ताज़ा ख़बरें

बस्ती:सडक व नाली बाढ के साथ शिक्षा विभाग की मनमानी को लेकर जिलाधिकारी से की शिकायत: चन्द्र मणि पांडेय ” सुदामा”

 सडक व नाली बाढ के साथ शिक्षा विभाग की मनमानी को लेकर जिलाधिकारी से की शिकायत चन्द्रमणि पांडेय ”सुदामा”

 

बस्ती:शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मनमानी के चलते जनपद में 2014से लम्बित मान्यता की फाइलों, लिखित आश्वासन के बाद भी बाढ व कटान प्रभावित क्षेत्रों में आज तक ठोकर निर्माण न कराये जाने व जनहित के नाम पर सिर्फ धन के बंदरबांट के चलते जनपद की बदहाल सडकों नालियों के सन्दर्भ में हर्रैया तहसील दिवस में जिलाधिकारी बस्ती को समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय के नेतृत्व में आज दिन में 1 बजे वित्तविहीन प्रबन्धक शिक्षक मंच के पदाधिकारी व ग्रामीणों ने मिलकर सौंपते हुए जनहित में त्वरित कार्ववाही की मांग की।

 

 

जिलाधिकारी को सौंपे तीन सूत्रीय ग्यापन में श्री पाण्डेय ने खण्ड शिक्षाधिकारी हर्रैया के कार्यव्यवहार पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा कि न तो उनके द्वारा बैठने को कहा जाता है न ही वो कोई ग्यापन लेते हैं जिले के शिक्षाविभाग के अधिकारी सिर्फ सुविधाशुल्क के नाम पर धनार्जन में लगे हैं फलतः जनपद में 2014से मान्यता की हजारों फाइलें लम्बित हैं उन्होंने अपने स्वंम् के प्रत्यवेदन का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व माध्यमिक स्कूल एस.डी.चिल्ड्रेन एकेडमी का मान्यता प्रत्यावेदन लम्बित है जिसके के सन्दर्भ में पहले तो बढा प्रत्यवेदन शुल्क जमा करने को कहा गया।

 

 

जिसकी शिकायत आपके कार्यालय सहित विभागीय मंत्री से करने के बाद वर्तमान में खण्ड शिक्षाधिकारी हर्रैया द्वारा जिनका कार्य व्यवहार भी अव्यवहारिक है का कहना है कि एक बगल बगल प्राइमरी व जूनियर की मान्यता सम्भव नहीं ऐसे में सवाल यह है कि जब परिषदीय विद्यालय एक कैम्पस में चलते हैं तो निजी क्यों नहीं तथा क्या ये नीति शुविधाशुल्क न देने वालों पर ही लागू होगी जिन जिन नियमों का अनुपालन विभाग हमसे चाहता है यदि हम उसे करने में असमर्थ हैं तो निश्चित ही हमारा प्रत्यावेदन कैंसिल कर दिया जाय पर उन्हीं नीतियों को अन्य विद्यालयों पर भी लागू करते हुए बन्द कराया जाय।

 

दरसल अधिकारी नही चाहते कि विद्यालय संचालक मान्यता लें ताकि शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009के तहत ये नोटिस वितरित कर सुविधाशुल्क वसूल सकें जिनसे पैसा नहीं मिलता उन्हे नोटिस दिया जाता है शेष को कोचिंग सेंटर के नाम पर चलवाया जाता है क्या विद्यालय समय में कोचिंग संचालन सम्भव है यदि है तो उन बच्चों को जहां नामांकित कराया जाता है वहां उपस्थित कैसे अंकित होती है।

 
2-विकासखंड विक्रमजोत में कल्याणपुर सहित दर्जनों गांव जो कि बांध व ठोकर विहीन हैं वहां बाढ व कटान से बचाव हेतु चार वर्षों से बाढ समाप्त होते ही ठोकर व बांध निर्माण का लिखित आश्वासन मिलता है किन्तु आज तक बांध व ठोकर निर्माण तो दूर 1972में बने ठोकर को भी पुनर्जीवित नहीं किया जा रहा है।

 
3-जनपद में संचारी रोग नियंत्रण,साफसफाई व गड्ढा मुक्त सडक के नाम पर धन का आहरण तो होता है पर जनहित में उसका सदुपयोग नहीं होता फलतः हाईवे के किनारे स्थित विक्रमजोत ब्लाक का चिरियहवा गांव का रास्ता दुबौलिया ब्लाक का समग्रग्राम चुईलकाजी का रास्ता परसुरामपुर ब्लाक का नन्दनगर चौरी मार्ग बदहाल व जलमग्न है हर्रैया ब्लाक का महूघाट विशेषरगंज मार्ग,रेवरादास काशीपुर मार्ग,महूघाट खम्हरिया मार्ग,डुहवा संग्रामपुर मार्ग सहित दो दर्जन से अधिक सडकें बदहाल हैं।

 

इतना ही नहीं परसुरामपुर में वर्ष15-16में 187.44लाख से निर्मित मजगवां कैकी मार्ग पर सिर्फ मिट्टी दिखती है गिट्टी नहीं जनपद में न तो मच्छररोधी दवा का छिडकाव होता है न ही साफ सफाई।

 
उक्त बिन्दुओं पर त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित कर सडकों को दुरूस्त कराने कटान प्रभावित क्षेत्रों में ठोकर निर्माण कराने के साथ साथ लम्बित मान्यता की फाईलों का निस्तारण करते हुए मान्यता निर्गत करने का निर्देश देते हुए दोषी अधिकारियों को दण्डित करने व खण्ड शिक्षाधिकारी हर्रैया को स्थानांतरित करने की मांग करते हुए कहा कि यदि कार्यवाही नहीं हुई तो शुक्रवार 8नवम्बर से हम आपके कार्यालय पर समस्या समाधान न होने तक धरने पर बैठने को बाध्य होंगे
इस दौरान सैकड़ों समर्थक मौजूद रहे।

 

वीडियो 👇

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.