January 19, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

वाराणसी: पूर्व भाजपा विधायक की छेड़खानी के आरोप में पिटाई, देखें वीडियो

वाराणसी|चौबेपुर भगतुआ (अमौली) गांव स्थित एक विद्यालय के चेयरमैन ने स्कूल प्रांगण में स्कूल की छात्रा के साथ गलत आचरण की जानकारी होने पर छात्रा के परिजन स्कूल पहुंंच गए और पूछताछ के बाद मारपीट की और घटना की वी‍डियो रिकार्डिंग भी वायरल कर दी। पूरा मामला पूर्व विधायक से जुड़ा होने की वजह से देखते ही देखते वीडियो रिकार्डिंग वायरल हो गई। वहीं भाजपा के पूर्व विधायक की पिटाई के प्रकरण के संबंध में सीओ पिंडरा अभिषेक कुमार पांडेय ने जागरण को बताया कि वायरल वीडियो के संदर्भ में पीडित पक्ष और पूर्व भाजपा विधायक के पक्ष से कोई भी सामने नहीं आया है। इस मामले में जो भी स्थिति सामने आएगी उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

चिरईगांव विधानसभा के तीन बार विधायक रहे मायाशंकर पाठक का घर भगतुआ में है। उन्होंने गांव बलुआ  पहड़िया मार्ग पर इंजीनियरिंग कालेज खोल रखा है। आरोप है कि छात्रा संग गलत आचरण की परिजनों को जानकारी हुई तो स्कूल पहुंंच कर आपत्ति की तो माफी मांगी। विरोध के दौरान आक्रोशित परिजनों ने उनकी परिसर में ही पिटाई कर दी। इस संबंंध में घटना का वीडियो शनिवार से वायरल हो रहा है।

वहीं पूर्व भाजपा विधायक संग मारपीट को लेकर दो वीडियो सामने आए हैं जिसमें एक विद्यालय के उनके चैंबर में मारपीट की जा रही है तो दूसरे में उनको परिसर में खुले में कुर्सी पर बैठाकर मारने पीटने का वीडियो सामने आया है। वीडियो में पूर्व विधायक जहां गलत आचरण किए जाने को लेकर माफी मांगते नजर आ रहे हैं वहीं आक्रोशित लोगों द्वारा कई बार उनके साथ मारपीट और गाली गलौज किए जाने का वाकया कैमरे में कैद हुआ है।

 

 

इससे पूर्व भी कल्याण सिंह सरकार में विधायक रहे मायाशंकर पाठक वाराणसी में कचहरी में एसएसपी कार्यालय के सामने पत्रकारों से मारपीट के साथ पथराव भी किये थे। यह मामला बाद में शासन तक पहुंंचा था। वहीं पार्टी के टिकट पर दोबारा जीतने के बाद विद्यालय खोल लिया। इस आशय का वीडियो वायरल होने के बाद क्षेत्र में काफी चर्चा है। वहीं मामले को लेकर चौबेपुर थाना प्रभारी एसके शुक्‍ला ने जागरण को बताया कि इस बाबत अभी कोई तहरीर नहीं मिली है, वीडियो के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।

वहीं इस मामले में एमपी इंस्टिट्यूट के चेयरमैन व पूर्व विधायक मायाशंकर पाठक ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा मुझसे राजनैतिक व जातिगत विद्वेष के कारण मुझे बदनाम करने की नीयत से यह कार्य किया है। उन्होंने एक वीडियो में सफाई दी है कि आठ दिनों पूर्व एक छात्रा से गणतंत्र दिवस पर भाषण देने के लिए तैयार किया। सही ढंग से नही बोल पाने के कारण मैंने डांटकर भगा दिया। इसके बाद शनिवार को 15 की संख्या में जाति विशेष के लोगोंं ने माफी मांगने को कहा, मैंने कहा डांटना अगर गलत है तो माफी मांगता है। इसके बाद लोगोंं ने मेरे साथ मारपीट की, ये लोग राजनैतिक व जातिगत विद्वेष के कारण छवि खराब करने के लिए किया। मेरा वीडियो बनाकर छवि खराब करने के किये वीडियो वायरल किया, यह सोची समझी साजिश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.