September 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

हमेशा खुश रहना चाहिए;


आइये जीवन की सच्चाई को एक छोटी सी कहानी से समझते है-
एक बार एक कालेज में एक गुरूजी एक कक्षा में आते है उस कक्षा के सभी छात्रो से कहते है आज मै आप लोगो की एक विशेष परीक्षा लेने वाला हूँ , यह परीक्षा आपके नियमित कोर्स से नही है . इस परीक्षा से मै आपके जीवन के प्रति आपके नजरिये को आकलन करने के लिए लेना चाहता हूँ
गुरूजी ने छात्रो से पूछा क्या आप सब तैयार है ,सभी छात्रो ने एक स्वर में जवाब दिया – Yes Sir
गुरूजी ने सबको एक विशेष प्रश्नपत्र जो वे लेकर आये थे सभी छात्रो को वितरित कर दिए, इसे हल करने के लिए सबको मात्र २० मिनट का समय दिया
लेकिन सभी छात्र प्रश्नपत्र को उलट पलट कर देख रहे थे ये क्या ये तो एक सादा पेपर है इसमें कोई प्रश्न तो है ही नही मात्र एक छोटा सा Black Spot पड़ा हुआ है यह कैसा प्रश्नपत्र है एक सादे पेपर का क्या जवाब दें किसी के कुछ समझ में नही आ रहा था
गुरूजी ने छात्रो की दुविधा को भापकर कहा आपको हैरान होने कि जरुरत नही आपको सिर्फ जो आपके सामने है उसको समझकर दिए गये समय में उसकी व्याख्या करनी है .
जैसे तैसे सभी छात्रो ने उत्तर लिखना शुरू किया जिसकी जो समझ में आया लिखा लगभग सभी ने उस Black Spot के बारे में ही व्याख्या की और समय से कापिया जमा कर दी
सभी कापियों के उत्तर पढने के बाद गुरूजी ने कहा इस प्रश्नपत्र का 99% पेपर सादा है लेकिन किसी ने इसके बारे में कुछ भी नही लिखा है अपना पूरा समय और प्रयास केवल उस चीज की व्याख्या करने में में लगा दिया है जो इस प्रश्नपत्र का मात्र 1% है.
यही है हमारे जीवन का मौजूदा नजरिया. हम अपने उस 99% जीवन को जो समस्याओ से रहित है को नजर अंदाज कर देते है हम उन समस्यायों पर अपना पूरा ध्यान केद्रित रखते है जो पूरे जीवन के 1% से भी कम होती है हमें अपनी जिन्दगी को सच में जीने के लिए जीवन के उस 99% को ईमानदारी से देखना होगा खुशिया भले ही छोटी से छोटी क्यों न हो उनको नजर अंदाज कभी भी नही करना है
खुशिया पाने के लिए खुशियों को ही देखना है उन्ही की बात करनी उसे ही ध्यान देना है ख़ुशी के मौको को खोजिये उनको फैलाकर बड़ा कीजिये दुखो को समेटकर छोटा करिए जीवन को जी लगाकर के जियें आपको जो चाहिए उसके बारे में ही सोचना है जो नही चाहिए उसके बारे में बिलकुल ध्यान देने की जरुरत ही नही है

उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। आपके सुझाव व् विचार आमत्रित है। कमेंट के जरिये अपने विचारो से अवगत कराये। सहयोग व् सद्भावना के लिए इस लेख को अपने मित्रो के साथ शेयर करना न भूले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.