May 20, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

हर रोज खेतों में लग रही आग, यह सावधानियां रखकर बचा सकते हैं फसल

हर रोज खेतों में लग रही आग, यह सावधानियां रखकर बचा सकते हैं फसल

अगर किसानों द्वारा आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम जुटा लिए जाएं तो काफी हद तक आगजनी की घटनाओं पर समय रहते काबू पाया जा सकता है।

 

Suchkesath|कभी एक छोटी सी चिंगारी ने ग्रामीणों के आशियाने राख कर दिए तो कभी शॉर्ट सर्किट ने लोगों की कमाई का जरिया ही खत्म कर दिया। दाने-दाने को मोहताज लोग इस आस में खुद को दिलासा दे रहे हैं कि शायद ऊंचे ओहदे पर बैठे लोगों का दिल उनकी दशा देखकर पसीज जाए। हालांकि ये कोई पहली बार नहीं है। हर साल ही गर्मी का मौसम शुरू होते ही अग्निकांड का सिलसिला शुरू हो जाता है। बस नही शुरू होती है तो सरकार की कारगर पहल। जमीनी तौर पर न तो ग्रामीण इलाकों में अग्निशमन दस्तों की तैनाती है। न ही कोई पुख्ता इंतेजाम हैं। न ही पीड़ितों को सहायता राशि मिल ती है। अगर कुछ सहायता मिल भी जाए तो वह इतनी कम होती है कि मरहम नहीं नमक की तरह काम करती है।

खेतों में गेहूं की फसल पककर तैयार है। प्रदेश में इन दिनों गेहूं की फसल की कटाई का कार्य चल रहा है। कई जगह फसल मंडियों में भी पहुंच चुकी है। इसके साथ ही कई जगह फसल में आग लगने की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। हर रोज खेतों में आगजनी की घटनाएं लगातार हो रही हैं।

फसल जलने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। कहीं पर आग बिजली की तारों में स्पार्किंग के कारण लग रही है तो कई जगह किसानों द्वारा खेतों में बीड़ी आदि पीते समय ऐसी घटनाएं हो रही हैं। प्रशासन द्वारा भी आगजनी के घटनाएं रोकने को लेकर न कोई कार्ययोजना तैयार की जाती है और न ही कोई प्रयास किए जाते हैं। अगर आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम जुटा लिए जाएं तो काफी हद तक आगजनी की घटनाओं पर समय रहते काबू पाया जा सकता है। कई जिलों में दमकल के पास पर्याप्त मात्रा में गाड़ियांं नहीं हैं। जिस कारण समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता। अगर किसान अपने स्तर पर ही कुछ सावधानियां बरतें तो अपनी फसल को आग से बचाया जा सकता है।

 यह सावधानियां बरतें किसान

# किसान जब भी खेत में खलिहान या कटी हुई फसल का ढेर बनाएं तो वहां पर बिजली के तार नहीं होने चाहिएं।

# किसान खेत में बीड़ी-सिगरेट न पिएं और ना ही आग जलाएं। जलते हुए बीड़ी-सिगरेट के टुकड़े को पैर से कुचलकर पूरी तरह बुझाकर की फेकें।

# बिजली के तार के नीचे ट्रांसफार्मर के पास खलिहान न लगाएं और न ही फूस के छप्पर बनाएं।

# खेत का खरपतवार तब तक न जलाएं जब तक आसपास दूसरे की सूखी फसल खड़ी हो। अगर बगीचा पास में है तो सूखे पत्ते में आग न लगाएं।

# खेत में फूस उस समय जलाएं जब आसपास सूखी फसल न खड़ी हो और हवा न चल रही हो।

#  ट्रैक्टर की चिंगारी से खलिहान को बचाएं।

# शादी समारोह या किसी त्यौहार में खलिहान और फूस के आसपास कोई आतिशबाजी न चलाएं।

# सड़क पर चलते समय जलती बीड़ी और सिगरेट फसल की तरफ ना फैंके।

कम्बाइन मशीन से फसल कटवाते समय बिजली की लाइन बंद कर दें।

अपने खेत में फसल अवशेष ना जलाएं, इससे दूसरों की फसल जल सकती है।

# अगर खेत में चाय आदि बनाएं तो आग बुझाने के लिए पानी भी अपने साथ रखें।

 

More read: 

●अचानक आग लग जाए तो क्या करें, किन नंबरों पर करें कॉल? मोबाइल में नेटवर्क न हो तो कैसे मिलेगी मदद… पूरी जानकारी यहां

खैनी नहीं देने पर नाराज हुए बदमाश, खेत में रखवाली कर रहे किसान के पेट में दाग दी गोली

गन्ना किसानों को बकाए की मार

Basti News: किसानों की आय दोगुनी करने की बाते करके भाजपा कर रही छलावा; पूर्व मंत्री रामप्रसाद चौधरी

ताकि इतिहास याद रखे

1 thought on “हर रोज खेतों में लग रही आग, यह सावधानियां रखकर बचा सकते हैं फसल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.