August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

लव जिहाद: गोण्डा में दुष्कर्म के आरोपी दरोगा को वकीलों ने पीटा, एसपी ने किए सस्पेंड

गोंडा जिले की नगर कोतवाली में तैनात एक दरोगा ने अपना नाम बदल कर महिला से दुष्कर्म किया था। जानकारी होने पर महिला ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। एसपी ने मामले में संज्ञान लेते हुए दरोगा को निलंबित कर दिया है। आरोपी को गुरुवार को जेल भेज दिया गया।

गोण्डा 16 जुलाई |दुष्कर्म के आरोपी दरोगा वसीम अहमद को गुरुवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में उसे पेश किया। इसी दरम्यान वकीलों ने दरोगा को पकड़कर पीट दिया। पुलिस कर्मियों ने घेराबंदी कर दरोगा को बचाया। आरोप है कि उसने धर्म छिपाकर युवती के साथ 3 साल तक दुष्कर्म किया।

3 साल तक शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म
दरोगा वसीम अहमद में कटरा थाने में तैनात था। उस आरोप है कि उसे नाम और धर्म छुपा कर उसके साथ प्रेम प्रसंग किया। फिर शादी का झांसा देकर 3 साल तक दुष्कर्म करता रहा। 3 बार गर्भपात भी करवाया। जब युवती ने शादी करने को कहती तो किसी न किसी बहाने मना कर देता। लेकिन युवती ने जब शादी का दबाव बनाया तो दरोगा ने उसे जान से मारने कोशिश की।

दरोगा के घर वालों ने फिर युवती से शादी से मना कर दिया। इसके बाद युवती ने दरोगा के खिलाफ कोतवाली में शिकायत की। इसके बाद युवती को उसकी असलियत मालूम हुई। पीड़ित महिला का आरोप है कि दरोगा का कई अन्य महिलाओं के साथ संपर्क चल रहा है।

 

दरोगा को एसपी ने किया था सस्पेंड
पीड़ित ने इस मामले को एसपी आकाश तोमर से मिली। उसने न्याय की गुहार लगाई। एसपी ने आदेश पर दरोगा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज किया गया। उसे सस्पेंड भी कर दिया गया। मामले की जांच महिला थाना प्रभारी ट्रेनी सीओ शिल्पा वर्मा को सौंप दी। इसके बाद उसे गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

 

मामले में सिटी लक्ष्मीकांत गौतम में कहा,” बीते दिनों कोतवाली नगर में एक महिला ने दरोगा वसी अहमद पर शादी का झांसा देकर जाति व धर्म छुपाकर दुष्कर्म किया था। उसके तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। उसको निलंबित करते हुए आज गिरफ्तार कर लिया गया है।”

वर्दी पर लगी नेम प्लेट से पता लगा

जिले के कटरा थाने में तैनात रहकर दरोगा वसी अहमद ने एक तीन बच्चों की मां से अपना नाम रिंकू शुक्ला बता कर अपने जाल में फंसा लिया। तीन वर्षों से शादी का झांसा देकर शारीरिक सम्बन्ध बनाता रहा। एक वर्ष के बाद महिला ने दरोगा को वर्दी में लगे नेम प्लेट से जानकारी हुई की दरोगा मुस्लिम है। इसके बाद भी महिला शादी के लिये तैयार रही लेकिन दरोगा बहन की शादी करने के बाद, शादी का झांसा देकर संबंध बनाता रहा।

पीड़िता ने आरोप लगाया कि इसके बाद दरोगा दूसरी महिला से संबंध बनाने लगा। पीड़ित महिला ने जब शादी का दबाव बनाया तो उसने साफ इंकार कर दिया। उसके बाद मोबाइल का स्विच बंद कर लिया।

नाराज महिला की शिकायत पर धर्म बदलने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। एसपी आकाश कुमार तोमर ने मामले को संज्ञान में लेते हुए दरोगा वसी अहमद को निलंबित कर दिया। दरोगा के निलंबित होते ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया और जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.