August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

शिंजो आबे के हत्यारे की विपक्ष ने अग्निवीर से की तुलना, कहा- वो भी ले चुका था ट्रेनिंग, सबक ले सरकार

नई दिल्ली, 08 जुलाईःसंजय दत्त की सुपर डुपर हिट रही बॉलीवुड फिल्म खलनायक में एक सीन है, जिसमें चुनावी सभा के दौरान एक नेता की हत्या कैमरे में बंदूक लगाकर खलनायक करता है। ठीक यही सीन दोहराया गया आज जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के हत्यारे ने। शिंजो आबे के हत्यारे ने भी चुनावी यात्रा के दौरान कैमरे की आड़ में उनके सीने को गोलियों से छलनी कर दिया, ठीक खलनायक स्टाइल में। इस हत्या को अंजाम देने वाला लगता है संजय दत्त की खलनायक फिल्म का फैन है, या फिर हत्या करने से पहले उसने ‘खलनायक’ फिल्म से हत्या का तरीका सीखा है, तभी तो उसने उसी तरीके से हत्या को अंजाम दिया है।

गौरतलब है कि ‘खलनायक’ मूवी का बहुत बड़ा फैन लग रहा शिंजो आबे के संदिग्ध हत्यारे तेत्सुया यामागामी (Tetsuya Yamagami) को मौके पर ही पकड़ लिया गया था। गौरतलब है कि गोली लगने के बाद 67 वर्षीय शिंजो आबे को प्लेन से तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया था, जहां इलाज के दौरान उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

जापान के एक मीडिया हाउस एनएचके ने उस घटना का एक फुटेज जारी किया है, जिसमें नारा में एक मुख्य रेलवे स्टेशन के बाहर शिंजो आबे भाषण देते हुए दिखायी दे रहे हैं। जब गोली की आवाज सुनायी तो तब शिंजो आबे खड़े थे और गहरे नीले रंग के कपड़े पहने हुए थे। गोली लगने के दौरान उन्होंने अपनी मुठ्ठी उठायी हुई थी। फुटेज में ही दिखायी दे रहा है कि ठीक इसके बाद शिंजो आबे सड़क पर गिर जाते हैं और सुरक्षाकर्मी तेजी से उनकी तरफ भागते हैं। शिंजो ने गोली लगने के बाद सीने पर हाथ रखा हुआ था और उनकी कमीज खून से लथपथ हो गयी थी।

फुटेज में दिख रहा है कि इसके अगले ही पल सुरक्षाकर्मी स्लेटी रंग की कमीज पहने एक व्यक्ति को दबोचते हैं और जमीन पर एक बंदूक भी गिरी हुई दिखायी देती है। पुलिस ने शिंजो पर गोली चलाने वाले संदिग्ध को गिरफ्तार करने की पुष्टि की। ‘खलनायक’ के फैन लग रहे व्यक्ति की पहचान 41 वर्षीय तेत्सुया यामागामी के तौर पर की गयी है।

मीडिया में सामने आ रही जानकारी के मुता​बिक संदिग्ध हमलावर तेत्सुया यामागामी 2000 में तीन साल के लिए समुद्री आत्मरक्षा बल (Self-Defence Force) में सेवाएं भी दे चुका है। जापानी मीडिया में आ रही जानकारी के मुताबिक संदिग्ध हमलावर यामागामी शिंजो आबे से असंतुष्ट था और उनको जान से मारना चाहता था, इसलिए उसने इस घटना को अंजाम दिया।

जापानी स्थानीय मीडिया हाउस को चश्मदीद गवाहों ने बताया कि हमलावर तेत्सुया यामागामी ने शिंजो आबे पर गोली दागने केक बाद घटनास्थल से भागने की कोशिश नहीं की थी, बल्कि उसने बंदूक नीचे रख दी और आबे के सुरक्षाकर्मियों द्वारा पकड़े जाने पर वह मौके पर ही रहा। कहा जा रहा है कि आबे पर जिस हथियार से हमला किया गया, वह सेल्फ मोडिफाइड गन थी। जबकि जापान की नारा पुलिस ने पहले इसे शॉटगन बताया था।

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे हत्या से पूरी दुनिया हैरान है। लोग यकीन नहीं कर पा रहे हैं कि जापान जैसे शांतिप्रिय देश में जहां गन कल्चर का बिल्कुल चलन नहीं है वहां एक सिरफिरे व्यक्ति ने जापान के सबसे चर्चित प्रधानमंत्री रहे शिंजो आबे को मौत के घाट उतार दिया। इस बीच भारत में शिंजो आबे की हत्या के बाद राजनीति शुरू हो गई है। इस हत्याकांड को हाल में ही भारत सरकार द्वारा लाए गए अग्निवीर स्कीम से जोड़ा जा रहा है।

अग्नीवीर से की तुलना

समाजवादी पार्टी के एक नेता ने इस घटना को अग्निपथ स्कीम से जोड़ते हुए कहा है कि इस हत्या के लिए जिम्मेदार शख्स सैन्य ट्रेनिंग ले चुका है। वह पेंशन न पाने वाले सेना का हिस्सा रह चुका है। वहीं कांग्रेस के भी एक राष्ट्रीय नेता ने कहा कि शिंजो आबे को गोली मारने वाला व्यक्ति यामागामी जापान की JMSDF यानी बिना पेंशन वाली सेना में काम कर चुका है। विपक्षी नेताओं की इन प्रतिक्रियाओं पर बीजेपी ने कड़ी नाराजगी जताई है।

