September 24, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

वायरल खबर: अंकिता सिंह हत्याकांड में दूसरा आरोपी नईम अंसारी गिरफ्तार, शाहरुख के लिए लेकर आया था पेट्रोल

झारखंड/दुमका: झारखंड के दुमका की बेटी अंकिता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई. शाहरुख नामक एक मनचले ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं छात्रा रही करीब 17 साल की नाबालिग को युवती के खिड़की से पेट्रोल डाल कर जिंदा जला दिया था जिसके बाद इलाज के दौरान अंकिता की मौत हो गई. इस हादसे के ठीक बाद आरोपी शाहरुख को मृतका का बयान लेकर पुलिस ने हिरासत में ले लिया था पर मनचले की हरकत देख खुद पुलिस वाले भी दंग रह गए.

 

अंकिता सिंह हत्याकांड को लेकर पूरे देश में गुस्सा है। अंकिता की हत्या के मुख्य आरोपी शाहरुख की मुस्कुराते हुए तस्वीर और अंकिता का आखिरी बयान सामने आने के बाद लोगों में गुस्सा दिखाई दे रहा है। सोशल मीडिया पर भी लोग अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं। इस बीच शाहरुख के दोस्त नईम अंसारी उर्फ छोटू खान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि शाहरुख के लिए नईम ही पेट्रोल लेकर आया था, जिसे अंकिता के ऊपर डालकर आग लगा दी गई थी। एसपी अंबर लकड़ा ने कहा कि हत्याकांड के दूसरे आरोपी नईम उर्फ छोटू खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी को दुमका कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। इसके पहले मुख्य आरोपी शाहरुख को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी थी।

पुलिस कस्टडी में मुस्कुरा रहा है झारखंड की बेटी को जिंदा जलाने वाला शाहरूख, फोटो वायरल

 

अंकिता को इंसाफ दिलाने के लिए दुमका दूसरे दिन भी बंद
अंकिता की हत्या के विरोध में झारखंड की उपराजधानी दुमका शहर दूसरे दिन भी बंद है। धारा 144 लागू है। अंकिता पर पेट्रोल डालकर आग लगाने वाला शाहरुख अब जेल में है और दूसरा आरोपी भी पुलिस की गिरफ्त में है। लेकिन लोग उसे जल्द से जल्द सजा दिलाने की मांग को लेकर सड़कों पर हैं। सोशल मीडिया पर भी इस कांड को लेकर अभियान चल रहा है। ट्विटर पर ‘अंकिता हम शमिंर्दा हैं’ का हैशटैग ट्रेंड कर रहा है।

 

अंकिता को दादा ने दी मुखाग्नि
सोमवार सुबह दुमका के जरूआडीह मुहल्ले से अंकिता की अंतिम यात्रा पुलिस के भारी पहरे के बीच निकली। अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल रहे, जो अंकिता के हत्यारे को फांसी देने की मांग कर रहे थे। उसके दादा अनिल सिंह ने मुखाग्नि दी, तो वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो उठीं। पिता, भाई और परिजन दहाडें मारकर रोने लगे। अंतिम यात्रा में जिले के डीसी रविशंकर शुक्ला और एसपी अंबर लकड़ भी मौजूद रहे। लोग इस बात पर भी गुस्से में हैं कि अंकिता जब अस्पताल में जिंदगी-मौत से जूझ रही थी, तब सरकार के किसी नुमाइंदे ने उसकी और उसके परिजनों की सुध नहीं ली।

 

अंकिता पर दोस्ती करने के लिए दबाव बना रहा था शाहरुख: मृतक की बहन
अंकिता की बहन ने बताया कि पिछले 10-15 दिनों से शाहरुख कुछ ज्यादा ही उग्र हो गया था। वह हाथ धोकर अंकिता के पीछे लग गया था। वह बार-बार बात करने के लिए और दोस्ती करने के लिए दबाव बना रहा था। इसपर अंकिता ने कहा कि तुम अलग धर्म से हो इसलिए हमारी दोस्ती नहीं हो सकती है।

 

सीएम हेमंत ने केस को फास्ट ट्रैक में ले जाने का दिया निर्देश
सीएम हेमंत सोरेन ने अंकिता को श्रद्धांजलि देते हुए पीड़ित परिजनों को 10 लाख रुपये की सहायता देने का ऐलान किया। सीएम सोरेन ने ट्वीट कर कहा- ‘अंकिता बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि। अंकिता के परिजनों को रु 10 लाख की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फ़ास्ट ट्रैक से निष्पादन के लिए निर्देश दिया है। पुलिस महानिदेशक को भी उक्त मामले में एडीजी रैंक अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने हेतु निर्देश दिया है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.