General Knowledge

गजब फैक्ट्स: क्या आप जानते हैं आखिर क्यों भारत में 3 और विदेशों में 4 Blade के होते हैं Fan

गर्मियों का मौसम आने वाला है और सर्दियां जाने वाली हैं, लेकिन अभी भी कई लोगों को पंखे के बिना निंद नहीं आती। लेकिन क्या कभी आपने इस बात पर ध्यान दिया है कि हमारे देश में 3 ब्लेड वाले पंखे का यूज किया जाता है, जबकि विदेशों में उसी पंखे में 4 ब्लेड लगे होते हैं, आखिर क्यों..?। तो चलिए जानते हैं 3 और 4 ब्लेड लगे होने का कारण। आखिर क्यों हमारे देश में होते हैं 3 ब्लेड के पंखे…

617whC5OUML._SX425_
इसलिए भारत में यूज होता है 3 ब्लेड वाला पंखा

होता है दरअसल भारत में अधिकतर हर घर में 3 ब्लेड के पंखे का यूज किया जाता है, लेकिन विदेशों में पंखे में 4 ब्लेड लगे होते हैं। दोनों का काम हवा देना ही है। लेकिन पंखे की ब्लेड मौसम की विविधता के कारण कम या ज्यादा होती है। भारत में जब गर्मी का मौसम आता है तो हर घर में पंखे चलते हैं। 3 ब्लेड वाला पंखा हल्का होता है और तेज़ चलता है। इसीलिए भारत में 3 ब्लेड वाला पंखा अधिक इस्तेमाल किया जाता है।

images(130)

विदेश में 4 क्यों

वहीं अमेरिका व अन्य देशों में पंखे का इस्तेमाल एसी(AC) का पूरी तरह फायदा लेने के लिये किया जाता है, ताकि पंखे के जरिये एसी की हवा पूरे कमरे में फ़ैल सके। इन पंखों का उद्देश्य हवा को पूरे कमरे में फैलाना ही होता है। 4 पंखों का होने की वजह से यह धीमे-धीमे चलता है और अपने काम को अच्छे से कर पाता है।

ये भी पढ़ें 👇

वकील काला, डाक्टर सफेद कोट क्यूं पहनते हैं आइए जानते हैं…

गिरगिट भी रंग बदलने मे घबराता है, जब उसका मुकाबला इंसान से हो जाता है;

डिमांड ड्राफ्ट से संबंधित जानकारी (Define Demand Draft)

इंटरनेटट आज की आवश्यकता,(Importance, Benefits and Use of internet in daily life )

मोबाइल फोन और मोबाइल टावर के लाभ और नुकसान

1 reply »

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.