June 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

18 गेंदों में चाहिए थे 33 रन..इसके बाद 3 खिलाड़ियों ने मैच ऐसा पलटा, अब कभी नहीं भूलेगी हैदराबाद की टीम !

मुख्य बातें
  • आईपीएल 2022ः लखनऊ सुपर जायंट्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को शिकस्त दी
  • जीत के करीब थी सनराइजर्स हैदराबाद, लेकिन लखनऊ के तीन खिलाड़ियों ने पलट दिया मैच
  • एक बार फिर नहीं खुल पाया सनराइजर्स हैदराबाद का खाता

न्यूज डेस्क 5 अप्रैल |आईपीएल 2022 में सोमवार को डीवाई पाटिल स्टेडियम पर लखनऊ सुपर जायंट्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टक्कर हुई। इस मुकाबले में लखनऊ सुपर जायंट्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 169 रन बनाए थे। उनकी तरफ से कप्तान केएल राहुल और दीपक हुड्डा की अर्धशतकीय पारियों ने टीम को शुरुआती झटकों से उबरने का काम किया। इसके बाद जब हैदराबाद की टीम जवाब देने उतरी तो मैच देखते-देखते अंत में रोमांचक हो गया।

हैदराबाद के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने थोड़ा-थोड़ा योगदान देते हुए अपनी टीम को ट्रैक पर बनाए रखा। उनकी टीम को टूर्नामेंट में अपना पहला मैच जीतने के लिए 170 रनों की जरूरत थी। हैदराबाद ने 17वां ओवर खत्म होने तक 4 विकेट खोकर 137 रन बना लिए थे और वे मजबूती से आगे बढ़ते नजर आ रहे थे। अब अंतिम तीन ओवरों में हैदराबाद को सिर्फ 33 रन चाहिए थे और उनके पास अभी भी 6 विकेट बाकी थे। लेकिन इसके बाद लखनऊ के तीन गेंदबाजों ने वो कमाल किया जिसने सबको हैरान कर दिया।

 

18वां ओवर, गेंदबाज- आवेश खान

आवेश खान के इस ओवर की पहली ही गेंद पर निकोलस पूरन ने छक्का जड़ दिया। अचानक फासला कम हो गया और अब हैदराबाद को जीत के लिए सिर्फ 27 रन चाहिए थे। लेकिन इस ओवर में आवेश खान ने ऐसी वापसी की जिसने हैदराबाद को दंग कर दिया। ओवर की दूसरी गेंद पर कोई रन नहीं आया, जबकि तीसरी गेंद पूरन (34) को आउट किया, चौथी गेंद पर अब्दुल समद को आउट किया और अंतिम दो गेंदों पर सिर्फ एक रन दिया, वो भी वाइड का। आवेश खान के इस शानदार ओवर ने माहौल पलट दिया। अब हैदराबाद के पास 6 विकेट बाकी हैं और उनको दो ओवर में 26 रन चाहिए।

अस्पताल में भर्ती थीं मां, आवेश टीम के लिए खेल रहे थे, 4 विकेट लिए और मां के नाम कर दिए।

हैदराबाद के ऊपर लखनऊ को जीत दिलाने में आवेश खान का अहम योगदान रहा। आवेश ने 4 ओवर में 24 रन देकर 4 विकेट लिए थे। आवेश ने मैच के बाद ये विकेट अपनी मां को समर्पित किए। इसकी वजह भी थी। जब आवेश SRH के खिलाफ खेल रहे थे, तब उनकी मां इंदौर के अस्पताल में एडमिट थीं। आवेश के पिता आशिक खान ने दैनिक भास्कर को बताया कि आवेश की मां शुक्रवार रात से यूरीन इन्फेक्शन की वजह से इंदौर के CHL अस्पताल में एडमिट हैं। उन्हें फीवर भी था। अब उनकी हालत ठीक है।

मैच से पहले और बाद में आवेश ने किया था फोन
पिता ने बताया कि आवेश का फोन दिन-भर में कई बार हाल चाल जानने के लिए आता रहा। मैच से पहले और बाद में भी उनके फोन आए थे। हमने केवल यही कहा था, कि आप चिंता न करें और अपने खेल पर ही फोकस रखें।

पिता नहीं देख पाए आखिरी ओवर
उन्होंने कहा कि आवेश का आखिरी ओवर वह नहीं देख पाए। वे रोजा होने की वजह से उस समय नमाज अदा करने के लिए गए थे। हालांकि जब बाद में उन्होंने वेबसाइट पर देखा, तो पता चला कि लखनऊ जायंट्स को 4 विकेट से जीत मिली है और आवेश को गेमचेंजर ऑवर्ड मिला है। मैं चाहता हूं कि वह शानदार खेले और टीम और देश का नाम रोशन करे।

 

आखिरी ओवर, गेंदबाज- जेसन होल्डर

आखिरी छह गेंदों में टीम को 16 गेंदों की जरूरत थी। इस दौरान उस गेंदबाज को जिम्मेदारी सौंपी गई जो इस सीजन में अपना पहला मैच खेलने उतरा था, वो भी अपनी पुरानी टीम के खिलाफ, ये गेंदबाज थे वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर जेसन होल्डर। इस ओवर की अपनी पहली ही गेंद पर होल्डर ने वॉशिंगटन सुंदर के रूप में टीम की झोली पर एक विकेट डाल दिया। यह होल्डर की पहली सफलती थी। होल्डर ने दो और विकेट चटकाए, जिसमें रोमारियो शेफर्ड और भुवनेश्वर कुमार का विकेट शामिल था। होल्डर ने इस ओवर में कुल तीन विकेट चटकाए।

 

लखनऊ टीम ने शानदार गेंदबाजी का प्रदर्शन दिखाते हुए 20 ओवर में नौ विकेट चटकाकर टीम को 157 रन पर समेट दिया और 12 रन से मैच अपने नाम कर लिया। चार विकेट लेने वाले आवेश खान को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.