September 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

बस्ती: जिले में बजट के अभाव में बंद हुई जननी शिशु सुरक्षा योजना के तहत नि:शुल्क अल्ट्रासाउंड जांच सुविधा; बजट आने का इंतजार

बस्ती:केंद्र सरकार की जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम बजट के अभाव में बंद हो गई। पीपीपी मॉडल पर इसका संचालन किया जा रहा है। जिला महिला अस्पताल सहित आधा दर्जन अस्पतालों में नि:शुल्क अल्ट्रासाउंड जांच की सुविधा गर्भवती को नहीं मिल रही है। जिम्मेदारों का कहना है कि जितना बजट मिला था, वह खर्च हो गया है, अगले बजट का इंतजार है। गर्भवती बाहर महंगी फीस देकर जांच कराने को मजबूर हैं।

 

पहली मार्च को जिले में योजना लांच की गई। इसके तहत जिला महिला अस्पताल, सीएचसी मरवटिया, कप्तानगंज, भानपुर व सल्टौआ पीएचसी को लिया गया है। पीपीपी मॉडल पर संचालित योजना में तीन अल्ट्रासाउंड केंद्रों को सूचीबद्ध करते हुए योजना शुरू की गई। अधिकारियों का कहना है कि जिला महिला अस्पताल को 1500, रुधौली 250, मरवटिया 50, कप्तानगंज 170, सल्टौआ 100 तथा भानपुर को 80 जांच का बजट उपलब्ध करा दिया गया।
महिला अस्पताल स्थित एसडी डॉयग्नोस्टिक सेंटर सहित एसआर हॉस्पिटल दसिया व पटेल एसएमएच हॉस्पिटल में जांच सुविधा मुहैया कराई जा रही थी। जिस समय यह योजना शुरू हुई थी, उस समय शासन स्तर से कहा गया था कि यह रकम खर्च होने के बाद अगला बजट जारी कर दिया जाएगा। कुछ अस्पतालों में तो बजट खर्च होने के बाद जांच इस उम्मीद में कराई जाती रही कि अगला बजट आ जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। जिला महिला अस्पताल में लगभग एक माह से नि:शुल्क जांच सुविधा बंद है। यही हाल अन्य अस्पतालों का है।

 

अस्पताल को पूर्व में जो धनराशि मिली थी वह खर्च हो चुकी है। अगले बजट की मांग की गई है। बजट मिलते ही दोबारा जांच सुविधा मरीजों को मिलने लगेगी।

 

(डा. एके सिंह, सीएमएस, जिला महिला अस्पताल, बस्ती)

DSr1N8IV4AAGdJV

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.