क्राइम्स

Cyclone Bulbul बंगाल से टकराया, अब तक दो की मौत; 18 लाख से अधिक लोग सुरक्षित निकाले गए

बांग्लादेश में रविवार तड़के शक्तिशाली चक्रवात ‘बुलबुल के आने के कारण लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं दूसरी ओर, अब यह तूफान धीरे-धीरे पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहा है। बांग्लादेश के कनिष्ठ आपदा प्रबंधन मंत्री एनामुर रहमान ने बताया कि 18 लाख से अधिक लोगों को शनिवार शाम तक सुरक्षित निकाला गया।

 

शनिवार सुबह तक 5,000 से अधिक आश्रयगृह तैयार किए गए थे। चक्रवात के कारण 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली जबकि तट पार करने के बाद इसके कमजोर पड़ने की संभावना है।

 
चक्रवात गंगासागर के किनारे टकराया और यह ‘खुलना क्षेत्र से होकर गुजरेगा जिसमें सुंदरवन भी आता है। टीवी चैनल ‘इंडिपेंडेंट की खबर के अनुसार किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए बांग्लादेश की नौसेना और तटरक्षक बल को तैयार रखा गया है।

 

 
Live Updates Cyclone Bulbul

* चक्रवात ‘बुलबुल’ के रविवार तड़के बंगाल तट से टकराया, जिसके बाद से जारी भारी बारिश और तेज हवाओं में दो लोगों के मारे जाने की खबर है। सभी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है, जबकि 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही है।

* बांग्लादेश के कनिष्ठ आपदा प्रबंधन मंत्री एनामुर रहमान ने बताया कि 18 लाख से अधिक लोगों को शनिवार शाम तक सुरक्षित निकाला गया।

* चक्रवात के कारण 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली जबकि तट पार करने के बाद इसके कमजोर पड़ने की संभावना है।

* शक्तिशाली तूफान ‘बुलबुल’ के कारण कोलकाता एयरपोर्ट के संचालन पर रोक लगाई गई है। यह रोक शनिवार शाम छह बजे से रविवार सुबह छह बजे तक जारी रहेगी। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने यह बात कही है।

 

तटरक्षक बल ने कमर कसी
भारतीय तटरक्षक बल के कर्मियों ने गंभीर चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ के मद्देनजर किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए कमर कस ली है। तटरक्षक बल के महानिरीक्षक राजन बारगोत्रा ने शनिवार को बताया कि पारादीप, धर्मा और सागर द्वीप के तटों पर जहाजों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। तटरक्षक बल के उत्तरपूर्व क्षेत्र के कमांडर बारगोत्रा ने कहा कि इस चक्रवाती तूफान के मद्देनजर ओडिशा एवं पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को समुद्र में जाने की सलाह नहीं दी गई है।

 

तीन आपदा प्रबंधन टीमें तैनात
तटरक्षक बल के उपमहानिरीक्षक (पश्चिम बंगाल) एस. आर. दास ने कहा कि तीन आपदा प्रबंधन टीमें समयोचित कार्रवाई के लिए हल्दिया में और दो टीमें 24 परगना जिले के फ्रेजरगंज में तैनात की गई हैं। दास ने कहा, हम कोशिश में जुटे हैं कि कोई भी हताहत न हो।

 

ये भी पढ़ें:अयोध्या फैसला: गुरु नानक देव की अयोध्या यात्रा सुबूत है कि विवादित स्थल ही राम जन्मस्थान, SC के फैसले में जिक्र

अयोध्या फैसला: क्या था ASI रिपोर्ट में, जिसका सुप्रीम कोर्ट ने बार-बार जिक्र किया .. जानिए

 

प्रधानमंत्री मोदी के ट्वीट:

 

 

ओडिशा में भारी बारिश
‘बुलबुल’ के कारण मध्य ओडिशा के कई हिस्सों में शनिवार को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई, पेड़ उखड़ गए और सड़क संपर्क टूट गया। विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) पी. के. जेना ने बताया कि अभी तक कहीं से भी किसी के हताहत होने की खबर नहीं है हालांकि जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा और भद्रक जिलों में कई स्थानों पर बड़ी संख्या में पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए।

 

 

करीब से रखी जा रही नजर
मुख्य सचिव असित त्रिपाठी ने बताया कि राज्य सरकार स्थिति पर करीब से नजर रख रही है और इससे निपटने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल (ओडीआरएएफ) के कमिर्यों ने प्रभावित इलाकों में यातायात के सुचारु संचालन के लिए उखड़े पेड़ों को सड़कों से हटाने का काम शुरू कर दिया है।

 

संवेदनशील इलाकों से 3,000 लोगों को निकाला गया
अधिकारियों ने बताया कि ओडिशा के कुछ तटीय क्षेत्रों में संवेदनशील और निचले इलाकों से करीब 3,000 लोगों को निकाला गया है। केंद्रपाड़ा जिला प्रशासन ने 1,070 लोगों को सुरक्षित शिविरों में पहुंचाया।

 

ये भी पढ़ें:

अयोध्या फैसला: गुरु नानक देव की अयोध्या यात्रा सुबूत है कि विवादित स्थल ही राम जन्मस्थान, SC के फैसले में जिक्र

अयोध्या फैसला: क्या था ASI रिपोर्ट में, जिसका सुप्रीम कोर्ट ने बार-बार जिक्र किया .. जानिए

5 replies »

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.