January 21, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

सिद्धार्थनगर: क्रूर पिता की क्रूरता का शिकार हुई मासूम बेटी, मदद को आगे बढे़ हाथ

मोहाना थाना क्षेत्र के बर्डपुर नंबर तीन के टोला भैंसाही निवासी चंद्रभान पत्नी की मृत्यु के बाद दूसरी शादी करना चाह रहा था। दो साल की बच्ची होने के कारण लड़की वाले शादी से इनकार कर देते थे। सोमवार को उसने शादी में बाधा बन रही दो वर्षीय पुत्री प्रिया को सड़क पर पटक दिया। गंभीर हाल में उसे जिला अस्पताल से गोरखपुर और फिर लखनऊ इलाज के लिए भेजा गया।

सिद्धार्थनगर। पिता की क्रूरता की शिकार दो साल की प्रिया के इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ परिजन बुधवार शाम उसे लखनऊ से वापस गांव लेकर आ गए हैं। चिकित्सक ने बच्ची का सीटी स्कैन कराने को कहा था। इसकी बृहस्पतिवार सुबह लोगों को इसकी जानकारी हुई तो मदद को हाथ आगे बढे़। ग्राम प्रधान ने सीटी स्कैन के खर्च के साथ ही इलाज के लिए अतिरिक्त रकम दी। थाना प्रभारी और पुलिसकर्मियों ने भी पांच हजार रुपये की मदद की है।


पिता चंद्रभान के जेल जाने के बाद प्रिया को चाचा नरसिंह की देखरेख में केजीएमसी लखनऊ में भर्ती कराया गया था। सिर में आई चोट की गंभीरता जानने के लिए चिकित्सकों ने सीटी स्कैन की सलाह दी। आर्थिक तंगी के कारण परिजन जांच नहीं करा पाए। बुधवार शाम नरसिंह बच्ची को लेकर घर लौट आए। लोगों ने पूछा तो बताया कि पैसा न होने के कारण इलाज कराना उनके लिए संभव नहीं हो पाया। इसके बाद गांव के लोग मदद को जुट गए।


ग्राम प्रधान बादशाह खान के साथ ही एसओ मोहाना जयप्रकाश दुबे ने व अन्य पुलिसकर्मी मदद को आए आए। शुक्रवार को नरसिंह मासूम को लेकर फिर लखनऊ जाएंगे। वहां उसका सीटी स्कैन होगा। एसओ जयप्रकाश दुबे ने बताया कि ग्राम प्रधान और पुलिस चौकी प्रभारी लालपुर को समय-समय पर जाकर बच्ची का हालचाल जानने को कहा गया है।

पत्‍नी की मौत के बाद एक शख्‍स दूसरी शादी की चाहत में कसाई बन गया। दो साल की बेटी को शादी में बाधक मान उसने उससे छुटकारा पाने के लिए तरह-तरह के जतन किए। एक बार जिंदा दफनाने की कोशिश भी की। अंत में बच्‍ची को सड़क पर पटक कर मार डालना चाहा। बाप की इस करतूत से दो साल की मासूम बुरी तरह चोटिल हो गई है। उसके सिर में गंभीर चोटें आई हैं।


पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। बच्‍ची का लखनऊ मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा है। यह हैरान करने वाली घटना, सिद्धार्थनगर के मोहाना थानाक्षेत्र के बर्डपुर नंबर तीन के टोला भैंसाही की है। मिली जानकारी के अनुसार सात साल पहले इस गांव के चंद्रभान की शादी हुई थी। दो साल पहले उनकी बेटी हुई। पिछले साल चंद्रभान की पत्‍नी का निधन हो गया। पत्‍नी के निधन के बाद से ही चंद्रभान काफी परेशान रहने लगा। उसने दूसरी शादी का प्रयास शुरू कर दिया। बताते हैं कि कई जगह बात भी चली लेकिन जहां कहीं बात आगे बढ़ती लड़की वालों की ओर से पहली पत्‍नी से बच्‍ची का हवाला देकर मना कर दिया जाता। कई जगह से मना किए जाने के बाद चंद्रभान की आंखों को उसकी अपनी ही बच्‍ची खटकने लगी। उसे लगने लगा कि वही उसकी खुशियों में बाधक बन रही है। इसके बाद वह मन ही मन में उसे रास्‍ते से हटाने की योजनाएं बनाने लगा। 

आरोप है कि सोमवार की शाम चंद्रभान अपनी बच्‍ची को सड्डा पुल के पास ले गया। वहां उसने बच्‍ची को बेरहमी से पीटा और फिर सड़क पर पटक दिया। चंद्रभान को ऐसा करता देख उधर से गुजर रहे कुछ राहगीर रुक गए। उन्‍होंने पुलिस को घटना की जानकारी दी। लोगों ने घायल बच्‍ची को तत्‍काल जिला अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्‍टरों ने बच्‍ची की स्थिति को देखते हुए उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। कुछ गांववाले लखनऊ मेडिकल कालेज में बच्‍ची का इलाज करा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक तफ्तीश के दौरान पता चला कि आठ दिन पहले थी चंद्रभान ने अपनी बेटी को जिंदा दफनाने की कोशिश की थी। उस दिन चंद्रभान ने बच्‍ची को जमकर पीटा और गड्ढा खोदकर उसे दफ्नाने जा रहा जा रहा था। तब गांववालों ने किसी तरह समझा बुझाकर बच्‍ची को बचा लिया था। 

नेपाल भागने की फिराक में था
इस घटना के बाद चंद्रभान नेपाल भागने की फिराक में था। लेकिन पुलिस ने उसे नागचोरी गांव के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक तमंचा और कुछ नशीली दवाएं भी बरामद हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.