August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

बस्ती: पुलिस मुठभेड़ में शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

 

बस्ती 25 जून।थाना पुरानी बस्ती क्षेत्र अंतर्गत चैनपुरवा ओवरब्रिज के पास गोली मारकर हुई लूट का सफल अनावरण करते हुए रात्रि दो बजे थाना कोतवाली, पुरानी बस्ती, वाल्टरगंज पुलिस व सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा अभियुक्त अभय निषाद पुत्र पुरुषोत्तम निवासी रहमतपुर थाना सादुल्लाह नगर जनपद बलरामपुर के बीच पटेल चौक के पास पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार किया गया मुठभेड़ के दौरान अभियुक्त के दाहिने पैर में गोली लगी तथा उ0नि0 रिजवान के दाहिने हाथ को गोली छूती हुई निकल गयी।

अभियुक्त के पास से एक हिरो मोटर साइकिल, एक तमंचा व कारतूस बरामद किया गया घायल अभियुक्त व उ0नि0 रिजवान अली को इलाज हेतु जिला अस्पताल बस्ती भर्ती कराया गया है थाना कोतवाली पुलिस द्वारा अन्य अग्रिम कार्यवाही की जा रही है ।माननीय न्यायालय से पुलिस अभिरक्षा रिमांड प्राप्त कर अन्य घटनाओं के अनावरण का भी प्रयास किया जाएगा।

इनके विरुद्ध अन्य जनपदों में भी अभियोग पंजीकृत हैं जिसकी जानकारी की जा रही है।अभियुक्त की निशानदेही पर अभियुक्त के साथी सौभाग्य श्रीवास्तव पुत्र राकेश कुमार श्रीवास्तव निवासी गायत्रीपुरम गोण्डा को, जनपद लखनऊ से गिरफ्तार कर लैपटाप बरामद किया गया इन अभिय़ुक्तों पर काफी कर्ज था जिसको चुकाने के लिये अन्य घटना करने की भी योजना बना रहे थे।

उक्त अभियुक्त घुम-घुम कर रेकी कर धटना को अंजाम देते थे। अभियुक्त के ऊपर पहले से ही आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं पूछताछ में अभियुक्त अभय निषाद द्वारा बताया गया कि थाना क्षेत्र पुरानी बस्ती के चैनपुरवा पुल पर हुई लूट में, मै अपने साथी सौभाग्य के साथ उसी के अपाची गाड़ी से आया था, चैनपुरवा पुल पर हडिया की तरफ से दो व्यक्ति एक मोटर साइकिल से आते हुए दिखाई दिए, जिसमें से गाडी चलाने वाले व्यक्ति एक बैग अपने मोटरसाइकिल की टंकी पर आगे रखा हुआ था ।

उन दोनों को व्यापारी समझकर हम लोग चैनपुरवा पुल पर चढ़ते समय रोकने लगे तो उक्त दोनो व्यक्ति वाहन से लड़खड़ा कर गिर गये। फिर व्यक्ति का बैग छिनने लगे जिसका विरोध करने पर मैने उसे गोली मारी और जल्दी जल्दी चैनपुरवा पुल के नीचे होते हुए हम लोग भाग गये। बैग में एक लैपटाप व कुछ कागजात थे, पैसा नही था। लैपटाप और कागज मेरे दोस्त सौभाग्य के पास है। जिस शस्त्र से लूट की घटना में गोली मारी थी, वह पिस्टल है, जो मेरे पिता की लाइसेंसी पिस्टल है, जिसे मै घटना कारित करने के पश्चात वापस घर पर रख दिया।

जनवरी माह मे पचपेडिया के पास 1 लाख 64 हजार रुपये हम लोग छिने थे, जिसमे हमारा एक साथी औऱ था पिता के लाइसेंसी पिस्टल को बरामद कर ली गयी है, जिसका मिलान करने हेतु विधि विज्ञान प्रयोगशाला भिजवाया जा रहा है । जिसकी पुष्टि होने पर पिता के विरुद्ध विधिक कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.