May 20, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

संतकबीरनगर: घूसखोर ट्रेजरी सहायक लेखाकार गिरफ्तार, घसीटते हुए ले गई एंटी करप्शन की टीम

संतकबीरनगर| जिले के ट्रेजरी कार्यालय में तैनात सहायक लेखाकार अवधेश मिश्र को एंटी करप्शन विभाग गोरखपुर की टीम ने मंगलवार को 20 हजार रुपये घूस लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया। गिरफ्तारी से बचने के लिए सहायक लेखाकार ने बचने की कोशिश की तो उसे घसीटते हुए ले जाना पड़ा। इस कार्रवाई से ट्रेजरी कार्यालय में हड़कम्प मच गया। सभी कर्मचारी सकते में आ गए। एंटी करप्शन टीम सहायक लेखाकार को लेकर सीधे कोतवाली पहुंची, जहां मुकदमा दर्ज कराने के साथ ही साक्ष्य इकट्ठा करने में जुट गई।

 

 

जानकारी के अनुसार, धनघटा क्षेत्र के खाजों गांव निवासी रजनीश राय के पिता जीत बहादुर राय असम पुलिस में हेड कांस्टेबल के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। वर्ष 2014 में उनकी मृत्यु हो गई। इसके रजनीश की मां इंद्रावती राय को पेंशन मिल रही है। नवंबर 2021 में मां के जीवित होने का प्रमाणपत्र जमा करने रजनीश ट्रेजरी कार्यालय गए तो सहायक लेखाकार अवधेश मिश्रा ने उन्हें बताया कि उनकी मां का एक अप्रैल 2016 से 31 नवंबर 2021 तक का 1,24,520 रुपये का एरियर बना है। आरोप है कि एरियर का भुगतान करने के एवज में सहायक लेखाकार ने 20 हजार रुपये की रिश्वत मांगी। घूस नहीं देने पर दौड़ाते रहे। परेशान होकर रजनीश ने अवधेश की शिकायत 14 जनवरी को एंटी करप्शन गोरखपुर कार्यालय में कर दी।

 

एंटी करप्शन गोरखपुर की टीम के प्रभारी निरीक्षक चंद्रेश यादव ने बताया कि खाजों गांव निवासी रजनीश राय की शिकायत की प्रारंभिक जांच निरीक्षक यूपी सिंह से कराई गई। डीएम से मांग करने पर सरकारी गवाह के रूप में कलेक्ट्रेट के प्रशासनिक अधिकारी सुधीर श्रीवास्तव और वाणिज्यिक कर अधिकारी अनिल त्रिपाठी को नामित किया गया। सरकारी गवाह के साथ एंटी करप्शन की टीम ट्रेजरी कार्यालय पहुंची, जहां शिकायतकर्ता से 20 हजार रुपये घूस लेते सहायक लेखाकार को रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया। कोतवाल विजय नारायन प्रसाद ने बताया कि तहरीर मिलने के बाद आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.