के उद्देश्य से युवा विकास समिति द्वारा इन्डियन डेवलपमेंट फाउंडेशन मुम्बई के सहयोग से बनकटी ब्लाक के इटहर गाँव में संचालित बापू बाल गुरुकुल के बच्चों के दल नें जिले के प्लास्टिक काम्प्लेक्स स्थित औद्योगिक इकाइयों का भ्रमण किया। इस दौरान ओम प्रकाश आर्य प्रधान आर्य समाज नई बाजार बस्ती व योगाचार्य गरुणध्वज पाण्डेय के अगुवाई में भ्रमण के दौरान छात्रों को उद्योगों में प्रयुक्त होने वाले प्रौद्योगिकी, कार्यप्रणाली व उत्पादन तकनीकी से रूबरू कराया गया। ओम प्रकाश आर्य ने बताया कि जैसे कई प्रक्रिया से गुजरने के बाद अच्छी नमकीन बनती है। उसी प्रकार जीवन को आदर्श बनाने के लिए शिक्षा के कई चरणों से गुजरना होता है। बड़े बड़े संकल्प छोटे छोटे व्रतों से पूरे होते हैं।

औद्योगिक क्षेत्र बस्ती में स्थित आर्य फूड इंडस्ट्रीज नामक औद्योगिक इकाई को दिखाते हुए उद्यमी ओंकार आर्य ने बच्चों को बताया की इस तरह के भ्रमण से बच्चों को आगे चल कर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जाने में मदद मिलेगी। उन्होनें बच्चों को भ्रमण के दौरान ट्रेड से सम्बंधित जानकारियों के साथ-साथ ऑटो-मैटिक मशीनों के कार्य सिद्धांत के तरीके तथा उनके लाभों से अवगत कराया। जिससे भविष्य में छात्र बेहतर ढंग से उन मशीनों को संचालित कर सके। उन्होंनें कहा की औद्योगिक भ्रमण से छात्र के अंदर विभिन्न कम्पनियों को देखने एवं उनमें जॉब के सुअवसर पाने का भी मौका मिलता है।

बापू बाल गुरुकुल के शिक्षक प्रेम प्रकाश नें कहा कि देश के विकास में विज्ञान का महत्व दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में जहां लोगों में वैज्ञानिक सोच पैदा करने की जरूरत है, वहीं विज्ञान के प्रति प्रचार-प्रसार के लिए बच्चों में रुचि पैदा करने में मदद मिलेगी। इस मौके पर प्रमुख रूप से प्रेम प्रकाश, रामसूरत, श्यामसुन्दर, हृदयेश कुमार, प्रेम बाबू, विजय कुमार, मधु सहित अनेकों लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.