October 27, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

लखीमपुर खीरी में श्रद्धांजलि कार्यक्रम में प्रियंका गांधी, राकेश टिकैत, जयंत चौधरी समेत पहुंचे कई नेता

लखीमपुर खीरी|कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत, आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी, विभिन्न राज्यों के किसान और बड़ी संख्या में लोग तिकुनिया में मंगलवार को चार किसानों और एक पत्रकार को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘अंतिम अरदास’ कार्यक्रम में एकत्र हुए.

लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसानों की आत्मा की शांति के लिए मंगलवार को तिकुनिया में अंतिम अरदास (श्रद्धांजलि सभा) पूरी हो गई। घटनास्थल से करीब एक किमी की दूरी पर 30 एकड़ भूमि पर यह कार्यक्रम चल रहा है। कार्यक्रम में UP के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से करीब 50 हजार किसान पहुंचे हैं।

अरदास में किसान नेताओं ने कई बड़े ऐलान किए हैं। 24 अक्टूबर को देश की सभी प्रमुख नदियों में मृतक किसानों की अस्थि का विसर्जन होगा। इसी दिन 10 से 4 बजे तक चक्काजाम होगा। यूपी के हर जिले और देश के हर राज्य में अस्थि कलश यात्रा निकाली जाएगी। तिकुनिया में घटनास्थल पर 5 किसानों की शहीदी स्मारक बनाया जाएगा।

राकेश टिकैत का कहना है कि अभी तक रेड कार्पेट गिरफ्तारी हुई है। आरोपियों को गुलदस्ता देकर बुलाया गया। मंत्री के रहमो-करम वाले पुलिस कैसे पूछताछ करेंगे? जब तक बाप-बेटा जेल में बंद नहीं होंगे, जब तक मंत्री का इस्तीफा नहीं होगा। शांति पूर्व आंदोलन जारी रहेगा।

अरदास में किसानों के 5 बड़े फैसले-

  1. 15 अक्टूबर प्रधानमंत्री का पूरे देश में पुतला फूंका जाएगा।
  2. 18 अक्टूबर में ट्रेनें रोकी जाएंगी।
  3. 24 अक्टूबर को अस्थि विसर्जन होगा।
  4. 5 मृतक किसानों का शहीदी स्मारक बनाया जाएगा।
  5. 26 को लखनऊ में महापंचायत होगी।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को उनके पद से बर्खास्त नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी.

प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से कहा, ‘आज मैं अंतिम अरदास की सभा में आई हूं, इसलिए कुछ बोलूंगी नहीं, हां यह जरूर है कि अंतिम सांस तक किसानों के लिए न्याय की लड़ाई लड़ूंगी.’प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, “शहीद किसानों एवं पत्रकार रमन कश्यप जी की अंतिम अरदास में शामिल होकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. इस संघर्ष का अंत तभी होगा जब किसानों एवं पत्रकार रमन कश्यप जी को न्याय मिलेगा.”

प्रियंका गांधी को मंच पर जगह नहीं मिली
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा नीचे से बैठकर किसानों को सुनती नजर आईं। प्रियंका गांधी को मंच पर जगह नहीं मिली।

 

जयंत चौधरी को भी मंच पर नहीं दी गई जगह
राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी तिकुनिया पहुंचेे। जयंत किसानों की आत्मा की शांति के लिए अंतिम अरदास कार्यक्रम में शामिल हुए।जयंत चौधरी को भी मंच पर जगह नहीं दी गई।

संयुक्त किसान मोर्चा की दो टूक
तिकुनिया में संयुक्त किसान मोर्चा ने मंच से कहा कि हम प्रियंका गांधी, दीपेंद्र हुड्डा का स्वागत करते हैं। मगर हम लोगों का यह निर्णय है कि किसान संयुक्त मोर्चा का मंच किसी राजनैतिक व्यक्ति से साझा नहीं किया जाएगा।

जयंत चौधरी को हिरासत में लेने पर भड़के रालोद कार्यकर्ता

लखीमपुर खीरी किसानों की अरदास में जाते समय रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी को बरेली में हिरासत में लिए जाने पर रालोद कार्यकर्ता भड़क गए। रालोदियों ने बड़ौत-बरनावा मार्ग पर सांकेतिक जाम लगाते हुए जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

रालोद के जिला महासचिव राजू तोमर सिरसली के नेतृत्व में रालोद के कार्यकर्ता एवं ग्रामीण बिनौली गांव में बस स्टैंड पर सांकेतिक जाम लगाकर रोष जताया। इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। जयंत चौधरी को रिहा करने की मांग की। राजू तोमर ने कहा कि सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है। पुलिस प्रशासन ने जयंत चौधरी को हिरासत में लेकर साबित कर दिया है प्रदेश में अघोषित आपातकाल लगा हुआ है। केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों की कोई सुनवाई नहीं कर रही है। विरोध प्रदर्शन कर जाम लगाने वालों में श्रीपाल धामा, गगन धामा, गुलवीर धामा विपिन कुमार, जगशौरण, पप्पू मुखिया, योगपाल तोमर, भोपाल सिंह, रामपाल सिंह, सुनील, बिल्लू, खालिद आदि शामिल रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.