June 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

संतकबीरनगर : फिरौती की रकम न मिलने पर 8 साल के मासूम की हत्या, किडनैपर्स ने किए शव के 15 टुकड़े

मृतक मासूम कृष्णा

मृतक मासूम कृष्णा

संतकबीर नगर 15 अप्रैल | मेंहदावल थानाक्षेत्र के करमैनी गांव में मासूम की नृशंस हत्या कर दी गई। गुरुवार को उसका शव टुकड़े में अलग-अलग खेत में मिला। मासूम छह अप्रैल से गायब था। पुलिस गांव के दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। साथ ही हत्या की वजह पता करने में जुटी है। हत्यारों की हैवानियत देखकर हर कोई हतप्रभ है।

गांव के चंद्रभान साहनी के तीन बेटों में से दूसरे नंबर का बेटा छह वर्षीय कृष्णा छह अप्रैल की सुबह करीब सात बजे घर से संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गया था। खोजबीन में पता नहीं चलने पर स्वजन ने मेंहदावल पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज किया। पुलिस तलाश में जुटी थी कि मंगलवार की देर शाम एक आडियो वायरल हुआ, जिसमें मासूम की हत्या की बात कही गई।

आडियो में संदिग्ध आरोपित का नाम सामने आने के बाद पुलिस ने बुधवार को उसे हिरासत में लिया, लेकिन उसने हत्या की बात स्वीकार नहीं की। इस बीच गुरुवार को दोपहर लगभग एक बजे ग्रामीणों ने गेहूं के खेत में बच्चे का अवशेष देखा। ग्रामीणों की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक जयवर्धन सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे। खोजबीन शुरू की गई तो दो खेतों से मासूम का शव टुकड़ों में मिला। शव देखते ही मासूम के स्वजन बदहवास हो गए। उनकी आशंका के आधार पर पुलिस ने गुरुवार को एक और आरोपित को हिरासत में लिया।

घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस अधीक्षक डा. कौस्तुभ ने स्वजन से बातचीत की तथा घटना के पर्दाफाश के साथ आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। गांव में मेंहदावल, बखिरा, धर्मसिंहवा पुलिस के साथ एसओजी की टीम लगाई गई है।

 

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मृतक के परिवार की तरफ जिन दो संदिग्धों पर आशंका जताई गई है, उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही पूरे मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

डा. कौस्तुभ, पुलिस अधीक्षक

 

यह हुई थी घटना: करमैनी गांव के चंद्रभान साहनी का सात वर्षीय पुत्र कृष्णा छह अप्रैल की सुबह करीब सात बजे अपने घर से संदिग्ध परिस्थितयों में गायब हो गया था। स्वजनों ने उसकी काफी खोजबीन की लेकिन वह नहीं मिला। बाद में मेंहदावल पुलिस को सूचना दी। तहरीर के आधार पर पुलिस ने गुमशुदगी का मुकदमा पंजीकृत किया। इस मामले में पुलिस जांच पड़ताल में जुटी थी, लेकिन कोई तथ्य सामने नहीं आया।

 

आडियो वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस: बताया जा रहा है कि 12 अप्रैल को एक आडियो वायरल हुआ जिसमें मासूम की हत्या की बात कही गई। आडियो में संदिग्ध आरोपित का नाम सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लिया। पुलिस ने सख्ती दिखाई तो गुरुवार की दोपहर में उसने हत्या कर शव फेंके जाने की बात कबूल की। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खोजबीन शुरू की तो मासूम का शव दो स्थानों से टुकड़ों में बरामद हुआ।

आरोपितों के घर पर चले बुलडोजर: मासूम की हत्या के बाद से स्वजन के रोने- बिलखने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शव मिलने के बाद नाराज परिवार व गांव के लोग आरोपितों के घर पर पहुंच गए। उनके साथ मारपीट करने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने मामले को संभाल लिया। गांव के लोग आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा देने और उनके घर पर बुलडोजर चलाने की मांग की।

घटना के पर्दाफाश में मददगार साबित होगा वायरल आडियो: घटना के संदर्भ में 12 अप्रैल को वायरल आडियो सामने आया, जिसमें कृष्णा के पिता से एक संदिग्ध आरोपित यह बात करते हुए सुनाई दिया कि इस घटना को लंगड़ा नाम के एक आरोपित ने अपहरण पैसे के लिए किया था। लेकिन जब तक वह पहुंचता तब तक मासूम की लोगों ने हत्या कर दी। जिससे सुपारी मांगने की बात अधूरी रह गई। घटना को अंजाम तक पहुंचाने वाले लोगों में ही कहासुनी हुई और एक आरोपित ने कृष्णा के पिता से फोन करके घटना के बारे में जानकारी दे दी। जिसके बाद पुलिस के हाथ आडियो लगा और मामले की जांच पड़ताल में तेजी आई। हिरासत में लिए गए दो आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। लेकिन अभी तक घटना का उद्देश्य पूरी तरह से सामने नहीं आया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर पुलिस आडियो वायरल होने के बाद सक्रिय हुई होती तो घटना का पहले ही पर्दाफाश हो जाता।

 

छावनी में तब्दील रहा गांव: मासूम की हत्या की सूचना मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक डा. कौस्तुभ, अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, सीओ अंबरीश भदौरिया, मेंहदावल, बखिरा, धर्मसिंहवा पुलिस के अलावा मौके पर एसओजी की टीम भी पहुंच गई। फोरेंसिक टीम ने खेत में पहुंचकर साक्ष्य इकट्ठा किया। गांव के बाहर पुलिस जगह-जगह घटना के उद्देश्य व साक्ष्य को संकलित करने में जुटी रही। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल को लगाया गया है। फिलहाल मामला शांत है, लेकिन लोगों में आरोपितों के खिलाफ काफी नाराजगी है।

मेंहदावल के प्रभारी निरीक्षक जयवर्धन सिंह ने बताया कि घटना के संदर्भ में स्वजन से तहरीर प्राप्त हुई है। दो आरोपितों कौसलेंद्र पांडेय उर्फ लंगड़ा उर्फ नितिन निवासी करमौनी और दिलीप साहनी निवासी बढ़या ठाठर के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है। आरोपितों से पुलिस पूछताछ कर रही है। घटना में शामिल अन्य लोगों के बारे में जानकारी ली जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.