क्राइम्स

बस्ती: थाना कप्तानगंज पुलिस द्वारा चोरी के सामान के साथ दो अभियुक्त हुए गिरफ्तार

बस्ती| पुलिस अधीक्षक बस्ती श्री हेमराज मीना के निर्देश के तहत जनपद बस्ती में अपराध एवं अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इस क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक बस्ती श्री पंकज के पर्यवेक्षण मे क्षेत्राधिकारी श्री अनिल कुमार सिंह के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक कप्तानगंज श्री सौदागर राय मय टीम द्वारा मु0अ0सं0 162/19 धारा 379 IPC, मु0अ0सं0 203 /19 धारा 457,380 IPC,मु0अ0सं0 217/19 धारा 380 IPC की धारा के तहत चोरी करने वाले गिरोह के दो सदस्यो को मुखबिर की सूचना के आधार पर कप्तानगंज चौराहे पर कसौधन मिष्ठान भण्डार के पास से आज सुबह 6 बजे गिरफ्तार किया गया।

 

FB_IMG_1579758993101

 

बता दें कि पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से में से प्रकाश पाण्डेय पुत्र कृष्ण पाण्डेय, विकास पुत्र जगराम को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही इन आरोपियों के पास से चोरी की मोबाइल, 04 अदद माइक्रोमैक्स, 02 अदद रियल मी, 02 अदद आई टेल, 01 अदद टेकनो, एक ट्राली बैग में पांच अदद कपड़े, 03 जोडी बिछिया व एक जोडी पायल चांदी के, दो अंगूठी सोने की, एक नेम प्लेट बोर्ड, एक प्लास्टिक केतली, नगद 1100 रूपये ये सभी समान बरामद किए गए हैं। यहां पर हम आपको तफसील से बताते चले कि दिनांक 11.09.2019 को कप्तानगंज बाजार में ब्लाक गेट के सामने महेन्द्र कुमार मोदनवाल की मोबाइल दुकान से चोरी की घटना के सम्बन्ध में थाना कप्तानगंज में पंजीकृत मु0अ0सं0 162/19 धारा 379 IPC व दिनांक 20.11.2019 व दिनांक 4.12.2019 को अजय कुमार पाण्डेय पुत्र डा0 हरिहर प्रसाद पाण्डेय ग्राम पिकौरा सानी थाना कप्तानगंज बस्ती के घर में हुई कैश व कीमती समान चोरी की घटना के सम्बन्ध में थाना कप्तानगंज पर मु0अ0सं0 203/19 धारा 457,380 IPC व मु0अ0सं0 217/19 धारा 380 IPC के प्रकरण में दिनांक 22.01.2020 को प्रभारी निरीक्षक कप्तानगंज मय टीम द्वारा तलाश वांछित, वारंटी देखभाल क्षेत्र व रात्रि गश्त में मामूर होकर कस्बा महाराजगंज में अपराध एवं अपराधियों के सम्बन्ध में आपस में विचार विमर्श कर रहे थे।

 

 

इसके साथ ही मुखबीर खास सूचना मिली की कस्बा कप्तानगंज में गणपति मोबाइल शॉप से चोरी करने वाले दो चोर आज दिल्ली जाने की फिराक में कस्बा कप्तानगंज चौराहे पर सवारी का इंतजार कर रहे हैं। इस सूचना पर विश्वास करके प्रभारी निरीक्षक मय हमराही फोर्स के मुखबिर को साथ लेकर कप्तानगंज चौराहे पर पहुंचकर कसौधन मिष्ठान भण्डार के सामने खड़े दोनो अभियुक्तों को हिरासत में लेकर उक्त अभियोगों में चोरी किए गये उक्त सामान को उनके कब्जे से बरामद किया गया है।

 

 

इसके साथ ही पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बरामद किए मोबाइल व पैसों के बारे बताते हुए कहा कि यह सभी मोबाइल हम दोनों ने मिलकर गणपति मोबाइल शाप कप्तानगंज से माह सितम्बर में चोरी किया था, जिसे छुपा कर रखे थे आज इन्हें लेकर दिल्ली जा रहे थे। वहीं पर इन मोबाइलों को बेचने तथा पैसों के बारे में दोनों ने बताया कि यह पैसा हम दोनों ने मिलकर इन्दिरा गाँधी स्कूल के प्रिंसिपल पाण्डेय जी के घर पिकौरासानी से चोरी के शेष बचे हुए पैसे हैं। उनके घर में हम दोनों ने मिलकर दो बार चोरी किया था चोरी का सामान हम लोगों ने नेपाल ले जाकर बेच दिये, जिससे मिले पैसों को बराबर- बराबर बांटकर खर्च कर दिए। खर्चे का पैसा कम हो जाने पर अब इन मोबाइलों को बेचने के लिए दिल्ली लेकर जा रहे थे।

 

 

विकास ने बताया कि प्रिंसिपल साहब के घर से चोरी का कुछ पुराना सामान मेरे घर पर पड़ा है, जिसे विकास ने आगे चलकर अपने घर के अन्दर से एक नीले, लाल रंग का ट्राली बैग लाकर दिया बैग को खोलकर देखा गया तो उसमें एक फुल बाह की शर्ट नीले रंग की सफेद धारीदार, एक ब्लाउज पीले रंग का धारीदार, एक साड़ी मैरून कलर सफेद सफेद छिंटदार एक मेज पोश सफेद रंग कढाईदार, एक लोवर नीले रंग का, एक नेम प्लेट बोर्ड जिस पर डा0 हरिहर प्रसाद पाण्डेय प्रधानाचार्य इन्दिरा गाँधी इण्टर कालेज, कप्तानगंज बस्ती उ0प्र0 लिखा हुआ है, एक प्लास्टिक की केतली सफेद रंग की, 3 जोड़ी बिछिया सफेद धातू, एक जोड़ी पायल सफेद धातु, दो अंगूठी पिली धातु का बरामद हुआ, उपरोक्त बरामद सामानों को वादी नें देखकर बताया कि यह सभी सामान मेरे घर के हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.