अच्छी सोच

JEE Main 2020 Result जारी, शुभ बने बिहार टॉपर, 100 पर्सेंटाइल में नौ छात्र शामिल

JEE Main Result 2020: इस परीक्षा में कुल 8.69 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे, जिसमें 6.04 लाख पुरुष और 2.64 लाख महिलाएं और तीन ट्रांसजेंडर शामिल हैं. यह परीक्षा 7-9 जनवरी के बीच छह पालियों में आयोजित की गई थी.

 

नई दिल्ली|नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने शुक्रवार की रात संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE Main) मेन-2020 का रिजल्ट रिकॉर्ड समय में जारी कर दिया। इस बार 100 पर्सेंटाइल में नौ छात्र शामिल हैं। 100 पर्सेंटाइल में इस बार भी बिहार के एक भी छात्र नहीं हैं।

 

 

शुभ कुमार 99.9972380 पर्सेंटाइल प्राप्त कर स्टेट टॉपर बने हैं। 100 पर्सेंटाइल (परफेक्ट 100)में दिल्ली के निशांत अग्रवाल सहित गुजरात और हरियाणा से एक-एक तथा आंध्र प्रदेश, राजस्थान व तेलंगाना के दो-दो छात्र शामिल हैं।

 

 

अभयानंद सुपर-30 के छह छात्रों ने 99 पर्सेंटाइल से अधिक स्कोर किया है। एनटीए के अनुसार सात से नौ जनवरी तक दो शिफ्ट में 233 शहरों में आयोजित परीक्षा में शामिल होने के लिए नौ लाख 21 हजार 261 अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया था। परीक्षा में आठ लाख 69 हजार 10 शामिल हुए।

 

 

परीक्षार्थी एजेंसी की आधिकारिक वेबसाइट https://jeemain.nta.nic.in पर जाकर अपना रिजल्ट देख सकते हैं। यहां सफल उम्मीदवारों के रैंक, स्कोर आदि सूचनाएं उपलब्ध हैं।।

 

 

जेईई मेन परीक्षा का आयोजन एनटीए ने देश और दुनिया के 570 परीक्षा केंद्रों पर आयोजन हुआ था। इस परीक्षा में रजिस्ट्रेशन के मुकाबले 869010 कैंडीडेट्स ने परीक्षा में भाग लिया था।पर अपलोड कर दी गई है। जेईई मेन में क्वालीफाई करने वाले अभ्यर्थियों को आइआइटी की प्रवेश परीक्षा जेईई एडवांस में शामिल होने का अवसर मिलेगा। इसकी प्रक्रिया मई में प्रारंभ होगी।

 

 

एनटीए के अनुसार अप्रैल की परीक्षा के रिजल्ट के साथ ही जेईई मेन की रैंक जारी की जाएगी। दोनों परीक्षा में सबसे बेहतर परर्सेंटाइल के आधार पर रैंक जारी की होगी। यदि छात्र एक ही परीक्षा में शामिल हुए हैं तो उनकी रैंक उसी परीक्षा के आधार पर जारी की जाएगी।

 

अप्रैल में आयोजित जेईई मेन के लिए आवेदन की प्रक्रिया सात फरवरी से प्रारंभ होगी। सात मार्च तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। आठ मार्च तक अभ्यर्थी शुल्क जमा कर सकते हैं। परीक्षा पांच, सात, नौ और 11 अप्रैल को होगी।

 

जेईई में 100 परसेंटाइल वाले नौ छात्रों में बरेली उत्तर प्रदेश के पार्थ भी

सच के साथ

जेईई मुख्य के नतीजे शुक्रवार रात को जारी हो गए। पूरे देश में सिर्फ नौ छात्रों ने 100 परसेंटाइल अंक प्राप्त किए हैं। इनमें बरेली के पार्थ द्विवेदी भी शामिल हैं। पार्थ ने हार्टमन कॉलेज से 97.4 फीसदी अंकों के साथ दसवीं की परीक्षा पास की थी। अब वो कोटा राजस्थान से 12वीं कर रहे हैं। साथ ही आईआईटी की तैयारी भी कर रहे हैं। पार्थ के पिता विनीत द्विवेदी आईआरएएस ऑफिसर हैं। वही मां नीति द्विवेदी लखनऊ में एडिशनल एसपी के पद पर तैनात हैं। नीति बरेली में सीओ थर्ड रही हैं।

 

राजस्थान के दो छात्रों ने हासिल किए 100 पर्सेंटाइल
एनटीए ने आधिकारिक वेबसाइट पर जेईई मेन परीक्षा के परिणाम जारी कर दिए हैं. उम्मीदवार परीक्षा परिणाम विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक बयान जारी कर इस बारे में जानकारी दी है. इस परीक्षा में 9 उम्मीदवारों ने पूरे 100 अंक हासिल किए हैं. इन 9 छात्रों में राजस्थान के अखिल जैन और पार्थ द्विवेदी भी शामिल हैं.

 
11 लाख स्टूडेंट्स ने दी थी JEE Main परीक्षा
जनवरी 2020 में हुई जेईई मेन परीक्षा में देशभर के करीब 11 लाख अभ्यर्थी इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर और प्लानिंग के छात्र शामिल हुए थे. परीक्षा का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने किया था. जनवरी परीक्षा के परिणाम की घोषणा के बाद अब अप्रैल 2020 में होने वाले जेईई मेन की प्रक्रियाएं शुरू होगी. अप्रैल में जेईई मेन परीक्षा 3 अप्रैल से लेकर 9 अप्रैल 2020 तक होगी.

 

 

क्या है पर्सेंटाइल

पर्सेंटाइल का मतलब होता है कि आपको कितने छात्रों से ज्यादा नंबर मिले हैं। जैसे अगर आपका पर्सेंटाइल 60 फीसद है तो इसका मतलब हुआ कि आपने 60 फीसद उम्मीदवारों से ज्यादा माक्र्स हासिल किए हैं।

 

इस तरह निकाला जाता है पर्सेंटाइल
पर्सेंटाइल निकालने का तरीका है कि 100 x किसी ग्रुप में सर्वाधिक अंक लाने वाले कैंडिडेट्स से कम अंक लाने वाले छात्रों की कुल संख्या/ग्रुप के कुल कैंडिडेट्स की संख्या. जैसे किसी छात्र को 70 प्रतिशत अंक मिले और 70 प्रतिशत से कम मा‌र्क्स लाने वाले छात्रों की कुल संख्या 15000 है, जबकि ग्रुप में कुल छात्रों की संख्या 18000 थी तो पर्सेंटाइल इस तरह से निकाला जाएगा.
100×15000/18000=83.33 फीसद

 

FB_IMG_1578154369479

 

ये भी पढ़ें:

बस्ती:जेईई मेंस परीक्षा में जिले के मेधावियों ने लहराया परचम

सच के साथ:जब हिंसा ही देशभक्ति बन जाए…

UPSC civil services IAS Interview में पूछा- Leader और Manager में क्या फर्क होता है? जानिए जवाब

गोरखपुर:मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के 28 छात्रों को इरिक्सन और विप्रो में मिली नौकरी

खुद दूध न पीने वाले वर्गीज कुरियन ने रखी थी देश में दुग्ध क्रांति की आधारशिला, आज है जन्मदिन

1 reply »

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.