शिंजो आबे पर चलाई गोली

गौरतलब है कि आज यानी 8 जुलाई को जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे की जापान के नारा शहर में तब हत्या कर दी गई जब वे एक चौक पर भाषण दे रहे थे। सुबह 11:30 बजे जैसे ही आबे ने बोलना शुरू किया हमलावर ने उन पर दो गोलियां चलाईं। पुलिस ने बताया एक गोली उनके गले और दूसरी उनकी छाती में लगी। शिंजो आबे को तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

JMSDF का पूर्व सदस्य है हत्यारा

अब तक की जानकारी के मुताबिक शिंजो आबे को गाली मारने वाले शख्स का नाम तेत्सुयू यामागामी है और उसकी उम्र 41 साल है। यामागामी जापान मेरिटाइम सेल्‍फ डिफेंस फोर्स (JMSDF) का पूर्व सदस्य है। इस फोर्स का काम जापान के समुद्री तटों की सुरक्षा करना है।

कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट

इसे लेकर कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने ट्वीट किया है कि शिंजो आबे को गोली मारने वाला यामागामी जापान की SDF यानी बिना पेंशन वाली सेना में काम कर चुका था। उनके इस ट्वीट को लेकर बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है। बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने लिखा है कि कांग्रेस के आधिकारिक प्रवक्ता ने शिंजो आबे की दुखद मौत को भी घटिया राजनीति का जरिया बना लिया है। मुझे हैरानी है कि सोनिया और राहुल गांधी इस व्यक्ति को इसके पद से हटाएंगे. कुछ तो सीमा तय की जानी चाहिए।

 

कांग्रेसी नेता ने दिया जवाब

इसका जवाब देते हुए कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने कहा, ‘जाकि रही भावना जैसी प्रभु मूरत देखी तिन तैसी। अब भाजपा के प्रवक्ता को जापान की SDF की जानकारी में राजनीति लग रही? इस वक्त शिंजो आबे जी की दुःखद मृत्यु हो चुकी है इस से ज़्यादा कुछ नहीं कहूंगा ईश्वर तुम्हें सदबुद्धि दे।

कांग्रेस नेता उदित राज ने ट्वीट कर लिखा कि “जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे की हत्या करने वाला अग्निवीर था।” उदित राज के इस ट्वीट पर लोग भड़क गये। कुछ लोगों ने उनके इस ट्वीट पर आक्रोश व्यक्त किया है तो कुछ लोगों ने उदित राज के साथ ही कांग्रेस को घसीटते हुए जमकर खिंचाई की है।

सपा नेता ने कहा, सबक लेना जरूरी

वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नितेंद्र सिंह यादव ने कहा कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री की दुखद मृत्यु के लिए जिम्मेदार एक बिना पेंशन पाने वाला सेना का एक जवान है। जापान की घटना से भारत सरकार को सबक लेना चाहिए जो अग्निवीरों को 4 साल की नौकरी दी जा रही है वह ट्रेंड होते हैं, और ऐसे में कहीं ना कहीं इस घटना से सबक लेना जरूरी है।

TMC के मुखपत्र ‘जागो बांग्ला’ ने शिंजो आबे की हत्या को अग्निपथ स्कीम से जोड़ा..

तृणमूल कांग्रेस ने जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे ( Shinzo Abe) की हत्या को भारत में शुरू की गई अग्निपथ योजना से जोड़ा है. टीएमसी के मुखपत्र (TMC Mouthpiece) जागो बांग्ला के जरिए शिंजो आबे की हत्या को सेना भर्ती की नई स्कीम अग्निपथ से जोड़कर लिखा है. जागो बांग्ला (Jago Bangla) ने लिखा है कि जापान के पूर्व पीएम के हत्यारे को जिस तरह से पेंशन नहीं मिल रही थी, भारत में अग्निपथ स्कीम भी कुछ इसी राह पर है.

नेताओ के अग्निवीर वाले ट्वीट पर भड़के लोग पूछने लगे ऐसे सवाल

लोगों की प्रतिक्रियाएं: ओम प्रकाश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘फिर भी आप लोग उनकी हत्या से इतना खुश क्यों हैं? आपके चीन में भी खुशी मनाई जा रही है।’ दीपक शांडिल्य नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ऐसे ही लोगों की वजह से कांग्रेस अपना वजूद खोती जा रही है, कई बार तो लगता है कि ऐसे लोग पार्टी को सिर्फ नुकसान पहुंचाने के लिए उसमें शामिल होते हैं, पार्टी के शीर्ष लोगों को संज्ञान लेना चाहिए।’

 

दिग्विजय सिंह राणा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘राजीव गांधी की हत्या करने वाला तो अग्निवीर नहीं था! इंदिरा गांधी की हत्या करने वाले अग्निवीर नहीं थे, सरदार बेअंत सिंह की हत्या करने वाला अग्निवीर नहीं था! पता नहीं किसने आपको सांसद बनाया!’ योगेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘किसी की हत्या गोली मार कर दी गई, उसके लिए शांति की प्रार्थना करना तो दूर, यहां राजनीति कर भारत की अग्निवीर योजना को टारगेट करने और जनता को भड़काने के लिए भड़काऊ ट्वीट करने पर इस देशविरोधी नेता पर कार्रवाई क्यों होनी चाहिए?’

 

रंजन नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आप राजनीति कीजिए देश के लिए लेकिन आपकी इतनी छोटी सोच होगी, इसकी भनक भी मुझे नहीं थी, यदि बाबा साहेब आज होते तो आपको फटकार लगाते।’ इंद्राज पुरी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘यही हरकतें है तुम्हारी, कुछ नहीं हो पा रहा है वरना अब तक कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए होते।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.