January 18, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

बस्ती: सहारा बैंक के भुगतान को लेकर सदर, हर्रैया व रूधौली तहसील में एसडीएम को सौंपा प्रधानमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन

बस्ती| सहारा इण्डिया के बैंक खातो में सेवी द्वारा होल्ड लगा दिए जाने से प्रभावित हुए भुगतान को लेकर जिले के जमाकर्ताओं ने सदर तहसील के साथसाथ हर्रैया व रूधौली में उप जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा और भुगतान सुनिश्चित कराये जाने की मांग की गयी।

प्रधानमंत्री को भेजे ज्ञापन में सहारा इण्डिया के विभिन्न योजनाओं में निवेश करने वाले जमाकर्ताओं ने कहा कि वर्षो से उन्होने अपनी छोटी-छोटीबचत को सराहा इण्डिया में निवेश किया था। समय-समय पर छोटी बचत इकट्ठा होकर उन्हे मिलती रही जिससे उनके जीवन स्तर में काफी परिवर्तन भी आया। सहारा में जमा किये गये धन के भुगतान से ही तमाम पारिवारिक परेशानियों से वह पार पाते रहे है। कुछ वर्षो से सहारा इण्डिया में जमा धन पर सेवी द्वारा होल्ड लगा दिए जाने के कारण उनकी जमा पूंजी उन्हे मिल नही पा रही है। नतीजतन सभी जमा कर्ताओं के तमाम जरूरी काम प्रभावित हुए है।

जमाकर्ताओं ने प्रधानमंत्री से मांग किया कि सहारा इण्डिया परिवार की योजनाओं से देश के निम्न व मध्यम वर्ग के लोगो का जीवन स्तर मजबूत हुआ है। इस विशालतम परिवार के 12 लाख कार्यकर्ताओं के साथ 60 लाख परिवारो का जीविकोपार्जन तो चल ही रहा है साथ ही जमा धन से गरीब गुर्बा का जीवन स्तर भी मजबूत होता रहा है। मांग की गयी कि प्रधानमंत्री इस मामले में सकारात्मक पहल करते हुए सेवी द्वारा देश में करीब 8 करोड़ से अधिक जमाकर्ताओं के जमाधन को रिलीज करने का प्रयास करायें, जिससे कम्पनी में जमा धन प्राप्त होने के बाद बेरोजगारो को नया रोजगार खोलने में सहूलियत तो मिले ही साथ ही गांव के गरीब, ठेला, व्यापारियों के साथ साथ पटरी दुकानदारो को भी बचत का सही रास्ता फिर से मिल सके।

 

मांग करने वालो में राम प्रकाश चौधरी, गौरव श्रीवास्तव, बद्री प्रसाद गुप्ता, हरिश्चन्द्र यादव, रामजी गुप्ता, जेपी जायसवाल, संजय श्रीवास्तव, विवेक सिंह, शेषमणि पाण्डेय, शंकर कुमार सोनकर, संतराम शर्मा, मनोज जायसवाल समेत छह हजार से अधिक जमाकर्ताओं के स्वहस्ताक्षरित ज्ञापन बस्ती सदर, हर्रैया व रूधौली तहसील के उप जिलाधिकारियों को सौंपा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.