January 18, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती: लोगों के बैंक खातो से रकम उड़ाने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार

बस्ती|बेरोजगार युवक-युवतियों को नौकरी का झांसा देकर उनका बैंक खाता खुलवाने के साथ ही आईडी व बैंक डिटेल हासिल कर करोड़ों का फ्रॉड करने वाले गैंग का बस्ती पुलिस ने खुलासा किया है। गैंग के दो गुर्गे पुलिस ने गिरफ्तार किए हैं। करीब पांच साल से सक्रिय इस गैंग ने करोड़ों रुपये का गोलमाल किया है। पिछले एक साल में डेढ़ करोड़ रुपये की हेराफेरी सामने आई है।

एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि बस्ती शहर की आवास विकास कॉलोनी के रहने वाले रंजीत कुमार गुप्ता के खिलाफ 2017 व 2018 में धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। वह अपने साथी रितेश कुमार उर्फ विक्की निवासी दीवान बाजार निकट डीएबी डिग्री कॉलेज के पीछे वाली गली थाना कोतवाली गोरखपुर के साथ मिलकर फ्रॉड करता था। पूछताछ में दोनों ने बताया कि खुद एक कंपनी का मालिक बताकर बेरोजगार युवक व युवतियों की तलाश करते थे। उन्हें अच्छी जॉब ऑफर कर सेलरी पैमेंट के लिए खाता खुलवाने के लिए कहते थे। नया खाता खुलवाने या पुराना खाता होने पर उसकी सारी डिटेल वेरीफिकेशन के नाम पर ले ली जाती थी।

आधार कार्ड, बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड, क्रेडिट कार्ड आदि सभी दस्तावेज लेने के बाद सभी गोपनीय जानकारी वेरिफिकेशन के नाम पर यह गैंग हासिल कर लेता था। अच्छा वेतन और कमीशन की राह देख रहे सीधे-साधे लोगों की फोटो का प्रयोग कर फर्जी आईडी पर खाते भी खुलवा लेता था। इतना ही नहीं फर्जी वेबसाइट बनाकर भी यह गिरोह बैंक के क्रेडिट व डेबिट कार्ड का डाटा हासिल कर लेता था। इसके बाद इन बैंक खातों से ट्रांसफर की गई रकम फर्जी आईडी पर खोले गए खातों में ट्रांसफर कर लेते थे।

शिकायत के बाद जांच होने पर भी साफ बच निकलते थे। इस गैंग को पकड़ने के लिए एसपी साइबर व सर्विलांस सेल के साथ ही कोतवाली व एसओजी की टीम को लगा दिया। टीम की मेहनत रंग लाई और इस गैंग के मास्टरमाइंड रंजीत कुमार व उसके साथी रितेश को गुरुवार की सुबह मूड़घाट तिराहे के पास से दबोच लिया गया। खुलासे के दौरान एएसपी रवीन्द्र कुमार सिंह, सीओ सिटी गिरिश कुमार सिंह, सीओ हर्रैया शेषमणि उपाध्याय मौजूद रहे।

स्पोर्ट कार संग दस्तावेज व नगदी बरामद

एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि आरोपी रंजीत व रितेश के कब्जे से एक स्पोर्ट कार बरामद हुई है। इसके अलावा पांच आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, वोटर कार्ड, तीन एटीएम कार्ड, दिल्ली मेट्रो के दो कार्ड, सात मोबाइल, एक पासबुक, एक चेक बुक, खाता खुलवाने के फार्म, चार सिमकार्ड, ढाई हजार नगदी बरामद की गई है।

गैंगस्टर के तहत जब्त होगी संपत्ति

एसपी के अनुसार पूछताछ में सामने आया कि यह गैंग देश के विभिन्न राज्यों में अपना नेटवर्क फैलाकर वेबसाइट व ई-मेल के जरिए लोगों को ठगी का शिकार बनाता था। गैंग के गुर्गों ने करोड़ों की ठगी की बात कबूली है। बीते एक साल में लगभग डेढ़ करोड़ की ऑनलाइन ठगी की जा चुकी है। इस गैंग के सदस्यों के स्तर से अर्जित की गई संपत्ति को ट्रेस कराया जा रहा है। उनकी जब्तीकरण की कार्यवाही 14 (1) गैंगस्टर एक्ट के तहत की जाएगी। गैंग के अन्य सहयोगियों की तलाश की जा रही है।

अभियुक्त को गिरफ्तार करने में एसओजी टीम के बुद्धेश कुमार ,राम सुरेश यादव, अजय यादव, दिलीप कुमार ,आदित्य पांडेय, कोतवाली पुलिस के शिव प्रसाद गौड़, हरेंद्र यादव, सर्विलांस सेल के संतोष यादव ,अनिल कुमार का रहा विशेष योगदान।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.