December 5, 2020

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती कैथोलिया: आईजी अनिल कुमार रॉय ने SOG को दिया 50 हज़ार का इनाम


बस्ती। दुष्कर्म में नाकाम होने पर प्रेमिका की हत्या करने वाले आरोपी युवक को एसओजी टीम ने मुठभेड़ में सोमवार सुबह कलवारी थाने के सिकंदरपुर मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया।बस्ती पुलिस द्वारा थाना कलवारी ग्राम कैथवलिया में हुए सनसनी खेज हत्या की घटना का 15 घण्टे के अन्दर अनावरण हुआ.


टीम द्वारा रोकने पर आरोपी पुलिस पर फायर करके भागने लगा। जवाबी फायरिंग में एक गोली आरोपी भालचंद यादव के घुटने में जा लगी। पुलिस ने घायल अवस्था में उसे सीएचसी पहुंचाया। जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। एसओजी के आरक्षी दिलीप कुमार को भी घायल हुए हैं।


पुलिस प्रेक्षागृह में प्रेसवार्ता के दौरान आईजी एके राय ने बताया कि पूछताछ में आरोपी भालचंद ने बताया कि उसने 10 नवंबर को शाम सात बजे प्रेमिका को मिलने के लिए बुलाया था। दोनों रात साढ़े आठ बजे तक साथ थे। आपसी संबंधों को लेकर तकरार हुई तो उसने झुंझलाहट में प्रेमिका के कपड़ों से ही गला दबाकर मार डाला। हत्या करके उसने शव को पुआल में छिपा दिया था।


उन्होंने बताया कि गिरफ्तार करने वाली एसओजी टीम को 50 हजार रुपये पुरस्कार देने का एलान किया है। टीम में एसओजी के प्रभारी निरीक्षक राजेश मिश्र, प्रभारी थानाध्यक्ष कलवारी दुर्विजय, सर्विलांस प्रभारी जितेंद्र सिंह, उप निरीक्षक राकेश कुमार मिश्र, एसओजी के कांस्टेबल आदित्य पांडेय, कांस्टेबल गुरुदेव कुमार, कांस्टेबल बुद्धेश कुमार, राम सुरेश यादव, दिलीप कुमार, कांस्टेबल अजय यादव शामिल हैं।



मृतका के गांव में निकट के तिघरा निवासी भालचंद यादव का ननिहाल है। जहां आने-जाने के दौरान युवती से संपर्क हुआ। लॉकडाउन के वक्त वे निकट आ गए। 10 नवंबर को शाम सात बजे के आसपास आरोपी भालचंद प्रेमिका से मिलने गया। उसके बुलाने पर युवती घर यह झूठ बोलकर निकली कि वह नित्यक्रिया के लिए जा रही है। वहां उसे उसी के प्रेमी ने मौत के घाट उतार दिया। शव पुआल के नीचे छिपाकर वह भाग गया। घर से निकलते समय युवती के पास दो मोबाइल थे। एक भालचंद ने उसे बात करने के लिए दिया था और दूसरा उसने पिता का मोबाइल लिया था। 14 नवंबर तक दोनों मोबाइल चल रहे थे। मगर 15 नवंबर को लड़की की लाश मिलने के बाद दोनों मोबाइल आरोपी ने पास की मनोरमा नदी में फेंक दिया। पुलिस उसे बरामद करने की कोशिश में जुटी है।


एसओ कलवारी और बीट दरोगा निलंबित


आईजी ने बताया कि सूचना के बाद भी लापरवाही बरतने पर कलवारी थानाध्यक्ष विन्देश्वरी मणि त्रिपाठी और हल्का दरोगा शिवधारी को निलंबित कर दिया गया है।आईजी के अनुसार परिवार के लोग 12 नवंबर को थाने पर सूचना देने पहुंचे। मगर एसओ और बीट के दरोगा सक्रिय नहीं हुए। इसके चौथे दिन यानी रविवार को सुबह सवा नौ बजे राहगीरों ने शव मिलने की सूचना दी। गांव के लोग वहां पहुंचे तो शव की पहचान हुई।


डीएम ने परिवार को पट्टा देने के दिए निर्देश


जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन रविवार रात मृत युवती के गांव पहुंचे। उन्होंने उपजिलाधिकारी सदर आशाराम वर्मा को निर्देश दिया कि गांव में बचत की जमीन खोज कर शीघ्रातिशीघ्र पट्टा प्रमाण मृतका के पिता को उपलब्ध कराएं। इसके साथ ही अनुमन्य अहेतुक सहायता दिलाने को भी कहा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Powered By : Webinfomax IT Solutions .
EXCLUSIVE