June 25, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

राजस्थान:जयपुर का ये राजघराना खुद को बताता है भगवान राम का 310वां वंशज

जयपुर:आज हम बात करेंगे भगवान राम के वंशज की। जिसे सुनकर आप भी हैरत में पड़ सकते हैं। जी हां, त्रेता युग के राम के वंशज इस कलयुग में भी है! आइए जानते हैं कि आखिर कौन है राम के वंशज?

जयपुर के एक राजघराने का दावा है कि, उनका घराना भगवान राम का 310वां वंशज है। यह राजघरान अपने शाही अंदाज के लिए जाना जाता है। बता दें की इस राजघराने की दिवाली मनाने का तरीका भी अलग है। इस दिन पूरा राजपरिवार काले रंग के कपड़े पहनता है और दिवाली मनाता है। वैसे तो राजपरिवार दिवाली के दिन लोगों के बीच नहीं जाता है, लेकिन काले कपड़ों में सजे राजपरिवार की फोटो उप्लब्ध है।

मालूम हो कि जयपुर के पूर्व महाराज भवानी सिंह भगवान राम के बेटे कुश के 309वें वंशज थे। यह बात जयपुर राज घराने की पद्मिनी देवी ने खुद एक टीवी चैनल को इंटरव्यू में बताई थी।

images

बता दें कि पद्मिनी देवी हिमाचल प्रदेश के सिरमौर महाराज राजेन्द्र सिंह महारानी इंदिरा देवी की बेटी हैं। पद्मिनी देवी को सिरमौर की राजकुमारी भी कहा जाता है। राजा भवानी सिंह महाराजा सवाई मानसिंह और उनकी पहली पत्नी मरुधर के पुत्र हैं। भवानी सिंह का साल 2011 में निधन हो गया था, जिसके बाद उनके वारिस पद्मनाभ सिंह का राजतिलक हुआ।

बता दें कि भवानी सिंह को सरकार ने ब्रिगेडियर के पद से नवाजा था। उनके निधन के बाद 2011 में वारिस के तौर पर पद्मनाभ सिंह का राजतिलक हुआ। जबकि लक्ष्यराज 2013 में गद्दी पर बैठे थे। लक्ष्यराज के राज तिलक में शिल्पा शेट्टी, सुनंदा थरूर, डिम्पल कपाड़िया समेत कई बड़ी हस्तियों ने शिरकत की थी।

images(2)

बताया जाता है कि 21 अगस्त, 1912 को जन्मे महाराजा मानसिंह ने तीन शादियां की थी। पहली शादी 1924 में 12 साल की उम्र में जोधपुर के महाराजा सुमेर सिंह की बहन मरुधर कंवर से हुई थी।

मानसिंह की दूसरी शादी उनकी पहली पत्नी की भतीजी किशोर कंवर से 1932 में हुई। इसके बाद 1940 में उन्होंने गायत्री देवी से तीसरी शादी की।

diya-1554550629.jpg

पद्मिनी देवी ने किया खुलासा:-
इस बात का खुलासा खुद जयपुर राज घराने की पद्मिनी देवी ने एक टीवी चैनल से इंटरव्यू के दौरान कही। बता दें, पद्मिनी देवी जयपुर के पूर्व महाराज भवानी सिंह की पत्नी हैं। पद्मिनी देवी की एक बेटी है जिसका नाम दीया कुमारी है। दीया कुमारी की शादी नरेंद्र सिंह से हुई। शादी के बाद दीया कुमार के दो बेटे और एक बेटी हुई।

 

images(1)

पद्मिनी देवी को सिरमौर की राजकुमारी भी कहा जाता है:-
पद्मिनी देवी हिमाचल प्रदेश के सिरमौर महाराज राजेन्द्र सिंह महारानी इंदिरा देवी की बेटी हैं। पद्मिनी देवी को सिरमौर की राजकुमारी भी कहा जाता है। राजा भवानी सिंह महाराजा सवाई मानसिंह और उनकी पहली पत्नी मरुधर के पुत्र हैं। भवानी सिंह का साल 2011 में निधन हो गया था, जिसके बाद उनके वारिस पद्मनाभ सिंह का राजतिलक हुआ।

images(4)

पद्मिनी देवी और भवानी सिंह की शादी करा दी गई।
इस परिवार के बारे में कहा जाता है कि सिरमौर के महाराज राजेन्द्र सिंह और जयपुर के महाराज मान सिंह द्वितीय अच्छे दोस्त थे। ये दोस्त पारिवारी थी। दोनों अक्सर पोलो खेलते थे। कुछ ही सालों के बाद ये दोस्ती प्यार में बदल गई। पद्मिनी देवी और भवानी सिंह की शादी करा दी गई। इसकी एक ही बेटी थी दीया कुमारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.