इतिहास

UPSC Civil Services Examination 2020: सीटें हुई कम;मई में प्री, सितंबर में मेंस

UPSC Civil Services Examination 2020: प्रशासनिक पदों पर चयन के लिए होने वाली देश की सर्वोच्च सिविल सेवा परीक्षा में पदों की संख्या लगातार कम हो रही है। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने 2020 की सिविल सेवा परीक्षा के लिए 796 पद विज्ञापित किए हैं, पदों की यह संख्या इससे पूर्व यानी 2019 की परीक्षा की तुलना में 100 कम है।
सिविल सेवा की पिछली 14 परीक्षाओं पर नजर डालें तो सर्वाधिक 1364 पद वर्ष 2014 में थे। 2007 से 2014 के बीच पदों में वृद्धि हुई थी। 2016 की परीक्षा के बाद से पदों की संख्या तेजी से गिरकर एक हजार से नीचे आ गई है।

 

3 मार्च तक होंगे आवेदन
आईएएस, आईपीएस, आईआरसी सहित अन्य प्रशासनिक पदों पर चयन के लिए होने वाली सिविल सेवा परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू हो गए हैं। 3 मार्च की शाम 6 बजे तक ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे।

 

 

मई में प्री, सितंबर में मेंस
2020 की सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 31 मई को होगी। इसकी मुख्य परीक्षा 18 सितंबर से आयोजित की जाएगी। 2019 में प्री परीक्षा दो जून को हुई थी जबकि मुख्य परीक्षा 20 जून से शुरू हुई थी।

 

 

हाई हो जाएगी मेरिट
सिविल सेवा कोच नवीन पंकज कहते हैं कि पदों की संख्या में कमी का सीधा असर सिविल सेवा परीक्षा की मेरिट पर पड़ेगा, इससे मेरिट 2019 की तुलना में काफी हाई होने की संभावना है। बकौल नवीन रेलवे ने सिविल सेवा परीक्षा से भरे जाने वाले पदों को वापस ले लिया है, इस वजह से पद कम हुए हैं और यह कमी आगे भी बनी रहेगी क्योंकि रेलवे अब सिविल सेवा से भरे जाने पदों पर खुद चयन करेगा।

 

 

वर्ष वार पदों का विवरण
2007 -734
2008 -881
2009 -989
2010 -1043
2011 -1001
2012 -1091
2013 -1228
2014 -1364
2015 -1164
2016 -1209
2017 -980
2018 -782
2019 -896
2020 -796

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.